UP: प्रयागराज में Vaccination का दिखा असर, संक्रमित पुलिसकर्मियों के आंकड़ों में आई गिरावट

प्रयागराज में कोरोना वैक्सीनेशन का दिखा असर

प्रयागराज में कोरोना वैक्सीनेशन का दिखा असर

बहरहाल, वैक्सीनेशन (Vaccination) के बाद पुलिस फोर्स में कोरोना का असर कम होने को लेकर आईजी केपी सिंह बेहद उत्साहित है.

  • Share this:

प्रयागराज. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के खिलाफ जंग में पुलिसकर्मियों के लिए थोड़ी राहत भरी खबर है. प्रयागराज रेंज के पुलिस कर्मियों का वैक्सीनेशन कराये जाने के बाद कोरोना की फर्स्ट वेब की तुलना में जहां सेकेंड वेब में कोरोना संक्रमितों की संख्या में आठ गुना तक कमी आयी है. वहीं कोरोना की सेकेंड वेब में प्रयागराज रेंज में किसी भी पुलिस की मौत नहीं हुई है. जबकि बगैर वैक्सीनेशन फर्स्ट वेब के दौरान संक्रमित चार पुलिस कर्मियों की कोरोना से जान चली गई थी.

प्रयागराज रेंज के पुलिस कर्मियों के लिए वैक्सीनेशन कोरोना की रोकथाम के लिए सबसे बड़ा हथियार साबित हो रहा है. आईजी प्रयागराज रेंज केपी सिंह के मुताबिक कोरोना की महामारी में अब तक रेंज के चार जिलों प्रयागराज, प्रतापगढ़, कौशाम्बी और फतेहपुर में कुल 755 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए हैं. जिनमें फर्स्ट वेब के दौरान 669 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित हुए और चार पुलिस कर्मियों की मौत भी हो गयी. इसमें प्रतापगढ़ जिले में तैनात एक इंस्पेक्टर और दो हेड कांस्टेबल के साथ ही प्रयागराज जिलें में तैनात एक हेड कांस्टेबल की मौत शामिल है. लेकिन उसके बार फ्रंट वारियर्स में शामिल पुलिसकर्मियों का वैक्सीनेशन कराया गया.

UP में अचानक बदला मौसम, सीतापुर में 2 सगे भाइयों समेत 3 की मौत से मचा कोहराम

जिसके बाद होली के बाद अप्रैल माह में आई सेकेंड वेब में सिर्फ 87 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए. हालांकि इस दौरान पुलिसकर्मियों को पंचायत चुनावों के लिए दूसरे जिलों में भी भेजा गया. इसके बावजूद कोरोना संक्रमण की दर पुलिसकर्मियों में बेहद कम रही. आईजी के मुताबिक फर्स्ट वेब में जहां 88.8 प्रतिशत पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव हुए. वहीं सेकेंड वेब में 11 फीसदी पुलिसकर्मी ही कोरोना संक्रमण की चपेट में आये. सिंह ने बताया कि चारों जिलों में 97 प्रतिशत पुलिसकर्मियों का वैक्सीनेशन कराया जा चुका है. जिसका असर कोरोना की सेकेंड वेब में भी देखने को मिला है. आईजी के मुताबिक वहीं पुलिसकर्मी वैक्सीनेशन से वंचित हैं जो गम्भीर बीमारियों से ग्रस्त हैं. गर्भवती और बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं हैं.
बहरहाल, वैक्सीनेशन के बाद पुलिस फोर्स में कोरोना का असर कम होने को लेकर आईजी केपी सिंह बेहद उत्साहित है. उन्होंने कहा है कि सबसे ज्यादा संक्रमण के बीच रहने के बावजूद वैक्सीनेशन की वजह से ही पुलिसकर्मियों को कोरोना से बचाया जा सका है. इसको देखते हुए उन्होंने सभी जिलों को पुलिस कप्तानों को महकमे में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा करने का भी निर्देश दिया है. ताकि कोरोना की इस महामारी को हराया जा सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज