लाइव टीवी

प्रयागराज में CAA के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन जारी, पीएम मोदी की अपील भी बेअसर
Allahabad News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 4, 2020, 3:52 PM IST
प्रयागराज में CAA के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन जारी, पीएम मोदी की अपील भी बेअसर
प्रयागराज के मंसूर अली पार्क में पिछले 24 दिन से धरने पर बैठी हैं महिलाएं

दिल्ली में जनसभा के दौरान पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने सीएए (CAA) को लेकर कहा था कि 'यह कानून किसी भी भारतीय की नागरिकता छीनने का नहीं है. उन्होंने विपक्षी दलों पर ये आरोप भी लगाया था कि मुस्लिम महिलाओं को बरगलाकर एक साजिश के तहत धरना कराया जा रहा है...

  • Share this:
प्रयागराज. दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen bagh) की तर्ज पर संगम नगरी (Sangam Nagari) प्रयागराज (Prayagraj) के रोशन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध में मुस्लिम महिलाओं का धरना लगातार 24 वें दिन भी जारी है. सीएए के खिलाफ (CAA Protest) मंसूर अली पार्क में धरना दे रहीं मुस्लिम महिलायें धरना खत्म करने को फिलहाल किसी भी सूरत में तैयार नहीं हैं. धरने पर बैठी महिलाओं का कहना है कि उन्हें पीएम नरेन्द्र मोदी की भी बात पर अब कोई भरोसा नहीं रह गया है. लिहाजा सीएए को वापस लिए बगैर अब ये धरना खत्म होने वाला नहीं हैं.

'संयोग नहीं प्रयोग'
गौरतलब है कि सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आयोजित चुनावी जनसभा में पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने सीएए को लेकर कहा था कि यह कानून किसी भी भारतीय की नागरिकता छीनने का नहीं है. उन्होंने विपक्षी दलों पर ये आरोप भी लगाया था कि मुस्लिम महिलाओं को बरगलाकर एक साजिश के तहत धरना कराया जा रहा है. पीएम मोदी ने सीएए के खिलाफ आन्दोलन को 'संयोग नहीं प्रयोग' भी करार दिया था. सीएए को लेकर पीएम मोदी के स्पष्टीकरण के बावजूद मुस्लिम महिलायें सीएए को काला कानून बता रही हैं.

मंसूर अली पार्क में 12 जनवरी से चल रहा है धरना

धरना दे रही मुस्लिम महिलाओं ने एक बार फिर से साफ़ किया है कि इसे वापस लिए बगैर उनका धरना अब खत्म होने वाला नहीं है. सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर प्रदर्शन कर रही मुस्लिम महिलायें मंसूर अली पार्क में पिछले 12 जनवरी से चौबीसों घंटे धरना दे रही हैं. इस धरने में उनके साथ बच्चे भी शामिल हैं, जबकि परिवार के पुरुष भी धरना स्थल पर लगी बैरीकेटिंग के बाहर डटे हुए हैं. सीएए के खिलाफ चलाये जा रहे इस आन्दोलन की कमान महिलाओं के हाथों में होने की वजह से पुलिस और प्रशासन भी धरना खत्म कराने में लाचार और बेबस नजर आ रहा है.

पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लगातार प्रदर्शनकारियों पर नजर बनाये हुए हैं. लेकिन धरना खत्म कराने को लेकर फिलहाल किसी जल्दबाजी के मूड में नजर नहीं आ रहे हैं. मुस्लिम महिलाओं का आरोप है कि धरने के 24 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस और प्रशासन का कोई अधिकारी उनकी मांगों को लेकर बातचीत करने धरना स्थल पर नहीं आया है. प्रदर्शनकारी मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि सीएए और एनआरसी जैसे कानून को खत्म करने को लेकर केंद्र सरकार की ओर से लिखित आश्वासन मिले बगैर अब ये धरना खत्म नहीं होगा.

ये भी पढ़ें- CAA Protest: मंसूर अली पार्क में प्रदर्शन कर रही महिलाएं बोलीं- 'ये लड़ाई जारी रहेगी'

 

अलीगढ़ के शाहजमाल में CAA के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन जारी, पुलिस ने किया केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 3:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर