Home /News /uttar-pradesh /

UP: कोरोना की थर्ड वेब से पहले बच्चों के लिए पीकू वार्ड तैयार, मनोरंजन के लिए ICU में रहेंगे खिलौने

UP: कोरोना की थर्ड वेब से पहले बच्चों के लिए पीकू वार्ड तैयार, मनोरंजन के लिए ICU में रहेंगे खिलौने

सीएमएस के मुताबिक, फिलहाल अस्पताल में कोरोना की संभावित थर्ड वेब की चुनौती से लड़ने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

सीएमएस के मुताबिक, फिलहाल अस्पताल में कोरोना की संभावित थर्ड वेब की चुनौती से लड़ने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

बेली अस्पताल की सीएमएस डॉ. किरन मलिक (Dr. Kiran Malik) के मुताबिक, अस्पताल के आईसीयू में भर्ती होने का नाम सुनकर बड़े-बड़े भी घबरा जाते हैं. ऐसे में कोरोना की थर्ड वेब के दौरान बच्चों के सक्रमित होने पर सबसे पहले जरुरी है कि उनके अंदर के डर को निकाला जाये, ताकि वे कोरोना को आसानी से मात दे सकें.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. कोरोना वायरस (Corona Virus) की सेकंड वेब का असर लगभग खत्म हो चुका है. लेकिन अभी भी कोरोना की थर्ड वेब (Third Web) आने की आशंका जतायी जा रही है. थर्ड वेब में अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन और जरुरी दवाइयों की कोई कमी न हो इसके लिए योगी सरकार प्रदेश भर के अस्पतालों में तैयारी भी कर रही है. लेकिन थर्ड वेब में बच्चों में कोरोना के संक्रमण की सबसे ज्यादा संभावना व्यक्त की जा रही है. जिसके मद्देनजर सभी सरकारी अस्पतालों में पिडियाट्रिक आईसीयू (Pediatric ICU) यानि पीकू वार्ड तैयार किए जा रहे हैं. संगम नगरी प्रयागराज में भी मोती लाल नेहरु मेडिकल कालेज के एसआरएन अस्पताल से लेकर तेज बहादुर सप्रू जिला अस्पताल यानि बेली अस्पताल में थर्ड वेब की आने वाली चुनौती से निबटने के लिए खास तैयारी की गई है.

एसआरएन अस्पताल में जहां सौ बेड का पीकू वार्ड तैयार किया गया है, वहीं बेली अस्पताल में भी पीकू वार्ड बनाया गया है. बेली अस्पताल में 20 बेड का आईसीयू, 20 बेड का एसडीयू और 28 बेड का बच्चों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है. लेकिन खास बात ये है कि पीकू वार्ड में आक्सीजन और वेन्टिलेटर के साथ ही दीवारों पर पेंटिंग्स भी करायी गई है. इनमें बच्चों के कार्टून कैरेक्टर को दीवारों पर खासतौर पर उकेरा गया है.ताकि थर्ड वेब के दौरान जब बच्चे कोरोना से संक्रमित होने पर जब अस्पतालों में भर्ती होने के लिए आयें तो उन्हें अस्पताल में किसी तरह का डर और भय न लगे. बल्कि उन्हें यहां पर भी घर जैसा ही माहौल मिले, ताकि बच्चे कोरोना जैसी महामारी पर मजबूत इच्छाशक्ति के बल पर जल्द जीत हासिल कर सकें.

कुछ खिलौने भी मंगाये जा रहे हैं
बेली अस्पताल की सीएमएस डॉ. किरन मलिक के मुताबिक, अस्पताल के आईसीयू में भर्ती होने का नाम सुनकर बड़े-बड़े भी घबरा जाते हैं. ऐसे में कोरोना की थर्ड वेब के दौरान बच्चों के सक्रमित होने पर सबसे पहले जरुरी है कि उनके अंदर के डर को निकाला जाये, ताकि वे कोरोना को आसानी से मात दे सकें. सीएमएस डॉ. किरन मलिक के मुताबिक, अस्पताल में कोरोना की थर्ड वेब की चुनौती से निबटने के लिए दो पीकू वार्ड बनाये गए हैं, जिनमें बेड का इंतजाम भी किया गया है. उनके मुताबिक अभी दीवारों पर केवल पेंटिंग्स करायी गई है. लेकिन जल्द ही बच्चों के खेलने के लिए कुछ खिलौने भी मंगाये जा रहे हैं. ताकि यहां आने वाले बच्चों को पूरी तरह से घर का माहौल मिलता रहे और कोविड की बीमारी से लड़ने के दौरान उनका मनोरंजन भी होता रहे.

उन्होंने सभी तैयारियों को मुकम्मल पाया है
सीएमएस के मुताबिक, फिलहाल अस्पताल में कोरोना की संभावित थर्ड वेब की चुनौती से लड़ने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. अस्पताल में पीकू वार्ड के साथ ही आक्सीजन और दवाइयों का भी पूरा प्रबन्ध कर लिया गया है. उनके मुताबिक, शासन के निर्देश पर आयी उच्च स्तरीय टीम भी अस्पताल की तैयारियों का मॉक ड्रिक कर निरीक्षण कर चुकी है, जिसमें उन्होंने सभी तैयारियों को मुकम्मल पाया है.

Tags: Allahabad news, Corona Virus, Third Wave, Uttar pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर