अपना शहर चुनें

States

'दीदी स्मृति ने जो किया है, वह कोई और नहीं कर सकता'

सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा देती स्मृति ईरानी (File Photo)
सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा देती स्मृति ईरानी (File Photo)

स्मृति ने सुरेंद्र सिंह की मां की गोद में अपना सिर रखकर कहा कि आज से मैं ही आपका बेटा हूं. स्मृति ने जहां सुरेंद्र के बड़े भाई नरेंद्र के पैर छूकर बहन होने का अहसास कराया, तो वहीं दिवंगत कार्यकर्ता की पत्नी को बांहों में भर अपनत्व का मरहम लगाने की भी कोशिश की.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के अमेठी में शनिवार देर रात स्मृति ईरानी के करीबी बीजेपी कार्यकर्ता और बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई. बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या की खबर जैसे ही अमेठी की नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी को लगी, वो अगले दिन सुबह ही अमेठी पहुंच गईं. रविवार को दिवंगत पूर्व प्रधान के घर पहुंचीं स्मृति ईरानी पारिवार के सदस्य की तरह शोक में शामिल हुईं. उन्होंने दिवंगत सुरेंद्र सिंह के चरणों में अपना शीश रख दिया.

इसके बाद स्मृति ने सुरेंद्र सिंह की मां की गोद में अपना सिर रखकर कहा कि आज से मैं ही आपका बेटा हूं. स्मृति ने जहां सुरेंद्र के बड़े भाई नरेंद्र के पैर छूकर बहन होने का अहसास कराया, वहीं दिवंगत कार्यकर्ता की पत्नी को बांहों में भर अपनत्व का मरहम लगाने की भी कोशिश की. शादीशुदा बेटी पूजा व प्रतिमा के सिर पर स्मृति ने अपना हाथ फेरा और कहा कि हर पल साथ रहेगी, तेरे पापा की ये दीदी.

दिवंगत कार्यकर्ता की पत्नी को सांत्वना देती स्मृति ईरानी (File Photo)




इसके बाद जब सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा निकली तो स्मृति उसमें शामिल हुईं और अर्थी को कंधा भी दिया. स्मृति की सक्रियता और इस तरह से अपने कार्यकर्ता के लिए जूझने का जज्बा देख अमेठी की जनता बहुत कुछ सोचने पर विवश है. इस सबकी चर्चा सोमवार को भी पूरे दिन आसपास के गांवों और घरों में होती रही.
सांसद के अपने कार्यकर्ता व उसके परिवार के प्रति सजग व जिम्मेदार होने की झलक देख बीजेपी ही नहीं बल्कि दूसरे दलों के लोग भी प्रभावित हैं. सबकी जुबान पर बस एक ही बात है- 'दीदी स्मृति ने जो किया है वह कोई और नहीं कर सकता है.'

स्मृति ईरानी (File Photo)


पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के गांव बरौलिया में तो इसी बात की चर्चा है कि दीदी ने वादा किया है तो वह अपना फर्ज जरूर निभाएंगी. वहीं, जायस के अशोक मौर्य कहते हैं कि दीदी ने अपने कार्यकर्ता को जिस तरह सम्मान दिया, उसने सभी कार्यकर्ताओं के मन में उनके प्रति आस्था व विश्वास को और मजबूत बना दिया है. वहीं बछलाही के रणवीर सिंह ने कहा कि दीदी ने अपने सभी रिश्तों का जिस तरह से एक साथ निर्वहन किया है, एक मिसाल है.

बीजेपी जिलाध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी कहते हैं कि दीदी स्मृति ईरानी के दिल में अमेठी के एक-एक कार्यकर्ता के लिए सम्मान का भाव है. वह अमेठी को अपना परिवार मानती हैं. यहां के हर सुख-दुख को अपना समझती हैं.

ये भी पढ़ें--

यूपी: BSP नेता की गोली मारकर हत्या, मिठाई के डिब्बे में पिस्टल लेकर आये थे बदमाश

स्टेज पर BJP जिलाध्यक्ष पर भड़के वरुण गांधी, कहा- अपना फोन बंद कर लीजिए

यूपी: बंद फ्लैट से आ रही थी भयंकर बदबू, पुलिस ने ताला तोड़ा तो चौंक गए पड़ोसी

सपा के पूर्व सांसद कमलेश बाल्मीकि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

बदमाशों ने की प्रेमी जोड़े की पिटाई, युवती से रेप की कोशिश, VIDEO वायरल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज