लाइव टीवी
Elec-widget

प्रयागराज: मिनी कुम्भ की तर्ज पर योगी सरकार आयोजित करेगी भव्य माघ मेला

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 26, 2019, 12:57 PM IST
प्रयागराज: मिनी कुम्भ की तर्ज पर योगी सरकार आयोजित करेगी भव्य माघ मेला
मिनी कुम्भ की तर्ज पर योगी सरकार आयोजित करेगी भव्य माघ मेला

डिप्टी सीएम मौर्या ने कहा है कि हालांकि इस साल आई बाढ़ के चलते माघ मेले के कार्यों में थोड़ा विलम्ब जरुर दिख रहा है. लेकिन मेले से संबंधित विभागों के सभी काम तय समय में ही पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में जनवरी में लगने वाला माघ मेला मिनी कुम्भ की तर्ज पर आयोजित होगा. इस मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को जहां कुम्भ की ही तरह सुविधाएं मिलेंगी. वहीं माघ मेले (Magh Mela) में आने वाले श्रद्धालु एक बार फिर से किले में स्थित अक्षयवट के भी दर्शन कर सकेंगे. इसके साथ ही माघ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं और साधु संतों को संगम में अविरल गंगा और यमुना का प्रवाह भी मिलेगा. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा है कि प्रयागराज में हर साल आयोजित होने वाला माघ मेला भी दूसरे स्थानों पर आयोजित होने वाले कुम्भ और अर्धकुम्भ से बड़ा होता है और इसमें करोड़ों श्रद्धालु आते हैं.

टेंडर प्रक्रिया पूरी- डिप्टी सीएम मौर्या 

उन्होंने कहा है कि जिस तरह से कुम्भ से पहले 2018 का माघ मेला कुम्भ मेले के रिहर्सल के तौर पर आयोजित किया गया था. उसी तरह से कुम्भ के भव्य आयोजन के बाद यूपी सरकार इस साल के मेले को भी मिनी कुम्भ का स्वरुप देने की तैयारी कर रही है. उनके मुताबिक 10 जनवरी से शुरु होने वाले मेले के लिए सभी विभागों की टेंडर प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है.

श्रद्धालु कर सकेंगे अक्षय वट के दर्शन
श्रद्धालु कर सकेंगे अक्षय वट के दर्शन


साधु संतों और श्रद्धालुओं को मिलेगी पूरी सुविधा

डिप्टी सीएम मौर्या ने कहा है कि हालांकि इस साल आई बाढ़ के चलते माघ मेले के कार्यों में थोड़ा विलम्ब जरुर दिख रहा है. लेकिन मेले से संबंधित विभागों के सभी काम तय समय में ही पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं. डिप्टी सीएम ने कहा है कि कुम्भ और माघ मेले में काफी अंतर होता है, इसमें अखाड़े नहीं आते हैं. लेकिन माघ मेले में आने वाले साधु संतों और श्रद्धालुओं की सुविधाओं में सरकार कोई कमी नहीं होने देगी.

वहीं मेला क्षेत्र में सेना और जिला प्रशासन के बीच चल रहे विवाद को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा है कि इस मामले की जानकारी सरकार को भी है. उन्होंने कहा है कि जिन मामलों का समाधान सेना के अधिकारियों से बातचीत के जरिए हो सकता है, उसका प्रयास किया जायेगा. लेकिन जिन मामले में स्थानीय स्तर से हल नहीं निकलेगा सरकार के स्तर से स्थायी समाधान के लिए प्रयास किया जायेगा.
Loading...

18 स्नान घाट और 13 थानें भी खुलेंगे

हम आपको बता दें कि इस बार मेला क्षेत्र में जहां 18 स्नान घाट बनाये जायेंगे. वहीं 13 थाने भी बनेंगे. जबकि हर वर्ष 12 थाने ही बनाये जाते थे. इस बार अक्षय वट नया थाना बन रहा है. इसके साथ ही 43 पुलिस चौकियां भी बनायी जायेंगी.

ये भी पढ़ें:

निष्कासित नेताओं ने यूपी कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- MLA अदिति सिंह के खिलाफ कार्रवाई की हिम्मत नहीं

चिन्मयानंद केस: यूनिवर्सिटी ने रेप पीड़िता के एग्जाम देने पर लगाई रोक, बताई ये वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 12:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...