स्मृति ईरानी की सक्रियता से अमेठी दौरे पर बदले-बदले से नजर आए राहुल गांधी!

अमेठी का यह दौरा राहुल गांधी के बदले हुए मिजाज को दर्शाता है. वे एक अनुभवी राजनेता की तरह जनता के बीच गए या फिर यूं कहें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की सक्रियता ने राहुल गांधी को खुद को बदलने पर मजबूर कर दिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 6, 2018, 8:38 AM IST
स्मृति ईरानी की सक्रियता से अमेठी दौरे पर बदले-बदले से नजर आए राहुल गांधी!
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (file photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 6, 2018, 8:38 AM IST
कांग्रेस अध्यक्ष और अमेठी सांसद राहुल गांधी का दो दिवसीय दौरा गुरुवार को समाप्त हो गया. अपने अमेठी प्रवास के दौरान राहुल गांधी काफी बदले-बदले नजर आए. गांव-गांव घूमकर वे लोगों से मिले और उनका दुख-दर्द समझने का प्रयास किया. दो दिनों में राहुल ने करीब आधा दर्जन गांवों का औचक निरीक्षण किया. हर कोई सांसद को अपने बीच पाकर खुश हो गया. किसी ने मदद मांगी तो किसी ने क्षेत्र की समस्या से राहुल को रुबरु कराया.

कुल मिलाकर कहा जाए तो अमेठी सांसद दो दिवसिय दौरे में काफी बदले-बदले से नजर आए. या फिर यूं कहें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की सक्रियता ने राहुल गांधी को खुद को बदलने पर मजबूर कर दिया. वजह कुछ भी हो, लेकिन राहुल गांधी ने इस दौरे में अमेठी की जनता को पूरा समय दिया और मीडिया से दूरी बनाए रखी.

यह भी पढ़ें: अमेठी में दिखा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का 'गो प्रेम'

मिशन 2019 की तैयारी में जुटे राहुल ने दौरे के पहले दिन फुरसतगंज के नंद लीला उत्सव लान में बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओ को संबोधित किया. इस दौरान जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं को बूथ मजबूत करने की रणनीति समझाई तो वहीं सरकार पर जमकर हमला बोला.

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने बूथ स्तरीय और वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और शक्ति प्रोजेक्ट को लॉन्च किया. उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए एकजुट होकर काम करने की सलाह दी. राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी की बुलेट ट्रेन पर भी चुटकी लेते हुए कहा कि ये बुलेट ट्रेन नहीं मैजिक ट्रेन है जो कभी नहीं चलेगी. बुलेट ट्रेन कांग्रेस की सरकार में आएगी.

यह भी पढ़ें: गुजरात के 'शिवभक्त' राहुल गांधी का अमेठी के मदरसे में लंच बना चर्चा का विषय

वहीं अमेठी को अपना घर परिवार कहने वाले राहुल गांधी अपने क्षेत्र में भ्रमण के दौरान मुंशीगंज में कांग्रेस नेता राम मूर्ति शुक्ला के घर गए और कुछ समय परिवार के लोगों के साथ गुजारा. गुरुवार को राम मूर्ति शुक्ला की पौत्री की शादी थी. कांग्रेस अध्यक्ष ने गौरीगंज के कौहार में निर्माणाधीन सैनिक स्कूल का भी निरीक्षण किया. उसके बाद वह कांग्रेस सेवादल के वरिष्ठ नेता बैजनाथ तिवारी के घर गए और उनकी पत्नी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की.

अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दूसरे दिन राहुल अपना वादा निभाते हुए शहीद अनिल कुमार मौर्या के घर नरैनी गांव गए और परिजनों से मुलाकात कर परिवार को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. अनिल दो माह पहले 20 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलवादियों के हमले में मारे गए थे. राहुल ने उसी समय फोन पर परिजनों से बातचीत के दौरान वादा किया था कि वह जब अमेठी आएंगे तो मुलाकात जरूर करेंगे.

अमेठी: गेहूं बेचने के इंतजार में दम तोड़ने वाले किसान अब्दुल सत्तार के घर पहुंचे राहुल गांधी

गौरीगंज स्थित जनसम्पर्क कार्यालय से निकलने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने क्षेत्र में सांसद निधि से बनी पांच सड़कों का लोकार्पण किया. इस दौरान राहुल ने जर्जर अमेठी बाईपास का निरीक्षण भी किया. पूरे दौरे में राहुल गांधी गौरीगंज कांग्रेस कार्यालय में आए फरियादियों और पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनते रहे और उनके समाधान का भरोसा भी दिलाया. अमेठी का यह दौरा राहुल गांधी के बदले हुए मिजाज को दर्शाता है. वे एक अनुभवी राजनेता की तरह जनता के बीच गए.

(रिपोर्ट: पप्पू पांडेय)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर