योगी सरकार MSME के जरिए 14 से 15 लाख लोगों को रोजगार देने की कर रही तैयारी: सिद्धार्थनाथ सिंह

यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Photo: News 18)
यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Photo: News 18)

यूपी के एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (Sidhartha Nath Singh) ने कहा है कि सरकार का टारगेट है कि 31 मार्च 2021 तक 20 लाख नई इकाइयों को खड़ा करने के लिए लोन उपलब्ध कराया जाएं. बैंकों के जरिए इन नई 20 लाख इकाईयों को लगभग 50 हजार करोड़ का लोन मुहैया कराया जाएगा.

  • Share this:
प्रयागराज. कोरोना काल में बेरोजगार हुए युवाओं को योगी सरकार (Yogi Government) सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (MSME) के जरिए रोजगार (Employement) मुहैया कराने की बड़ी तैयारी कर रही है. यूपी सरकार के प्रवक्ता और एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि आत्मनिर्भर योजना के तहत यूपी सरकार प्रदेश के 14 से 15 लाख लोगों को रोजगार देने की तैयारी कर रही है. उन्होंने कहा कि कोविड के संक्रमण काल में अनलॉक वन शुरू होने से लेकर अब तक एमएसएमई की नई इकाइयों को साढ़े 22 करोड़ का लोन बांटा जा चुका है.

31 मार्च तक  खड़ी होंगी 20 लाख नई इकाइयां

एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि सरकार का टारगेट है कि 31 मार्च 2021 तक 20 लाख नई इकाइयों को खड़ा करने के लिए लोन उपलब्ध कराया जाएं. उन्होंने कहा है कि बैंकों के जरिए इन नई 20 लाख इकाईयों को लगभग 50 हजार करोड़ का लोन मुहैया कराया जाएगा. जिससे 14 से 15 लाख रोजगार के नये अवसरों का सृजन होगा और बेरोजगार नौजवानों को इसका सीधे तौर पर लाभ भी मिल सकेगा. उनके मुताबिक इसके तहत कई योजनाओं के जरिये लोगों को स्वरोजगार से भी जोड़ा जा सकेगा.



विश्वकर्मा सम्मान योजना, मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना जैसी योजनाओं में जहां पहले बेरोजगारों को प्रशिक्षण दिया जाता है और उन्हें टूल किट प्रदान की जाती है. वहीं उन्हें अब मुद्रा योजना से जोड़कर आत्म निर्भर बनाने की भी कोशिश की जा रही है.
यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराध में आई कमी

इसके अलावा यूपी में महिलाओं और लड़कियों के साथ बलात्कार और हत्या की बढ़ी घटनाओं को लेकर विपक्ष के तीखे हमले झेल रही योगी सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि प्रदेश में महिला अपराधों में 40 से 45 फीसदी तक की कमी आई है. उन्होंने कहा है कि ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि एनसीआरबी के आंकड़े इसे खुद बयां कर रहे हैं.

हालांकि कैबिनेट मंत्री ने सफाई देते हुए कहा है कि सरकार आंकड़ों की ओर कतई नहीं जा रही है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार की महिला सुरक्षा को लेकर चिंता है कि आखिर महिलाओं के साथ एक भी अपराध क्यों हो रहे हैं? सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे अपराध पर काबू करने की दिशा में सरकार कानून के तहत सख्ती से कार्य भी कर रही है. इस मामले में योगी सरकार ने पुलिस को भी सख्त निर्देश भी दिए हैं कि महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों में शिथिलता न बरतें और सख्ती से कार्रवाई भी करें.

माफियाओं के खिलाफ जारी रहेगा एक्शन

वहीं प्रदेश के बड़े माफियों और बाहुबलियों के खिलाफ हो रही कार्रवाई को योगी सरकार के प्रवक्ता ने सही ठहराया. उन्होंने कहा है कि जिन माफियाओं ने जमीनों पर कब्जा करके और जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा हड़पकर अवैध इमारतें खड़ीं की हैं. उनके खिलाफ कार्रवाई इसी तरह आगे भी जारी रहेगी. उन्होंने कहा है कि योगी सरकार ने सत्ता में आते ही साफ कर दिया था कि क्राइम और करप्शन को लेकर ये जीरो टालरेंस वाली सरकार है. उसी के तहत प्रदेश के सभी छोटे से लेकर बड़े माफियाओं और बाहुबलियों के खिलाफ कार्रवाई भी हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज