होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP Nikay Chunav: प्रयागराज की सीट ओबीसी के लिए रिजर्व, मौजूदा मेयर रेस से बाहर, दिलचस्प हुई लड़ाई

UP Nikay Chunav: प्रयागराज की सीट ओबीसी के लिए रिजर्व, मौजूदा मेयर रेस से बाहर, दिलचस्प हुई लड़ाई

UP Nikay Chunav 2022: प्रयागराज की सीट OBC के लिए रिज़र्व होने से दिलचस्प हुआ मुकाबला

UP Nikay Chunav 2022: प्रयागराज की सीट OBC के लिए रिज़र्व होने से दिलचस्प हुआ मुकाबला

Prayagraj Nagar Nigam Chunav: मेयर सीट का रिजर्वेशन घोषित होने से पहले बीजेपी से 37 दावेदारों ने मेयर का टिकट मांगा था. ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

मेयर की सीट ओबीसी कोटे में जाने से बीजेपी की मौजूदा मेयर पहले ही दौड़ से बाहर
रिजर्वेशन घोषित होने से पहले बीजेपी से 37 दावेदारों ने मेयर का टिकट मांगा था

प्रयागराज. प्रदेश में तीन सीटों पर हुए उपचुनाव के बाद अब नगर निकाय चुनाव की सरगर्मी तेज हो गई है. शासन की ओर से नगर निकायों का आरक्षण भी तय कर दिया गया है. जिसके बाद प्रयागराज नगर निगम की सीट अन्य पिछड़ा वर्ग यानि ओबीसी कोटे में चली गई है. प्रयागराज मेयर की सीट ओबीसी कोटे में जाने से बीजेपी की मौजूदा मेयर अभिलाषा गुप्ता नंदी पहले ही दौड़ से बाहर हो गई हैं. हालांकि अभी भी बीजेपी में दावेदारों की लंबी फेहरिस्त है. इसके साथ ही अन्य दलों में भी मेयर पद के लिए चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे कई दावेदारों को मायूसी हाथ लगी है. हालांकि इसके बावजूद सभी दलों के पास बड़ी संख्या में ओबीसी के दावेदार मौजूद हैं, जिनमें से प्रत्याशी चयन करना पार्टियों के लिए चुनौती बनी हुई है.

मेयर सीट का रिजर्वेशन घोषित होने से पहले बीजेपी से 37 दावेदारों ने मेयर का टिकट मांगा था.

बीजेपी में ही काशी प्रांत उपाध्यक्ष अवधेश गुप्ता, वरिष्ठ नेता मुरारी लाल अग्रवाल, पूर्व विधायक दीपक पटेल, पूर्व राज्यपाल पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी की बहू कविता यादव, क्षेत्रीय अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग मोर्चा अश्विनी कुमार पटेल, पार्टी के वरिष्ठ नेता पदुम जायसवाल, दिलीप चौरसिया, विवेक जायसवाल और किन्नर कल्याण बोर्ड की सदस्य कौशल्या नंदगिरी ने टिकट की दावेदारी की हैं. तो वहीं समाजवादी पार्टी में भी दावेदारों की लंबी फेहरिस्त है. समाजवादी पार्टी से अनूप यादव, राम मिलन यादव, पंकज जायसवाल और महेंद्र निषाद ने मेयर टिकट के लिए आवेदन किया है. वहीं बसपा से भी 5 उम्मीदवारों ने महापौर के लिए टिकट मांगा है. लेकिन उनके नाम अभी सार्वजनिक नहीं किए गए हैं, जबकि आम आदमी पार्टी से कुल 5 उम्मीदवारों ने टिकट मांगा था, जिसमें से दो ओबीसी वर्ग से आते हैं.

आपके शहर से (इलाहाबाद)

इलाहाबाद
इलाहाबाद

अतीक अहमद की पत्नी भी होंगी मैदान में

खास तौर पर बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन भी मेयर पद का चुनाव लड़ने का पहले ही ऐलान कर चुकी हैं. शाइस्ता परवीन एआईएमआईएम की नेता हैं और उन्होंने बसपा के समर्थन से चुनाव लड़ने की बात कही है. इन प्रत्याशियों के चुनाव में मैदान में आने से प्रयागराज मेयर की सीट पर रोचक मुकाबला हो सकता है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बीजेपी प्रशिक्षण अभियान के सह संयोजक डॉ शैलेश कुमार पांडेय के मुताबिक बीजेपी कैडर की पार्टी है और अपने कार्यकर्ताओं के दम पर वार्ड से लेकर लोकसभा तक के चुनाव लड़ती है. उन्होंने कहा कि मेयर की सीट ओबीसी होने के बाद भी पार्टी में इस वर्ग से कई वरिष्ठ नेता मौजूद हैं, जिनमें से किसी योग्य कैंडिडेट को पार्टी टिकट देगी और सभी लोग उसे चुनाव जिताएंगे. डॉ शैलेश कुमार पांडेय का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी में व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ता है, बल्कि पार्टी चुनाव लड़ती है. उन्होंने दावा किया कि एक बार फिर से प्रयागराज नगर निगम में कमल खिलेगा.

सपा ने किया जीत का दावा

वहीं समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और शहर उत्तरी सीट के पूर्व सपा प्रत्याशी संदीप यादव का कहना है कि उनकी पार्टी में हर वर्ग में अच्छे नेता हैं और पार्टी जिस भी कैंडिडेट को प्रत्याशी बनाएगी पूरी पार्टी मिलकर उसे चुनाव लड़ाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी की मौजूदा मेयर ने कोई विकास नहीं किया है. इसके साथ ही हाउस टैक्स बढ़ाए जाने का मुद्दा भी लेकर जनता के बीच जाएंगे. सपा नेता ने दावा किया कि विकास के मुद्दे पर जनता के बीच जाएंगे और जनता का समर्थन भी उन्हें हासिल होगा और समाजवादी पार्टी जीत दर्ज करेगी.

प्रत्याशियों का चयन सभी दलों के लिए चुनौती

जबकि राजनीतिक विश्लेषक पवन द्विवेदी का कहना है कि मेयर सीट ओबीसी कोटे में जाने से दावेदार कम जरूर हुए हैं, लेकिन प्रत्याशियों का चयन राजनीतिक दलों के लिए अभी भी चुनौती बनी हुई है. इसके साथ ही चुनाव जीतने की राह भी  राजनीतिक दलों के लिए कतई आसान नहीं होगी. गौरतलब है कि नए परिसीमन में प्रयागराज नगर निगम की सीमा में विस्तार हुआ है. निगम में 20 नए वार्ड जुड़े हैं. ग्रामीण इलाके जुड़ने से वोटों का समीकरण भी बदला है. प्रयागराज नगर निगम के लिए 14 लाख से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, लेकिन इस चुनाव में किन्नर अखाड़ा के महामंडलेश्वर टीना मां और बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन के चुनाव लड़ने की चर्चाओं से मुकाबला काफी रोचक नजर आ रहा है.

Tags: Allahabad news, UP latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें