• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Prayagraj Zila Panchayat Adhyaksh Chunav: खरीद-फरोख्त करते रंगे हाथ पकड़े गए दो सपा नेता, 40 लाख बरामद

Prayagraj Zila Panchayat Adhyaksh Chunav: खरीद-फरोख्त करते रंगे हाथ पकड़े गए दो सपा नेता, 40 लाख बरामद

पुलिस की कार्रवाई से नाराज सपा नेताओं ने मेजा थाने के किया घेराव

पुलिस की कार्रवाई से नाराज सपा नेताओं ने मेजा थाने के किया घेराव

Prayagraj News: सपा एमएलसी और जिलाध्यक्ष को मेजा थाने में बैठाए जाने से नाराज सपा कार्यकर्ताओं ने सत्ता के दबाव में मेजा पुलिस पर सपा नेताओं को जबरन थाने में बैठाने का आरोप लगाया है.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में जिला पंचायत अध्यक्ष (Zila Panchayat Adhyaksh) पद के लिए तीन जुलाई को होने वाले चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) द्वारा जिला पंचायत सदस्यों के खरीद-फरोख्त का मामला सामने आया है. यमुनापार इलाके में जिला पंचायत सदस्यों की खरीद-फरोख्त की सूचना पर मेजा थाना पुलिस (Police) ने सपा एमएलसी डॉ मान सिंह यादव और सपा जिलाध्यक्ष योगेश यादव को थाने में बैठा लिया है. पुलिस के मुताबिक दोनों नेताओं के पास से 40 लाख रुपए भी बरामद हुए हैं. डीआईजी/एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि दोनों ही नेता रंगे हाथ पकड़े गए हैं. दोनों से ही पूछताछ जारी है और आयकर विभाग को भी सूचना दी गई है ताकि पैसों के सोर्स का पता लगाया जा सके.

सपा एमएलसी और जिलाध्यक्ष को मेजा थाने में बैठाए जाने से नाराज सपा कार्यकर्ताओं ने सत्ता के दबाव में मेजा पुलिस पर सपा नेताओं को जबरन थाने में बैठाने का आरोप लगाया है. दरअसल पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्यों की खरीद- फरोख्त की सूचना मिली थी. जिसके बाद मेजा थाना पुलिस ने दोनों नेताओं को थाने में बैठा लिया है. इस बात की जानकारी मिलने के बाद सपा के कई नेता मेजा थाने पर पहुंच गए हैं. फूलपुर से पूर्व सांसद नागेन्द्र प्रताप सिंह पटेल, शहर पश्चिमी विधानसभा अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह पटेल, जिला पंचायत सदस्य नेपाल सिंह पटेल, सपा नेता रमाकांत सिंह पटेल समेत सैकड़ों समर्थकों के साथ थाने पर डटे हुए हैं. सपा नेता और कार्यकर्ता पुलिस पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए थाने का घेराव भी कर रहे हैं.

बीजेपी और सपा में है सीधा मुकाबला
गौरतलब है कि प्रयागराज में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी मालती यादव और बीजेपी के डॉक्टर वीके सिंह के बीच सीधा मुकाबला है. जिले में जिला पंचायत की कुल 84 सीटें हैं. लेकिन दोनों ही दलों के पास बहुमत नजर नहीं आ रहा है. हालांकि दोनों ही दल 50 से ज्यादा जिला पंचायत सदस्यों के समर्थन का दावा करते हुए अपनी जीत बता रहे हैं. यही वजह है कि जिला पंचायत सदस्यों की खरीद-फरोख्त की बात सामने आ रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज