Assembly Banner 2021

अपराधियों को वकील की ड्रेस में हाजिर कराने को लेकर यूपी बार काउंसिल गंभीर, दी ये चेतावनी

यूपी बार काउंसिल (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी बार काउंसिल (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी बार काउंसिल (UP Bar Council) अध्यक्ष जानकी शरण पांडे का कहना है कि काउंसिल के संज्ञान में ऐसा आता है कि किसी वकील ने आरोपी को वकील की ड्रेस पहनाकर कोर्ट में सरेंडर कराया है तो इसे व्यवसायिक कदाचार मानते हुए वकील के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
प्रयागराज. यूपी बार काउंसिल (UP Bar Council) ने अपराधियों (Criminals) को पुलिस और प्रशासन से बचाने के लिए कोर्ट (Court) में सरेंडर कराने के दौरान वकील के ड्रेस में ले जाने के मामले को गंभीरता से लिया है. यूपी बार काउंसिल के अध्यक्ष जानकी शरण पांडे ने सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि वकीलों का यह कार्य पूरी तरह से अनुचित और गैरकानूनी है. उन्होंने कहा है कि ऐसा करना व्यवसायिक कदाचार माना जाएगा और दोषी वकील के खिलाफ कठोर कार्रवाई भी की जाएगी.

कोर्ट के पीठासीन अधिकारी भी तत्काल सूचना दें

यूपी बार काउंसिल प्रदेश में वकीलों का पंजीकरण यानी रजिस्ट्रेशन करती है. इसके साथ ही साथ उन्हें रेगुलेट करने वाली सर्वोच्च संस्था है. यूपी बार काउंसिल के अध्यक्ष ने ऐसे वकीलों के खिलाफ कार्रवाई के साथ ही साथ हाईकोर्ट और जिला कोर्ट को भी अलग से ऐसे मामले संदर्भित किए जाने की बात कही है. यूपी बार काउंसिल ने सभी अदालतों के पीठासीन अधिकारियों से भी अपेक्षा की है कि ऐसा कोई मामला सामने आने पर यूपी बार काउंसिल को तत्काल सूचित किया जाए.



Youtube Video

आरोपियों को गिरफ्तारी से बचाने के लिए वकील की ड्रेस का इस्तेमाल

यूपी बार काउंसिल के अध्यक्ष ने आरोपियों को अदालत में सरेंडर करने के लिए अनुचित साधनों का प्रयोग करने और इसके नाम पर आरोपियों से वसूली करने वाले वकीलों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि काउंसिल के संज्ञान में आया है कि आरोपियों की गिरफ्तारी से बचाने के लिए वकील के ड्रेस में उन्हें अदालत तक ले जाया जाता है. उन्होंने कहा है कि ऐसा करने में अपराधियों के वकील ही उनकी मदद भी करते हैं.

यूपी बार काउंसिल अध्यक्ष का कहना है कि यदि यूपी बार काउंसिल के संज्ञान में ऐसा आता है कि किसी वकील ने आरोपी को वकील की ड्रेस पहना कर कोर्ट में सरेंडर कराया है तो इसे व्यवसायिक कदाचार मानते हुए वकील के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज