अंबेडकरनगरः नर्सिग होम में नवजात शिशु की मौत से हंगामा, इलाज में लापरवाही का आरोप

पीड़ित शमीम ने नर्सिंग होम पर नवजात के उपचार में लापरवाही का आरोप लगाया है जबकि नर्सिंग होम ने लापरवाही बरतने के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2018, 10:28 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2018, 10:28 PM IST
अम्बेडकरनगर जिले में मंगलवार को एक नर्सिंग होम में एक नवजात शिशु की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया. परिजनों ने नर्सिंग होम के चिकित्सकों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए नर्सिंग होम के बाहर जमकर नारेबाजी की. हंगामे की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ टाण्डा कोतवाली प्रभारी ने परिजनों को कार्यवाही का विश्वास दिलाया है.

यह भी पढ़ें-गंदे नाले के पास मिला जिंदा नवजात शिशु

रिपोर्ट के मुताबिक मामला टाण्डा नगर क्षेत्र के छज्जापुर में स्थित विश्वास मेडिकल सेंटर का है, जहां बीती रात नवजात शिशु की इलाज के दौरान मौत हो गई. मृतक के मामा शमीम ने बताया कि नवजात का जन्म गत 5 अगस्त को हुआ था, लेकिन चिकित्सकों की सलाह के बाद बीमार नवजात अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

मामा के मुताबिक भर्ती के दौरान नर्सिंग होम में 3000 रुपए जमा करवाए गए और  बीती रात 6 अगस्त को चिकित्सकों ने दोबारा 5000 रुपए और मांगे. उन्होंने बताया कि 5000 रुपयों का इंतजाम कर जब परिजन अस्पताल पहुंचे तब उन्हें नवजात की मौत की सूचना दी गई.

यह भी पढ़ें-नवजात शिशु की मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

पीड़ित शमीम ने नर्सिंग होम पर नवजात के उपचार में लापरवाही का आरोप लगाया है जबकि नर्सिंग होम ने लापरवाही बरतने के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है. मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने नर्सिंग होम में मरीजों के एडमिट करने और पैसा जमा करने का रिकार्ड तलब किया, तो स्टॉफ ने बताया कि नर्सिंग होम में मरीजों की इंट्री दर्ज नहीं की जाती है. परिजनों की तहरीर के बाद पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गई है.

(रिपोर्ट-केके पांडेय, अंबेडकरनगर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर