होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /रिमोट बम हमला केसः बाहुबली MLA विजय मिश्र की जमानत निरस्त करने यूपी सरकार ने लगाई अर्जी

रिमोट बम हमला केसः बाहुबली MLA विजय मिश्र की जमानत निरस्त करने यूपी सरकार ने लगाई अर्जी

इलाहाबाद हाईकोर्ट में यूपी सरकार ने विजय मिश्रा की जमानत निरस्त करने को लेकर याचिका दाखिल की है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट में यूपी सरकार ने विजय मिश्रा की जमानत निरस्त करने को लेकर याचिका दाखिल की है.

Allahabad High Court: यूपी सरकार की अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विधायक विजय मिश्रा को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. मा ...अधिक पढ़ें

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी (Cabinet Minister Nand Gopal Gupta Nandi) पर एक दशक पहले रिमोट बम (Remote Bomb) से हुए जानलेवा हमले के मामले में आरोपी ज्ञानपुर के बाहुबली विधायक विजय मिश्र (MLA Vijay Mishra) की जमानत निरस्त करने के लिए अर्जी दाखिल की है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आगरा जेल मे बंद विधायक विजय मिश्र को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. कोर्ट ने सुनवाई के लिए 26 अगस्त की तारीख लगाई है. यह आदेश जस्टिस ओमप्रकाश ने अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल और अपर शासकीय अधिवक्ता आशुतोष कुमार संड को सुनकर दिया है.

आगरा जेल में बंद विधायक विजय मिश्र की जमानत निरस्त करने की अर्जी में कहा गया है कि 12 जुलाई, 2010 को कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी पर प्रयागराज के कोतवाली थानाक्षेत्र स्थित आवास के पास रिमोट बम से जानलेवा हमला किया गया था. हमले में पत्रकार विजय प्रताप सिंह व मंत्री के निजी गार्ड की जान चली गईं थी. इस हमले में मंत्री नंदी को गंभीर जानलेवा चोटें आई थीं. विधायक विजय मिश्र उस मामले में भी आरोपी हैं. इस मामले और गैंगस्टर एक्ट (Gangster Act) के तहत मुकदमे में हाईकोर्ट से जमानत मंजूर हुई है.

सरकार की अर्जी में दलील
सरकार की ओर से दाखिल अर्जी में कहा गया है कि घटना के समय भी विधायक का आपराधिक इतिहास था, जो अब और बड़ा हो गया है. साथ ही जमानत मंजूर किए जाने के आदेश में किसी भी अपराध या आपराधिक घटना में शामिल नहीं होने की शर्त भी थी, लेकिन जमानत मिलने के बाद विधायक पर रेप, गैंगस्टर एक्ट (Rape, Gangster Act) जैसे गंभीर अपराध के मुकदमे दर्ज हुए हैं. इसके अलावा वे मुकदमों के ट्रायल (Trial Of Cases) में सहयोग नहीं कर रहे हैं. ऐसी स्थिति में उनकी जमानत निरस्त की जाए. गौरतलब है कि सरकार इस मामले के एक अन्य आरोपी चाका के पूर्व ब्लाक प्रमुख दिलीप मिश्र की जमानत निरस्त करने की अर्जी पहले ही दाखिल कर चुकी है.

आपके शहर से (इलाहाबाद)

इलाहाबाद
इलाहाबाद

Tags: Allahabad high court, Mafia, MLA Vijay Mishra, UP news, Yogi government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें