बोर्ड परीक्षा में सख्‍ती का असर, इस साल घटी परीक्षार्थी की संख्या

साल 2018 में हुई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा में 66 लाख 39 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुये थे, जबकि 2019 में होने वाली परीक्षा में शामिल होने के लिये 57 लाख 87 हजार 998 परीक्षार्थियों ने अभी तक पंजीकरण कराया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 9, 2018, 7:45 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 9, 2018, 7:45 PM IST
यूपी बोर्ड की परीक्षा में नकल के खिलाफ की गयी सख्ती का असर अभी से दिखने लगा है. इस बार यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा में पिछले साल के मुकाबले लगभग दस लाख परीक्षार्थी अभी से कम हो गये हैं.

साल 2018 में हुई बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा में 66 लाख 39 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुये थे,  जबकि 2019 में होने वाली परीक्षा में शामिल होने के लिये 57 लाख 87 हजार 998 परीक्षार्थियों ने अभी तक पंजीकरण कराया है. छात्रों के रजिस्ट्रेशन की कम संख्या को देखते हुये बोर्ड की सचिव ने छात्रों के रजिस्ट्रेशन के लिये डेट को भी एक बार आगे बढ़ाया था, लेकिन उसके बावजूद छात्रों की संख्या पिछले साल के बराबर पहुंचना तो दूर उससे दस लाख कम हो गई है.

बोर्ड में परीक्षार्थियों की घटती संख्या के पीछे सचिव नीना श्रीवास्तव का तर्क है कि बोर्ड ने परीक्षा में नकल पर सख्ती की तो लगातार नकलची छात्र बोर्ड की परीक्षा से दूर होते गये हैं. यूपी बोर्ड की इस बार की परीक्षा में करीब दस लाख परीक्षार्थियों की संख्या कम हो गयी है.

रिपोर्ट- मनीष 

यह भी पढ़ें: चिदंबरम एंड कंपनी से किसी भी मुद्दे पर डिबेट के लिए तैयारः अमित शाह 

यह भी पढ़ें: तेलंगाना में चुनाव की तैयारियों में जुटा EC, 8 अक्टूबर तक आ जाएगी फाइनल वोटर लिस्ट
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर