अपना शहर चुनें

States

नोएडा में फिल्म सिटी बनने से महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे के पेट में दर्द क्यों : केशव प्रसाद मौर्य

पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य.
पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य.

मौर्य ने कहा है कि योगी सरकार मुम्बई फिल्म सिटी का ट्रांसफर नहीं करा रही हैं, बल्कि नोएडा में अलग फिल्म सिटी ही बना रही है. यूपी के नोएडा में फिल्म सिटी बनने से फिल्म के क्षेत्र में लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2020, 9:41 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. यूपी के डिप्टी सीएम (Deputy CM) केशव प्रसाद मौर्या (Keshav Prasad Maurya) ने नोएडा फिल्म सिटी (Noida Film City) को लेकर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे के बयान पर जोरदार पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र (Maharashtra) के सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को बताना चाहता हूं कि मुम्बई और उत्तर प्रदेश दोनों ही शिवसेना, कांग्रेस या एनसीपी की नहीं है. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य चौधरी चुन्नी लाल की 21वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में बतौर मुख्य अतिथि प्रयागराज आए हुए थे. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अशोक मेहता कर रहे थे. श्रद्धांजलि सभा में कई वक्ताओं ने चौधरी चुन्नी लाल की उपलब्धियों पर चर्चा की. उन्हें शिद्दत से याद किया.



सभागार से बाहर आने के बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मीडिया के सवालों का जवाब दिया. उन्होंने फिल्म सिटी से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि आखिर नोएडा में फिल्म सिटी बनने से उद्धव ठाकरे के पेट में क्यों दर्द हो रहा है. उन्होंने कहा है कि नोएडा में फिल्म सिटी की स्थापना इसलिए की जा रही है कि यूपी की प्रतिभाओं को फिल्मों और छोटे पर्दे पर अपनी प्रतिभा को दिखाने का बेहतर मंच मिल सके. उन्होंने कहा है कि योगी सरकार मुम्बई फिल्म सिटी का ट्रांसफर नहीं करा रही हैं, बल्कि नोएडा में एक अलग नई फिल्म सिटी ही बना रही है. उन्होंने कहा है कि यूपी के नोएडा में फिल्म सिटी बनने से फिल्म के क्षेत्र में जहां लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा. वहीं हॉलीवुड, बॉलीवुड और छोटे पर्दे के कलाकारों के लिए भी विश्वस्तरीय मंच मुहैया होगा. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा है कि शिवसेना नोएडा फिल्म सिटी को लेकर बेवजह तिलमिला रही है. जबकि महाराष्ट्र में भी भाजपा शिवसेना से ज्यादा बड़ी पार्टी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज