लाइव टीवी

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के 10 सीनियर छात्र निलंबित, ये रही वजह

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 22, 2019, 10:40 AM IST
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के 10 सीनियर छात्र निलंबित, ये रही वजह
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के 10 सीनियर छात्र निलंबित कर दिए गए हैं. (फाइल फोटो)

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी (Allahabad University) प्रशासन ने छात्रों को निलंबित करने के साथ ही उन्‍हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है.

  • Share this:
प्रयागराज. इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में रैगिंग का मामला सामने आया है. इस मामले में 10 छात्रों को निलंबित कर दिया गया है. यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इसके साथ ही निलंबित छात्रों को कारण बताओं नोटिस भी जारी किया है. मिली जानकारी के मुताबिक, नोटिस में कहा गया है कि यह अपराध गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है, इसलिए छात्रों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है. यूनिवर्सिटी प्रशासन की इस कार्रवाई के बाद छात्रों में हड़कंप मच गया.

दरअसल, शताब्दी ब्‍वॉयज हॉस्टल में सीनियर छात्रों ने जूनियर की रैंगिंग की थी. जांच के दौरान आरोप सही साबित होने पर सीनियर छात्रों को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही उन्हें 25 अक्टूबर को चीफ प्रॉक्टर ऑफिस में तलब किया गया है. वहीं, सीनियर छात्रों पर आरोप है कि वे अपने जूनियरों को पूरी रात हॉस्टल के बाहर बैठाकर रखते हैं और उनके साथ अभद्रता और गाली-गलौजी करते हैं. जूनियर छात्रों ने इसकी शिकायत केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) में भी की थी. छात्रों के अभिभावकों ने चीफ प्रॉक्टर से मिलकर शिकायत की थी, जिसके बाद छात्रों पर लगे आरोप सही साबित हुए थे.

इससे पहले विश्वविद्यालय का नाम चर्चा में तब आया था जब बीते साल इलाहाबाद के मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का सनसनीखेज मामला सामने आया था. सीनियर छात्रों ने एमबीबीएस प्रथम वर्ष में दाखिला लेने वाले छात्रों को पहले दिन सिर मुंडवाकर और सिर झुकाकर लाइन से कॉलेज में प्रवेश करने की इजाजत दी थी.

इनपुट- सर्वेश दूबे

ये भी पढे़ं:

 दीपावली से पहले पीएम मोदी वाराणसी के BJP कार्यकर्ताओं से करेंगे संवाद

कमलेश तिवारी की मां ने सरकार से जताई नाराजगी, पुलिस पर लगाया नजरबंद करने का आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 10:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...