लाइव टीवी

UPPSC की पूर्व परीक्षा नियंत्रक अंजूलता कटियार को आठ माह बाद हाईकोर्ट से मिली जमानत
Allahabad News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 7, 2020, 6:37 PM IST
UPPSC की पूर्व परीक्षा नियंत्रक अंजूलता कटियार को आठ माह बाद हाईकोर्ट से मिली जमानत
यूपी लोक सेवा आयोग की पूर्व परीक्षा नियंत्रक अंजूलता कटियार को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत

पीसीएस आफिसर (PCS Officer) अंजूलता कटियार 30 मई 2019 से वाराणसी जेल में बंद हैं. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने जमानत मंजूर करते हुए, एक साल के अंदर ट्रायल पूरा करने का भी निर्देश दिया है.

  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission) की पूर्व परीक्षा नियंत्रक अंजूलता कटियार को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) से बड़ी राहत मिली है. हाईकोर्ट ने पीसीएस आफिसर अंजूलता कटियार की जमानत अर्जी मंजूर कर ली है. कोर्ट ने उन्हें एक लाख की जमानत राशि पर रिहा करने का आदेश दिया है.

कोर्ट ने कहा है कि चार्जशीट को देखने के बाद प्रथम दृष्टया याची का अपराध में शामिल होना प्रतीत नहीं होता है. इस आधार पर कोर्ट ने जमानत अर्जी स्वीकार करते हुए उन्हें रिहा करने का आदेश दिया है. हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट को एक वर्ष के अंदर ट्रायल पूरा करने का भी निर्देश दिया है. यह आदेश अंजूलता कटियार की जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए जस्टिस रमेश सिन्हा की एकलपीठ ने दिया है.

पेपर लीक मामले में गिरफ्तारी के बाद भेजी गईं थी जेल
पीसीएस आफिसर अंजूलता कटियार 30 मई 2019 से वाराणसी जेल में बंद हैं. अंजूलता कटियार एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा 2018 के पेपर लीक मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजी गई थीं. गिरफ्तारी होने और जेल भेजे जाने के बाद शासन ने उन्हें सस्पेंड कर दिया था. अंजू लता कटियार यूपी पीसीएस की टॉपर भी रही हैं. गौरतलब है कि यूपी एसटीएफ ने यूपीपीएससी द्वारा आयोजित की गई एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा 2018 पेपर लीक मामले में कोलकाता के एक प्रेस मालिक कौशिक कुमार को 28 मई 2019 को वाराणसी से गिरफ्तार किया था. बाद में उसके बयानों के आधार पर यूपी एसटीएफ ने पूर्व परीक्षा नियन्त्रक के आवास और कार्यालय में 28 मई की रात दो बजे छापेमारी की कार्रवाई की थी और 30 मई को उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया था. गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ ने उन्हें वाराणसी की कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया था. अपर सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायालय भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम वाराणसी की कोर्ट से 6 जून को जमानत अर्जी खारिज होने के बाद पूर्व परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की शरण ली थी.

ये भी पढ़ें- CAA के खिलाफ धरना प्रदर्शन की अनुमति की मांग वाली याचिका खारिज, HC ने की ये टिप्पणी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 6:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर