लाइव टीवी

बिना इजाजत के छापा स्मृति ईरानी का विज्ञापन, सांसद प्रतिनिधि ने दर्ज कराया मुकदमा
Amethi News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 22, 2020, 7:16 PM IST
बिना इजाजत के छापा स्मृति ईरानी का विज्ञापन, सांसद प्रतिनिधि ने दर्ज कराया मुकदमा
अमेठी में एक विज्ञापन में बिना अनुमति सांसद स्मृति ईरानी की तस्वीर छापने के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है. (File Photo)

अमेठी एसपी ख्याति गर्ग ने बताया कि इस पूरे मामले पर प्रथम दृष्टया साईं ग्रीन सिटी के एमडी वीरेन्द्र द्विवेदी, उनके पार्टनर सोनू यज्ञ सैनी, वहां के प्रधान अभय प्रताप सिंह के अलावा, क्षेत्रीय स्तर पर पत्रकार, जिन्होंने इस पूरे विज्ञापन को डिजाइन किया और पब्लिश करवाया के खिलाफ जांच चल रही है.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमेठी (Amethi) में एक दैनिक अखबार में प्रॉपर्टी डीलिंग का विज्ञापन (Advertisement) छपने के बाद सियासत शुरू हो गई है. मामले में अमेठी सांसद स्मृति ईरानी के पीआरओ विजय गुप्ता की शिकायत पर पुलिस अधिक्षक ख्याति गर्ग ने जगदीशपुर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. पीआरओ विजय गुप्ता ने विज्ञापन के माध्यम से स्मृति ईरानी की छवि खराब करने का आरोप लगाया है. जगदीशपुर थाने में 420 समेत कई धाराओं में पुलिस ने अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुट गई है.

मामले में अमेठी एसपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले की जानकारी मीडिया को दी. उन्होंने बताया कि एक दिन पहले जगदीशपुर के साई ग्रीन सिटी से जुड़े प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा दिये गए विज्ञापन में सांसद स्मृति ईरानी, राज्यमंत्री सुरेश पासी और भाजपा जिलाध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी की फोटो लगाई गई. विज्ञापन में लोगों से प्लॉट खरीदने की अपील की गई है. एसपी ने बताया कि अमेठी सांसद महोदया के प्रतिनिधि की शिकायत के बाद हमने अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया और कई लोगों से पूछताछ चल रही है.

कंपनी के एमडी सहित कई लोगों से पूछताछ
एसपी ने बताया कि इस पूरे मामले पर प्रथम दृष्टया साईं ग्रीन सिटी के एमडी वीरेन्द्र द्विवेदी, उनके पार्टनर सोनू यज्ञ सैनी, वहां के प्रधान अभय प्रताप सिंह के अलावा, क्षेत्रीय स्तर पर पत्रकार, जिन्होंने इस पूरे विज्ञापन को डिजाइन किया और पब्लिश करवाया के खिलाफ जांच चल रही है. इसके अलावा सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट की भी जांच चल रही है. एसपी ने बताया कि सभी से गहनता से पूछताछ की जा रही है.

एनओसी को लेकर डीएम कार्यालय से पत्राचार
एसपी ने बताया कि किसी भी पब्लिक या प्राइवेट फिगर को उसके बिना पूर्व अनुमति, उसकी बिना सहमति के उसके नाम पदनाम या फोटो को किसी भी विज्ञापन में पब्लिश करना गैरकानूनी है. एसपी ने कहा कि मामले में साईं ग्रीन सिटी के लिए प्लॉटिंग के संबंध में और प्लॉटिंग के एनओसी के संबंध में डीएम कार्यालय को उनके द्वारा पत्राचार किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:वाराणसी: CAA समर्थन में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ली ये शपथ

झांसी: छात्रा के साथ दो युवकों ने किया गैंगरेप, FIR दर्ज, आरोपी गिरफ्त से दूर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेठी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 4:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर