• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Unlock 1.0: हाईकोर्ट और जिला आदालतों में भी आज से शुरू होगा काम-काज, इन वकीलों को मिलेगा प्रवेश

Unlock 1.0: हाईकोर्ट और जिला आदालतों में भी आज से शुरू होगा काम-काज, इन वकीलों को मिलेगा प्रवेश

इलाहाबा

इलाहाबा

जिन वकीलों के मामलों की सुनवाई होनी है उन्हें पास जारी किया जाएगा. हालांकि 65 साल से अधिक उम्र के वकीलों को प्रवेश नहीं मिलेगा.

  • Share this:
    प्रयागराज/लखनऊ. धार्मिक स्थलों, शॉपिंग मॉल, होटल और रेस्तरां के साथ ही सोमवार से न्याय के मंदिर (Courts) भी कुल रहे हैं. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court), लखनऊ बेंच और जिला अदालतों में आज से खुली कोर्ट में सुनवाई होगी. हालांकि इस दौरान सिमित वकीलों को ही प्रवेश की अनुमति होगी. मसलन जिन वकीलों के मामलों की सुनवाई होनी है उन्हें पास जारी किया जाएगा. हालांकि 65 साल से अधिक उम्र के वकीलों को प्रवेश नहीं मिलेगा. वे वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए ही सुनवाई में शामिल हो सकेंगे.

    ये होगी शर्त

    अनलॉक फेज वन में हाई कोर्ट और जिला अदालतों के लिए जारी गाइडलाइन के मुताबिक न्यायमूर्तियों एवं स्टाफ की न्यूनतम संख्या के साथ ही विशेष पीठ बैठेगी. स्टैंप रिर्पोटिंग सेक्शन में एक अलग स्थान पर दाखिला होगा. ई मोड से पुराने मुकदमों में अर्जेंसी अर्जियां स्वीकार की जायेंगी. हर अनुभाग से सभी फाइलों को सेनीटाइज कर के ही कोर्ट में भेजा जाएगा. वकीलों के लिए परिसर में प्रवेश के अलग से गेट निर्धारित किए गए हैं. वकीलों का ई -पास के जरिए प्रवेश होगा. 65 वर्ष से अधिक की आयु वाले वकील परिसर में प्रवेश नहीं कर सकेंगे. उन्हें वीडियो कांफ्रेंसिंग से बहस की सुविधा दी जाएगी. वकीलों के चेंबर व कैंटीन बंद रहेंगे. सभी वकीलों और स्टाफ को मास्क पहनना अनिवार्य होगा. उन्हें फिजिकल एवं सोसल डिस्टेन्सिंग का पालन करना होगा. न्याय कक्ष में किसी भी दशा में 6 से अधिक वकील मौजूद नहीं रहेंगे. बहस करने के बाद वकील तुरंत बाहर चले जाएंगे. हॉटस्पॉट एरिया में रहने वाले वकीलों को न्यायालय में आने की आवश्यकता नहीं है.

    ऐसे कर सकेंगे नए मुकदमे फाइल

    सोमवार से जिला एवं सत्र अदालत में भी न्यायिक और प्रशासनिक काम होने लगेंगे. यहां वकीलों को नए मुकदमे दाखिल करने के लिए केंद्रीकृत फाइलिंग काउंटर का प्रयोग करना होगा. इसकी पूरी जानकारी ई- कोर्ट्स एप पर मिलेगी. वकील इसके जरिए अपने मुक़दमे का स्टेटस और तारीख भी जान सकेंगे. उन्हें अर्जी पर अपना या वादकारी का मोबाइल नंबर भी दर्ज करना होगा ताकि किसी भी तरह की त्रुटी पर जानकारी दी जा सके.

    (इनपुट: सर्वेश दुबे)

    ये भी पढ़ें:

    COVID-19 : UP में कोरोना के 433 नए केस, संक्रमितों की संख्‍या 10536 हुई

    योगी सरकार की हरी झंडी के बावजूद नहीं खुलेंगे ये प्रमुख मंदिर, जानें वजह

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज