इतिहास में पहली बार हाईकोर्ट के सिटिंग जज के खिलाफ दर्ज होगा केस, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को दी अनुमति

इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस एसएन शुक्ला पर भ्रष्‍टाचार के गंभीर आरोप हैं. उन पर यूपी के मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के लिए प्रवेश में अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया है.

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:45 AM IST
इतिहास में पहली बार हाईकोर्ट के सिटिंग जज के खिलाफ दर्ज होगा केस, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को दी अनुमति
इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश.
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:45 AM IST
सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई ने सीबीआई को इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज जस्टिस एसएन शुक्ला के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधी कानून (प्रिवेंशन ऑफ करप्शन ऐक्ट) के तहत मुकदमा दर्ज करने की इजाजत दे दी है. देश के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब सीबीआई हाईकोर्ट के किसी सिटिंग जज के खिलाफ केस दर्ज करेगा.

बता दें कि हाईकोर्ट के जस्टिस एसएन. शुक्‍ला पर भ्रष्‍टाचार के गंभीर आरोप हैं. जस्टिस शुक्‍ला पर यूपी के मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के लिए प्रवेश में अपने पद का दुरुपयोग करते हुए गड़बड़ी करने के आरोप हैं. कहा गया कि निजी मेडिकल कॉलेज को लाभ पहुंचाने के लिए जस्टिस शुक्‍ला ने सत्र 2017-18 में प्रवेश तिथि बढ़ाई थी.

यही वजह है कि जस्टिस एसएन शुक्ला के न्यायिक फैसले लेने पर जनवरी 2018 से रोक लगी हुई है. वहीं, चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कार्यस्थल परिवर्तन प्रस्ताव भी ठुकरा दिया है. खास बात है कि सीजेआई ने पीएम मोदी को जून माह में पत्र लिखकर संसद में अभियोग लाकर जस्टिस शुक्‍ला को पद से हटाने की मांग भी की है.

ये है मामला

उत्तर प्रदेश के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह की शिकायत पर सितंबर 2017 में सीजेआई दीपक मिश्रा ने एक आंतरिक जांच समिति गठित कर दी थी. इस समिति में मद्रास हाई कोर्ट की तत्कालीन चीफ जस्टिस इंदिरा बनर्जी, सिक्किम हाईकोर्ट के तत्कालीन चीफ जस्टिस एस के अग्निहोत्री और मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पीके जयसवाल शामिल थे. समिति को जांच कर पता करना था कि क्या जस्टिस शुक्ला ने वाकई सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते हुए प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में विद्यार्थियों के ऐडमिशन की समयसीमा बढ़ा दी थी? कोर्ट के आंतरिक जांच में समिति ने जस्टिस शुक्ला को गंभीर न्यायिक कदाचार का दोषी पाया था.

ये भी पढ़ें- उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार को ऐसे दी जाती थी धमकी

उन्नाव गैंगरेप: सीबीआई से पहले SIT करेगी मामले की जांच
First published: July 31, 2019, 9:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...