एससी-एसटी एक्ट में बदलाव को लेकर सरकार के खिलाफ लामबंद हुआ सवर्ण समाज

प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन में कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा लाया जा रहा बिल सवर्णो व पिछड़ी जातियों के ऊपर सीधा हमला है और अगर यह बिल संसद से पास किया गया तो सवर्ण व ओबीसी समाज एकजुट होकर भारतीय जनता पार्टी का विरोध करेंगे

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 6, 2018, 11:11 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 6, 2018, 11:11 PM IST
अम्बेड़करनगर जिले में सोमवार को सवर्ण समाज ने एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के उद्देश्य से संसद में लाए जा रहे बिल पर एतराज करते हुए प्रदर्शन किया है. डा.अंबेडकर प्रतिमा से कलेक्ट्रेट तक पैदल मार्च करते हुए सवर्ण समाज ने केंद्र सरकार बिल के विरोध में जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा.

यह भी पढ़ें-SC/ST एक्ट में हुए वो बदलाव, जिनको लेकर मचा है बवाल

प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन में कहा गया है कि केंद्र सरकार द्वारा लाया जा रहा बिल सवर्णो व पिछड़ी जातियों के ऊपर सीधा हमला है और अगर यह बिल संसद से पास किया गया तो सवर्ण व ओबीसी समाज एकजुट होकर भारतीय जनता पार्टी का विरोध करेंगे. एक्ट के विरोध में जबरदस्त नारेबाजी करते हुए सवर्ण समाज के लोगो ने कहा कि उनका समाज इस बिल का हर स्तर पर विरोध करेगा.

यह भी पढ़ें-एससी/एसटी एक्‍ट में तत्‍काल गिरफ्तारी नहीं होगी: सुप्रीम कोर्ट

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने एससीएसटी एक्ट में यह आदेश दिया था कि इस एक्ट के तहत दर्ज होने वाले मुकदमे में आरोपी की तुरन्त गिरफ्तारी नही की जाएगी और विवेचना के उपरांत न्यायालय के आदेश पर आगे की कार्यवाई होगी, लेकिन केंद्र की मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को पलटने के लिए संसद में बिल लाने का निर्णय किया, जिसमें यह प्रावधान होगा कि एससीएसटी के तहत दर्ज मुकदमे में तुरंत आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

(रिपोर्ट-केके पांडेय, अम्बेडकरनगर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर