बंगाल हिंसा पर बोले महंत नरेंद्र गिरी, ममता बनर्जी सरकार को बर्खास्त कर हो सेना की तैनाती

महंत नरेंद्र गिरी ने की बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

West Bengal Violence: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने देश के प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री के साथ ही पूरी यूनियन कैबिनेट से मांग की है कि 356 धारा का प्रयोग करते हुए ममता बनर्जी की निर्वाचित सरकार को तत्काल बर्खास्त कर बंगाल को सेना के हवाले कर दिया जाये.

  • Share this:
प्रयागराज. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जीत के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हो रहे हिंसक हमले (West Bengal Violence) और हिन्दुओं की हो रही हत्याओं पर साधु-संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhara Parishad) ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी (Mahant Narendra Giri) ने कहा है कि ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के निर्देश पर बंगाल में मुसलमानों ने जो तांडव और हिन्दू बहन-बेटियों के साथ जो दुर्व्यवहार किया है यह निंदनीय है और बर्दाश्त के बाहर है. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने देश के प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री के साथ ही पूरी यूनियन कैबिनेट से मांग की है कि 356 धारा का प्रयोग करते हुए ममता बनर्जी की निर्वाचित सरकार को तत्काल बर्खास्त कर बंगाल को सेना के हवाले कर दिया जाये.

उन्होंने आशंका जतायी है कि बंगाल सरकार और वहां की स्थानीय पुलिस अब इस दंगे को रोक नहीं पायेगी. उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक पत्र लिखकर बंगाल सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे. इसके साथ ही राष्ट्रपति शासन लगाये जाने की भी मांग करेंगे. महंत नरेन्द्र गिरी ने पश्चिम बंगाल के हालातों को देखते हुए कहा कि केन्द्र सरकार को अब इस मामले में हस्तक्षेप करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी अगर इस तरह से सरकार चलायेंगी तो पांच साल बाद बंगाल में हिन्दूओं का नामो निशान भी नहीं रह जायेगा.

हिन्दुओं की रक्षा में आएंगे अखाड़े
उन्होंने पश्चिम बंगाल के मुसलमानों से अपील की है कि बर्दाश्त की सीमा होती है. इसलिए जब क्रिया होगी तो उसकी प्रतिक्रिया होगी। उन्होंने कहा कि अगर हिन्दुओं के साथ बंगाल में अन्याय होगा तो अखाड़े भी हिन्दुओं की रक्षा के लिए आगे आयेंगे. महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि ममता बनर्जी को यह समझना चाहिए कि बंगाल में हिन्दू और मुसलमान रहते हैं. महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है और उन्हें हिन्दुओं और मुसलमानों  की रक्षा करनी चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी ने मुसलमानों को खुली छूट दे रखी है. पांच-पांच मुसलमान लड़कों ने एक हिन्दू बहन बेटियों से साथ दुर्व्यवहार किया है. मुसलमानों ने बीजेपी समर्थकों की दुकानों में तोड़फोड़ और आग लगा दी.

किसी एक्टर या मुस्लिम नेता ने बंगाल हिंसा का नहीं किया विरोध
महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की घटना के बाद किसी मुस्लिम नेता और फिल्मी एक्टर ने इसका विरोध नहीं किया. लेकिन अगर मुसलमान मारे जाते तो ये यही फिल्मी एक्टर और मुनव्वर राना जैसे शायर पूरे देश में हो हल्ला मचा देते. उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल में हिन्दू कतई सुरक्षित नहीं है. महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि संत महात्मा किसी का पक्ष नहीं लेते हैं, लेकिन जहां पर अन्याय और अत्याचार होता है, उसका संत विरोध करते हैं. उन्होंने कहा कि सनातन परम्परा में हिन्दुओं की रक्षा के लिए ही अखाड़ों की स्थापना हुई है. इसलिए जरुरत पड़ी तो अखाड़े भी हिन्दुओं की रक्षा के लिए आगे आयेंगे.