लोहिया गांव में शौचालय निर्माण में 43 लाख का घोटाला, प्रधान-पंचायत सेक्रेटरी पर FIR

उत्तर प्रदेश के एक लोहिया गांव में शौचालय निर्माण में 43 लाख से अधिक के घोटाले का मामला सामने आया है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 13, 2017, 8:34 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 13, 2017, 8:34 PM IST
उत्तर प्रदेश के एक लोहिया गांव में शौचालय निर्माण में 43 लाख से अधिक के घोटाले का मामला सामने आया है. सरकार की तरफ से गांव में शौचालय निर्माण के लिए आए सारे पैसों को ग्राम प्रधान और अधिकारियों की मिलीभगत से बंदरबांट कर लिया गया. जबकि पूरे गांव में एक भी शौचालय का निर्माण नहीं हुआ. इस मामले में एडीओ की तहरीर पर ग्राम प्रधान और पंचायत सेक्रेटरी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, मामला अंबेडकर नगर जिले के अकबरपुर ब्लॉक के संजरपुर लोहिया गांव का है. सपा सरकार के दौरान वर्ष 2014-15 में लोहिया गांव रहे संजरपुर में 415 से अधिक शौचालयों का निर्माण होना था.  जिसका पैसा ग्राम प्रधान और पंचायत सिक्रेटरी के संयुक्त खाते में विकास भवन से भेज दिया गया. लेकिन गांव में महज दिखावे के लिए कुछ ही आधे अधूरे शौचालयों का ही निर्माण हो पाया. इतना ही नहीं संजरपुर लोहिया गांव की हालत बद से बदत्तर हो गई. गांव में ना तो ठीक से सड़क है और ना ही पानी निकलने के लिए कोई नाली.

ग्रामीण जिया राम की माने तो इस गांव में कोई काम हुआ ही नहीं है. बल्कि लोहिया गांव के नाम पर आए पैसों की लूट हुई है. वहीं ग्रामीण मुनव्वर ने बताया कि गांव में शौचालय बनवाने के लिए जितना भी पैसा आया किसी ग्रामीण को नहीं मिला और ना ही कोई शौचालय बना.

जब मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से हुई तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया. संजरपुर लोहिया गांव को ओडीएफ घोषित करने की बात जब सामने आई तो खलबली मच गई. आनन-फानन में इसकी जांच कराई गई तो पूरे गांव में महज 45 शौचालय पाए गए और वो भी आधे बने हुए. वहीं कुछ शौचालयों के नाम पर सिर्फ गड्ढे ही बने थे.

मामले को गंभीरता से लेते हुए मौजूदा सीडीओ ओपी आर्य ने एडीओ अकबरपुर को आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने का आदेश दिया. एडीओ की तहरीर पर अकबरपुर कोतवाली में ग्राम प्रधान और पंचायत सेक्रेटरी के खिलाफ 43 लाख 40 हजार रुपये के गबन का मुकदमा दर्ज किया गया है. वही इस गबन के मामले को लेकर जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कहा की जितनी भी धनराशि का दुरुपयोग हुआ है, सबकी रिकबरी कराई जाएगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर