बड़ी खबर: उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या हुए कोरोना पॉजिटिव

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (फाइल फोटो)
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (फाइल फोटो)

Keshav Prasad Maurya Health Update: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या (Keshav Prasad Maurya) कोरोना से संक्रमित हो गए हैं. उन्होंने अपने ऑफिशियल ट्विटर (Twitter) हैंडल से ये जानकारी साझा की है और संपर्क में आए लोगों से टेस्ट करने की अपील की है. 

  • Share this:
प्रयागराज.  उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या (Keshav Prasad Maurya) कोरोना से संक्रमित हो गए हैं. उनकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. डिप्टी सीएम ने खुद अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर अपने कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) होने की जानकारी दी है. डिप्टी सीएम में संपर्क में आए लोगों से भी टेस्ट करवाने की अपील की है. अपने ट्वीट में केशव प्रसाद मौर्या ने लिखा,  कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण आने के बाद मैंने कोविड-19 टेस्ट करवाया जिसमें मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. आप सभी से मेरा निवेदन है कि पिछले कुछ दिनों में जो भी मेरे सम्पर्क में आएं हैं, वो सभी निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर अपनी जांच करवाए और कोविड नियमों का पालन करें. 

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अनलॉक-5 के दिशानिर्देश बृहस्पतिवार को जारी कर दिए. इसके मुताबिक स्कूल और शैक्षणिक संस्थान 15 अक्टूबर के बाद चरणबद्ध तरीके से खोले जा सकेंगे. प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (सूचना और गृह) अवनीश अवस्थी ने बुधवार को बताया कि प्रदेश में अनलॉक-5 के दिशा निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जारी कर दिए गए हैं. जिसके अनुसार निरुद्ध क्षेत्र के बाहर समस्त स्कूल एवं कोचिंग संस्थान 15 अक्टूबर के बाद चरणबद्ध तरीके से खोले जा सकेंगे.

फैसला स्थिति का आंकलन कर लिया जाएगा



यह निर्णय स्कूल और संस्थान के प्रबन्धन से विचार-विमर्श कर व स्थिति का आंकलन कर जिला प्रशासन द्वारा लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि ऑनलाइन दूरस्थ शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित किया जाएगा एवं इस व्यवस्था को प्राथमिकता दी जाएगी. जहां स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं चला रहे है एवं कुछ छात्र भौतिक रुप से कक्षाओं में शामिल होने के बजाए ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल होने के इच्छुक है, तो उनको इसकी अनुमति दी जा सकती है.
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने अपने ट्विटर अकाउंट से ये ट्वीट किया है



ये भी पढ़ें: OPINION: क्या राजनीति के नौसिखिए खिलाड़ी हैं तेजस्वी यादव और चिराग पासवान?

माता-पिता की लिखित सहमति से ही उपस्थित
अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि छात्र सम्बन्धित स्कूल में अपने माता-पिता की लिखित सहमति से ही उपस्थित हो सकते हैं. इसके साथ ही स्कूल व शैक्षणिक संस्थानों में छात्रों की उपस्थिति बिना माता-पिता के सहमति से अनिवार्य नहीं करायी जा सकती. यह माता-पिता की सहमति पर निर्भर होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज