UPPCS-2018 मेंस की परीक्षा स्थगित, पेपर लीक विवाद के बाद आयोग ने उठाया कदम!

आशंका जताई जा रही है कि एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा के पेपर लीक प्रकरण में परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के खिलाफ केस दर्ज होने और प्रिंटिंग प्रेस संचालक की गिरफ्तारी के बाद मचे कोहराम से बचने के लिए कमीशन ने बैकफुट पर आते हुए यह कदम उठाया है.

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 30, 2019, 5:50 PM IST
UPPCS-2018 मेंस की परीक्षा स्थगित, पेपर लीक विवाद के बाद आयोग ने उठाया कदम!
फाइल फोटो
Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 30, 2019, 5:50 PM IST
पेपर लीक प्रकरण से विवादों में घिरे यूपी पब्लिक सर्विस कमीशन (UPPSC) ने गुरुवार को बड़ा कदम उठाते हुए यूपी पीसीएस-2018 की मेंस की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. ये परीक्षाएं 17 से 21 जून तक होनी थीं. परीक्षाएं क्यों टाली गईं, फिलहाल कमीशन के पास इसका कोई जवाब नहीं है. वैसे ज़्यादातर अभ्यर्थियों ने पीसीएस की मुख्य परीक्षाएं टाले जाने के फैसले का स्वागत किया है. कमीशन ने अभी कोई नई तारीख भी घोषित नहीं की है.

आशंका जताई जा रही है कि एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा के पेपर लीक प्रकरण में परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के खिलाफ केस दर्ज होने और प्रिंटिंग प्रेस संचालक की गिरफ्तारी के बाद मचे कोहराम से बचने के लिए कमीशन ने बैकफुट पर आते हुए यह कदम उठाया है. इस मामले में तमाम अभ्यर्थियों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में भी अर्जी दाखिल की थी. हाईकोर्ट में कल होने वाली सुनवाई से ठीक पहले कमीशन ने आज अचानक मुख्य परीक्षाएं टालने का ऐलान कर सभी को चौंका दिया है. यूपी पीसीएस 2018 की प्रारंभिक परीक्षाएं पिछले साल हुई थीं, जिसमे पांच लाख से ज़्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था. इसी साल तीस मार्च को प्री परीक्षा के नतीजे घोषित किये गए, जिसमें 19608 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया था.

अभ्यर्थियों ने भी की थी परीक्षा टाले जाने की मांग

इन अभ्यर्थियों को 17 से 21 जून तक होने वाली मुख्य परीक्षा में शामिल होना था. इस बीच परीक्षा का पैटर्न बदलने के बाद कई अभ्यर्थियों ने मुख्य परीक्षा को टाले जाने की मांग की. इस मांग को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में अर्जी भी दाखिल की गई थी. हाईकोर्ट में इस मामले में शुक्रवार को सुनवाई होनी है. यूपी पब्लिक सर्विस कमीशन ने पिछले दिनों एलटी ग्रेड टीचर्स के साढ़े दस हजार पदों के लिए जो भर्ती परीक्षा आयोजित की, उसका पेपर लीक होने की चर्चा ज़ोरों पर रही। एसटीएफ ने इस मामले में जांच करते हुए कोलकाता के प्रिंटिंग प्रेस संचालक कौशिक कुमार को तीन दिन पहले गिरफ्तार कर लिया.

एसटीएफ ने दर्ज किया है मुकदमा

एसटीएफ ने वाराणसी पुलिस के साथ मिलकर कमीशन में छापेमारी भी की. यहां की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार का लैपटॉप व मोबाइल फोन जब्त कर उनके समेत नौ लोगों के खिलाफ वाराणसी में मुकदमा दर्ज किया गया. चर्चा इस बात की भी है कि प्रिंटिंग प्रेस संचालक के पास से पीसीएस मेंस परीक्षा के प्रश्न पत्र भी बरामद हुए हैं. इस बीच अभ्यर्थियों व छात्र संगठनों ने कमीशन के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है और जगह जगह प्रदर्शन कर रहे हैं. समझा जा रहा है कि कई फ्रंट पर घिरने के बाद कमीशन ने आनन-फानन में परीक्षाएं टाले जाने का फैसला लिया. कमीशन के सचिव जगदीश ने जो प्रेस नोट जारी किया है, उसमे न तो कोई वजह बताई गई है और न ही नई तारीख घोषित की गई है कमीशन के ज़िम्मेदार अफसरान इस मामले में कैमरे के सामने आने को राजी भी नहीं हुए. वैसे ज़्यादातर अभ्यर्थियों ने परीक्षाएं टाले जाने के फैसले का स्वागत किया है.

ये भी पढ़ें:
बीजेपी के पहले मुस्लिम सांसद चुने गए थे मुख़्तार अब्बास नकवी, फिर बनेंगे PM मोदी के मंत्री

डिंपल यादव को कन्नौज में मात देने वाले सुब्रत पाठक को इनाम, मोदी कैबिनेट में होंगे शामिल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...