तंजानिया से अमेठी पहुंचा अभयराज का शव, परिवार की गुहार पर स्मृति ईरानी ने विदेश मंत्री को लिखा था पत्र
Amethi News in Hindi

तंजानिया से अमेठी पहुंचा अभयराज का शव, परिवार की गुहार पर स्मृति ईरानी ने विदेश मंत्री को लिखा था पत्र
अमेठी से सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (File Photo)

अमेठी (Amethi) से सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने मृतक के माता-पिता की गुहार सुनते हुए और विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखकर सहायता का अनुरोध किया था. आज तंजानिया से शिक्षक का शव अमेठी पहुंचा. शव के साथ मृतक की पत्नी और बेटा भी वापस आए.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) के रहने वाले एक युवक अभयराज की दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के तंजानिया (Tanzania) में मलेरिया बीमारी से मौत हो गई थी. अब करीब 10 दिन बाद अभयराज का शव अमेठी पहुंच गया है. बता दें शव को वापस लाने के लिए बेबस पिता और परिजनों ने सांसद स्मृति ईरानी को पत्र भेजकर अपील की थी. न्यूज 18 ने इस खबर को प्रमुखता से उठाया, जिसके बाद सांसद स्मृति ईरानी ने मृतक के बेबस माता-पिता की गुहार सुन ली और विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखकर सहायता का अनुरोध किया. आज तंजानिया से शिक्षक का शव अमेठी पहुंचा. शव के साथ मृतक की पत्नी और बेटा भी वापस आए.

31 मई को मिली थी मौत की सूचना

दरअसल मामला अमेठी थाना क्षेत्र के कोरारी गिरिधरशाह का है. यहां के रहने वाले अभयराज सिंह, दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया शहर में खेल शिक्षक थे. 31 मई को रात्रि 8 बजे फोन पर सूचना आई कि मलेरिया से ग्रसित अभयराज सिंह की मृत्यु हो गई. देश मे लॉकडाउन (Lockdown) था, ऐसे में शव को स्वदेश लाने के लिए परिजन चिंतित और परेशान थे.



पिता के पत्र पर स्मृति ईरानी ने विदेश मंत्री को लिखा 
उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से गुहार लगाई. स्मृति ईरानी पीड़ित पिता के पत्र के बाद विदेश मंत्री को पत्र लिखकर शव को स्वदेश भेजवाने का आग्रह किया था. इसके बाद तंजानिया के स्कूल मैनेजमेंट ने तंजानिया सरकार ने भारत सरकार के साथ वार्ता कर शव अमेठी पहुंच गया है.

खेल शिक्षक थे अभयराज सिंह

दरअसल अमेठी के स्थानीय ब्लॉक के गांव कोरारी गिरधरशाह निवासी रमेशचंद्र सिंह का पुत्र अभयराज सिंह (38) दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया स्थित एक इंडियन स्कूल दार ईएस सलाम में खेल शिक्षक थे. अभयराज की पत्नी रुचि सिंह भी इसी स्कूल में संस्कृत विषय की शिक्षिका हैं. शिक्षक दंपती के साथ उनका पुत्र देव आदित्य प्रताप सिंह (9) भी वहीं रहता है. तंजानिया में अभयराज की अचानक तबियत बिगड़ी. विद्यालय के सहयोगियों एवं पत्नी द्वारा उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 31 मई की रात उनकी मौत हो गई. घटना की सूचना मिलने के बाद गांव में रह रहे पिता रमेशचंद्र, माता पुष्पा देवी, छोटे भाई अनुराग सिंह सहित अन्य परिवारीजनों का रो-रोकर हाल बेहाल है.

ये भी पढ़ें:

अमेठी के युवक की तंजानिया में मौत, स्मृति ईरानी ने विदेश मंत्री को लिखा पत्र

UP Weather Forecast: बढ़ी उमस भरी गर्मी, अगले हफ्ते शुरू होगा बारिश का सिलसिला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading