प्रयागराज: माघ मेले में विहिप ने किया राम मंदिर के मॉडल का अनावरण

माघ मेले में किया गया अयोध्या में बनने वाले प्रस्तावित राम मंदिर मॉडल का नवारण
माघ मेले में किया गया अयोध्या में बनने वाले प्रस्तावित राम मंदिर मॉडल का नवारण

चम्पत राय ने कहा कि यह ख़ुशी क़ी बात है कि भारत ने इतिहास क़ी एक बड़ी ग़लती को सुधार दिया है. भले ही उसके लिए 490 साल लग गए.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम की रेती पर लगे माघ मेले (Magh Mela) में रविवार को विश्व हिन्दू परिषद (VHP) ने अयोध्या (Ayodhya) में प्रस्तावित राम मंदिर के मॉडल (Ram temple Model) का अनावरण किया. विहिप केन्द्रीय उपाध्यक्ष चम्पत राय (Champat Rai) ने मंदिर के प्रस्तावित माडल का अनावरण करते हुए कहा कि हो सकता है कि अगली बार यहां पर मंदिर के प्रस्तावित मॉडल को रखने क़ी ज़रूरत न पड़े. मंदिर का भव्य स्वरूप आयोध्या में बनकर तैयार हो जाए.

भारत ने इतिहास क़ी एक बड़ी ग़लती को सुधार दिया

चम्पत राय ने कहा कि यह ख़ुशी क़ी बात है कि भारत ने इतिहास क़ी एक बड़ी ग़लती को सुधार दिया है. भले ही उसके लिए 490 साल लग गए. मंदिर बनाने में विहिप क़ी भूमिका को लेकर उन्होने कहा कि सरकार में शामिल लोग मंदिर के भव्य स्वरूप के लिए गंभीर हैं. सरकार मंदिर बनाने के लिए अपना काम कर रही है. सरकार में शामिल लोग भी किसी न किसी रुप से मंदिर आंदोलन से जुड़े रहें हैं. इसलिए किसी भी तरह कोई दूसरा सवाल उठाना उचित नहीं है.



कुम्भ या माघ मेले में राम मंदिर के मॉडल का किया जाता रहा है अनावरण
गौरतलब है 1989 के बाद से ही लगातार प्रयागराज के कुम्भ या माघ मेले में राम मंदिर के प्रस्तावित मॉडल को आम श्रद्धालुओं के बीच एक संकल्प के उद्देश्य से रखा जाता रहा है. लेकिन इस बार मंदिर बनने का मामला न्यायालय से साफ़ होने के बाद यहां वर्षों से मंदिर के प्रस्तावित मॉडल का दर्शन करने आ रहें श्रद्धालु भी बेहद ख़ुश नज़र आ रहें हैं. उनका मानना है कि इस बार मंदिर बनने का रास्ता साफ़ हो चुका है. हम लोगों क़ी वर्षों क़ी कामना पूरी हुई है. इसलिए इस बार माघ मेले में अंतिम दर्शन के लिए आएं हैं. हमें उम्मीद है कि अगली बार हम सभी जब यहां के मेले में आयेंगे तो उससे पहले आयोध्या में भगवान राम का भव्य राम मंदिर बनकर तैयार हो चुका होगा.

ये भी पढ़ें:

यूपी कैबिनेट की बैठक आज, लखनऊ-नोएडा में कमिशनरी सिस्टम के प्रस्ताव पर लग सकती है मुहर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज