लाइव टीवी

प्रयागराज में CAA-NRC के खिलाफ धरने पर बैठी महिलाओं के समर्थन में पहुंचे रेवती रमण...

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 7:10 PM IST
प्रयागराज में CAA-NRC के खिलाफ धरने पर बैठी महिलाओं के समर्थन में पहुंचे रेवती रमण...
मंसूर अली पार्क में caa-nrc protest में बैठी महिलाओं को सपा नेता रेवती रमण ने किया संबोधित

राज्य सभा सदस्य रेवती रमण ने कहा कि CAA-NRC देश का काला कानून हैं और इसे सरकार को वापस लेना चाहिए साथ ही उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से भी उनकी अपील है कि इस काले कानून को खारिज किया जाए. वहीं CAA और NRC के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में शामिल लगभग 250 से अधिक अज्ञात प्रदर्शनकारियों पर खुल्दाबाद थाने में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया गया है...

  • Share this:
प्रयागराज. दिल्ली के शाहीनबाग (Shaheen bagh at New Delhi) में चल रहे सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में प्रदर्शन के तर्ज पर प्रयागराज (Prayagraj) में भी महिलाओं द्वारा विरोध (protest) किया जा रहा है पिछले 4 दिन से मंसूर अली पार्क में हजारों की संख्या में महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं.

सबसे पहले मैं गिरफ्तारी दूंगा: रेवती रमण
मंसूर अली पार्क में मुस्लिम महिलाओं के विरोध-प्रदर्शन को समर्थन देने के आज समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद और राज्यसभा सदस्य रेवती रमण प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को अपना समर्थन दिया. इस अवसर पर राज्यसभा सदस्य रेवती रमण ने कहा कि CAA-NRC देश का काला कानून हैं और इसे सरकार को वापस लेना चाहिए साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से भी अपील की कि इस काले कानून को खारिज किया जाए.

प्रदर्शनकारियों से बात करते हुए रेवती रमण ने कहा कि हम इस देश के नागरिक हैं और आप लोगों के साथ साथ मैं भी कागज नहीं दिखाऊंगा. उन्होंने प्रदर्शनकारियों को भरोसा दिलाया कि समाजवादी पार्टी आप लोगों के साथ हैं और सीएए और एनआरसी जैसे काले कानून को सरकार को वापस लेना पड़ेगा. वहीं प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि बीजेपी सरकार द्वारा भारत की जनता पर थोपा गया यह कानून किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं है और सरकार इसे वापस ले. मौजूदा सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन चल रहे हैं.

वहीं बीजेपी के पदाधिकारियों का कहना है कि प्रदर्शन कर रहे लोगों को जानकारी नहीं है कि वास्तव में CAA-NRC क्या है? आपको बता दें कि CAA और NRC के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में शामिल लगभग 250 से अधिक अज्ञात प्रदर्शनकारियों पर खुल्दाबाद थाने में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया गया है. धारा 144 के उल्लंघन में दर्ज मुकदमे के बाद भी प्रदर्शनकारी मंसूर अली पार्क से हटने का नाम नहीं ले रहे हैं. वहीं सपा नेता रेवती रमण ने कहा कि यदि कोई गिरफ्तारी पुलिस द्वारा की जाती है तो सबसे पहले मैं गिरफ्तारी दूंगा.

ये भी पढ़ें- शाहीन बाग की तर्ज पर प्रयागराज में मुस्लिम महिलाओं ने CAA-NRC के खिलाफ संभाली मोर्चे की कमान...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 7:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर