प्रयागराज: फुटपाथ पर रहने को मजबूर नेशनल हॉकी प्लेयर तालिब को मिली बड़ी राहत, सीएम योगी से लगाई थी गुहार

फुटपाथ पर रहने को मजबूर नेशनल हॉकी प्लेयर तालिब को मिली बड़ी राहत

फुटपाथ पर रहने को मजबूर नेशनल हॉकी प्लेयर तालिब को मिली बड़ी राहत

हालांकि उन्हें हाईकोर्ट (High Court) से भी राहत नहीं मिली. जिसके बाद 18 मार्च को पीडीए (PDA) ने सामान बाहर निकाल कर आवास खाली करा लिया.

  • Share this:
प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में हॉकी (Hockey) का एक नेशनल प्लेयर के पूरे परिवार को प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा मकान खाली कराकर बेघर किए जाने की खबर न्यूज 18 पर प्रमुखता से दिखाये जाने का एक बार फिर से दमदार असर हुआ है. खबर पर राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और पीडीए के अध्यक्ष यानि कमिश्नर प्रयागराज संजय गोयल ने संज्ञान लिया है. जिसके बाद पीडीए के उपाध्यक्ष अंकित अग्रवाल ने गुरुवार को नेशनल हाॉकी प्लेयर मोहम्मद तालिब के पिता शाह आलम को अपने आफिस में बुलाकर मुलाकात की और बकाया किस्तें जमा करने के लिए आखिरी मौका देते हुए मकान की चाभी सौंप दी है.

घर की चाभी दोबारा मिलने पर नेशनल हॉकी प्लेयर मोहम्मद तालिब के परिवार को फौरी तौर पर राहत मिल गयी है और पिछले 8 दिनों से सड़क पर गुजर बसर कर रहा परिवार अब फिर से अपने घर में सामान वापस रख रहा है. नेशनल हॉकी प्लेयर मोहम्मद तालिब का कहना है कि पीडीए के उपाध्यक्ष अंकित अग्रवाल ने कहा है कि उन्हें मकान अपने नाम पाने के लिए अभी भी लगभग 17 लाख की रकम जमा करानी होगी. पीडीए अधिकारियों ने कहा है कि एक माह के अंदर उन्हे 70 से 75 फीसदी धनराशि जमा करानी होगी. जिसके बाद बची राशि के लिए पीडीए किस्त बांध देगा.

Youtube Video


UP News: होली से पहले सरकारी कर्मचारियों को सीएम योगी का बड़ा तोहफा, वेतन भुगतान का दिया आदेश
हालांकि मोहम्मद तालिब के पिता बिजली का काम करते हैं और परिवार की माली हालत भी ठीक नहीं है. इसलिए इस परिवार के लिए इतनी बड़ी रकम जुटा पाना भी आसान नहीं है. तालिब और उसके परिजनों ने घर बचाने के लिए पीएम मोदी और सीएम योगी से एक बार फिर से गुहार लगायी है. गौरतलब है कि करेली इलाके में अटाला के मजीदिया इस्लामिया इंटर कालेज के पास पीडीए की कार्पोरेशन कालोनी के सामने नेशनल हॉकी प्लेयर मोहम्मद तालिब का परिवार कई सालों से रह रहा था. तालिब के पिता शाह आलम को वर्ष 2000 में 25 हजार रुपये जमा करने पर तीन मंजिला पीडीए की बिल्डिंग में ग्राउंड फ्लोर पर आवास आवंटित हुआ था.

आर्थिक तंगी से परेशान हॉकी प्लेयर का परिवार

आवास आवंटित होने के बाद आर्थिक तंगी के चलते नौ साल तक किस्त जमा नहीं की जा सकी। जिसके बाद वर्ष 2009 में बकाया रकम ब्याज सहित एक लाख 55 हजार हो गई. जिसके बाद फरवरी 2009 में ओटीएस यानि वन टाइम सेटेलमेंट की स्कीम आयी. जिसके तहत दो किस्तों में एक लाख 27 हजार जमा कराने को पीडीए के अधिकारियों ने कहा. तालिब के पिता के मुताबिक पहली किस्त तो उन्होंने जमा कर दी. लेकिन दूसरी किस्त जमा करने में पीडीएके बाबू ने रिश्वत की मांग की. ऐसा न करने पर दूसरी किश्त जमा करने से इंकार कर दिया. इस मामले को वे उपभोक्ता फोरम में ले गए और तीन साल की लड़ाई के बाद हाईकोर्ट जाने का आदेश हुआ.



हासिल किए कई पदक

हालांकि उन्हें हाईकोर्ट से भी राहत नहीं मिली. जिसके बाद 18 मार्च को पीडीए ने सामान बाहर निकाल कर आवास खाली करा लिया. जिसके बाद परिवार सामान के साथ सड़क पर आ गया था। तालिब मध्य प्रदेश और पंजाब की ओर से 2014 और 2018 तक सब जूनियर, जूनियर और सीनियर नेशनल हॉकी चैंपियनशिप में प्रतिभाग कर चुके हैं. घर को बचाने के लिए तालिब जहां पीडीए के चक्कर लगा रहे थे. वहीं पीडीए के सामने उन्होंने मेडल पहनकर सर्टिफिकेट और हॉकी स्टिक के साथ धरना भी दिया है.

मदद की अपील

न्यूज 18 भी अपने दर्शकों से अपील करता है कि अगर आप इस होनहार युवा हॉकी प्लेयर की मदद करना चाहते हैं तो सीधे मोहम्मद ताबिल के बैंक अकाउंट में मदद भेजकर घर बचाने में उसकी मदद कर सकते हैं. धारक-- मोहम्मद तालिब (Mohd.Talib) बैंक का नाम-- पंजाब नेशनल बैंक अकाउंट नंबर--- 03302282000086 आईएफएससी कोड--- PUNB0093200

मोबाइल नम्बर--8543856575.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज