Home /News /uttar-pradesh /

प्रयागराज में भी स्थित है महारानी विक्टोरिया का मेमोरियल,महारानी से शुरू हुई थी शाही बीमारी

प्रयागराज में भी स्थित है महारानी विक्टोरिया का मेमोरियल,महारानी से शुरू हुई थी शाही बीमारी

प्रयागराज

प्रयागराज स्थित विक्टोरिया मेमोरियल

प्रयागराज स्थित विक्टोरिया मेमोरियल 1906 में ब्रिटिश महारानी विक्टोरिया की याद में बनाया गया था.विक्टोरिया मेमोरियल को राष्ट्रीय महत्व के केंद्रीय स्मारक के रूप में संरक्षित किया गया.महारानी विक्टोरिया को सबसे हीमोफीलिया नामक बीमारी हुई थी तब से इसे शाही बीमारी की संज्ञा दी गई.

अधिक पढ़ें ...

    प्रयागराज को ना सिर्फ आध्यात्मिक और पौराणिक कहानियों की धरती का दर्जा प्राप्त है बल्कि इसे स्वतंत्रता आंदोलन का भी प्रमुख केंद्र होने का गौरव हासिल है. यह स्वतंत्रता आंदोलन का प्रमुख केंद्र रहा है, बड़े-बड़े नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों का जमावड़ा यहां हुआ करता था, यहीं रह कर वह आजादी की लड़ाई का खाका तैयार करते थे. इसी के चलते ब्रिटिश हुकूमत की भी नजरें यहीं गड़ी रहती थी, वह ऐसे कई काम करते थे, जिससे उनका वर्चस्व कायम रहे.
    इसी क्रम में यहां पर कई सारी ब्रिटिश हुकूमत की निशानियां आज भी मौजूद हैं. विक्टोरिया मेमोरियल (Victoria memorial)भी इसका प्रमुख उदाहरण है.
    दरअसल चूना इतालवी पत्थर से बना विक्टोरिया मेमोरियल ब्रिटिश हुकूमत की महारानी विक्टोरिया का स्मारक है. इसका लोकार्पण 24 मार्च 1906 में जेम्स दिग्ज लाटूश द्वारा किया गया था. यह चंद्रशेखर आजाद पार्क के विशाल परिसर के अंदर मौजूद एक कैनोपी रूपी इमारत है. इस स्मारक के बीचो-बीच, पहले महारानी विक्टोरिया की एक विशाल प्रतिमा भी स्थापित थी, जिसे बाद मे हटा दिया गया.

    वर्तमान में है एक दर्शनीय स्थल
    1920 को भारत सरकार के गजट मे यूपी 16 एम/1133 के तहत विक्टोरिया मेमोरियल को राष्ट्रीय महत्व के केंद्रीय स्मारक के रूप में संरक्षित किया गया.तब से यह एक दर्शनीय स्थल है, जहां सुबह शाम लोगों की भीड़ दिखाई देती है.यह सुबह 4:00 बजे से रात 9:00 बजे तक आम लोगों के लिए खुला रहता है.भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अंतर्गत आने वाला विक्टोरिया मेमोरियल के चारों ओर का क्षेत्र हरा भरा है, जिसके चलते यहां लोग पढ़ते, खेलते या सेल्फी लेते नजर आते हैं.

    आखिर कौन थी महारानी विक्टोरिया
    महारानी विक्टोरिया ब्रिटिश हुकूमत की साम्राज्ञी थीं ,जिन्होंने भारत मे शासन किया.18 साल की उम्र में रानी बनी महारानी विक्टोरिया ने दुनिया के एक चौथाई हिस्से में राज किया. उनके राज काल में(1837-1901) ब्रिटिश एक विश्व शक्ति बनकर उभरा.अपनी 63 साल के जीवन में इन्होंने विश्व के कई देशों में राज किया.
    महारानी विक्टोरिया को एक और रोचक कारण से जाना जाता है. दरअसल महारानी विक्टोरिया दुनिया में पहली इंसान थीं, जिन्हें हीमोफीलिया नामक बीमारी हुई थी. इन्हीं से यह बीमारी इनके परिवार में और फिर अन्य लोगों को भी हुई. इसी कारण इससे शाही बीमारी की संज्ञा दी गई.

    (रिपोर्ट- प्राची शर्मा)

    Tags: Prayagraj News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर