कला का पेपर देते फ्लाइंग स्‍क्‍वायड ने पकड़ा मुन्‍ना भाई

अम्बेडकर नगर जिले में नक़ल माफ़ियाओ के हौसले बुलंद है। जिले में यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान इसकी सुचिता को तार-तार करने वाले ऐसे कई मामले अभी तक सामने आ चुके है। ऐसे ही एक मामले में बुधवार को हाई स्कूल के कला विषय का पेपर देता हुआ एक युवक फ्लाइंग स्क्वायट के पकड़ा है, जिसके विरुद्ध जिला विद्यालय निरीक्षक ने बेवाना थाने में तहरीर दी है।

kk pandey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 12, 2015, 2:44 PM IST
कला का पेपर देते फ्लाइंग स्‍क्‍वायड ने पकड़ा मुन्‍ना भाई
अम्बेडकर नगर जिले में नक़ल माफ़ियाओ के हौसले बुलंद है। जिले में यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान इसकी सुचिता को तार-तार करने वाले ऐसे कई मामले अभी तक सामने आ चुके है। ऐसे ही एक मामले में बुधवार को हाई स्कूल के कला विषय का पेपर देता हुआ एक युवक फ्लाइंग स्क्वायट के पकड़ा है, जिसके विरुद्ध जिला विद्यालय निरीक्षक ने बेवाना थाने में तहरीर दी है।
kk pandey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 12, 2015, 2:44 PM IST
अम्बेडकर नगर जिले में नक़ल माफ़ियाओ के हौसले बुलंद है। जिले में यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान इसकी सुचिता को तार-तार करने वाले ऐसे कई मामले अभी तक सामने आ चुके है। ऐसे ही एक मामले में बुधवार को हाई स्कूल के कला विषय का पेपर देता हुआ एक युवक फ्लाइंग स्क्वायट के पकड़ा है, जिसके विरुद्ध जिला विद्यालय निरीक्षक ने बेवाना थाने में तहरीर दी है।

मामला बेवाना थानाक्षेत्र के बनवारी लाल चन्द्रिका प्रसाद इण्टर कॉलेज का है। जहां पर फ्लाइंग स्क्वायड ने हाई स्कूल के कला विषय का पेपर देते हुए अब्दुल्ला नाम एक मुन्ना भाई को पकड़ा है। आपको बता दें कि ये मुन्ना भाई मशरूफ नाम के छात्र के स्थान पर पेपर दे रहा था।

वहीं जिला विद्यालय निरीक्षक ने इस मामले में मुन्ना भाई को पुलिस के हवाले कर दिया है और साथ ही इस मुन्ना भाई के खिलाफ बेवाना थाने में तहरीर भी दिया है। फिलहाल पुलिस का कहना है तहरीर के अनुसार जो भी अपराध बनेगा उसके अनुसार आगे की कार्यवाही की जाएगी।

जिले के आये दिन तरह-तरह से यूपी बोर्ड परीक्षाओं में नक़ल माफियाओं के द्वारा कराई जा रही नक़ल के मामले सामने आने पर शिक्षक नेता भी इसकी निन्दा कर रहे है। उनका कहना है कि जिस तरीके से जिले में एक के बाद एक नक़ल के मामले सामने आ रहे है उससे शिक्षा विभाग पर प्रश्न चिन्ह लग रहा है। ऐसा नहीं होने चाहिए। इससे शासन-प्रशासन की मंशा तार-तार हो रही है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर