Home /News /uttar-pradesh /

UP election 2022:-जानिए क्या है प्रयागराज की पश्चिमी विधानसभा का रिपोर्ट कार्ड और कैसा है जनता का मिजाज

UP election 2022:-जानिए क्या है प्रयागराज की पश्चिमी विधानसभा का रिपोर्ट कार्ड और कैसा है जनता का मिजाज

X

प्रयागराज शहर की पश्चिमी विधानसभा(Allahabad west assembly seat) सीट की.यहां लगभग 4 लाख 50 हजार मतदाता हैं.चूंकि चुनाव की घोषणा हो चुकी है तो ऐसे में यह जानन

    प्रयागराज,जो कि प्रदेश और देश की राजनीति में अहम भूमिका निभाता है.यहां विधानसभा की कुल 12 सीटें है.आज हम बात कर रहे हैं शहर की पश्चिमी विधानसभा(Allahabad west assembly seat) सीट की.यहां लगभग 4 लाख 50 हजार मतदाता हैं.चूंकि चुनाव की घोषणा हो चुकी है तो ऐसे में यह जानना जरूरी है कि इस विधानसभा का क्या है रिपोर्ट कार्ड ? आखिर वह कौन से मुद्दे हैं जिन पर यहां के मतदाता 27 फरवरी 2022 को मतदान करेंगे.साथ ही यह भी जानते हैं कि शहर पश्चिमी विधानसभा का राजनीतिक इतिहास क्या रहा है?

    शहर पश्चिमी विधानसभा का इतिहास
    आजादी के बाद जब इलाहाबाद शहर की पश्चिमीविधानसभा सीट बनीं तो जनसंघ से 1980 में तीर्थलाल कोहली विधायक रहे.इसके बाद 1984 में रामगोपाल यादव ने यहां से जीत दर्ज की.1989 से लेकर 2002 तक लगातार पांच बार यहां पर माफिया से नेता बने अतीक अहमद का दबदबा रहा.यह ऐसा वक्त था जब यहां आतंक और बाहुबल का बोलबाला हुआ करता था.यहां अपराध अक्सर हावी रहा.हवा का रुख बदला और 2007 तथा 2012 में इस सीट से पूजा पाल बसपा से विधायक रहीं.अंततः पिछले विधानसभा चुनाव यानी 2017 में यहां पहली बार कमल खिलाऔर भारतीय जनता पार्टी से सिद्धार्थ नाथ सिंह (पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाती) शहर पश्चिमी विधानसभा के विधायक चुने गए.और अब 10 मार्च 2022 को तय होगा कि अगला विधायक कौन होगा.

    मतदाताओं का समीकरण
    राजनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार जिले में सबसे अधिक मतदाता इस सीट पर हैं. इस सीट पर 4 लाख 50 हजार मतदाता हैं. जिसमें से करीब 85 हजार मुस्लिम मतदाता हैं, पिछड़ी जातियां 65 हजार, दलित लगभग 60 हजार, ब्राम्हण लगभग 20 हजार और मौर्य लगभग 35 हजार मतदाता हैं.आपको बता दें कि 2017 में यहां सिद्धार्थ नाथ सिंह ने समाजवादी पार्टी की ऋचा सिंह को 25336 वोटों से हराया था.

    कुछ योजनाएं अभी भी जमीनी स्तर पर नहीं हो पाई हैं लागू
    न्यूज़ 18लोकल की टीम जब शहर पश्चिमी विधानसभा के मतदाताओं से मिली तो उस दौरान कई मतदाता वर्तमान विधायक के काम से संतुष्ट दिखे तो कुछ ने कई समस्याएं भी गिनाईं.उनका मानना है कि इस विधानसभा क्षेत्र में पहली बार सरकारी अस्पताल बन रहा है.जिसके चलते लोगों को अब दूर नहीं जाना पड़ेगा.तो वहीं यहां के स्थानीय अश्विनी द्विवेदी का कहना है कि ऐसी कई योजनाएं हैं जो लागू तो कर दी गई हैं लेकिन जमीनी स्तर पर अभी भी कोई काम नहीं हुआ है.जैसे भगवतपुर क्षेत्र में पानी की टंकी तो कई साल पहले ही बना दी गई थी लेकिन घरों में अभी भी पानी की सप्लाई नहीं हो रही है.साथ ही युवाओं ने बताया कि बेरोजगारी की समस्या आज भी जस की तस बनी हुई है.इसके साथ ही बच्चों की शिक्षा के लिए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं,आज भी बच्चों को एक लंबा सफर तय करके स्कूल जाना पड़ता है.यातायात की भी यहां समस्या मौजूद है.कहीं-कहीं ‌सड़के भी खराब हालत में हैं.
    (रिपोर्ट- प्राची शर्मा, प्रयागराज)

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर