अमेठी: अरबों की हेराफेरी करने वाले एनी बुलियन कम्पनी के मालिक अजीत कुमार गुप्ता की ढाई करोड़ की संपत्ति जब्त

Amethi: एनी बुलियन कंपनी के मालिक की संपत्ति सील

UP News: अमेठी की गौरीगंज कोतवाली में धारा 2/1 गैंगेस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था. पिछले कई महीनों से अजीत गुप्ता जेल में बंद है.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) जनपद में चिटफंड कंपनी बनाकर अरबों की हेराफेरी करने वाले एनी बुलियन कंपनी पर अमेठी पुलिस (Police) ने शिकंजा कस दिया है. एनी बुलियन कंपनी के मालिक अजीत गुप्ता की ढाई करोड़ से अधिक की संपत्ति को पुलिस ने मंगलवार को सील कर दिया. 60 लाख कीमत की चार गाड़ियों को भी पुलिस ने सील किया है. इस दौरान ट्रेनी क्षेत्राधिकारी रवि सिंह भी मौजूद रहे. गौरीगंज कोतवाली और कमरौली पुलिस की टीम ने संपत्ति को सील किया. आपको बता दें कि अमेठी की गौरीगंज कोतवाली में धारा 2/1 गैंगेस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था. पिछले कई महीनों से अजीत गुप्ता जेल में बंद है. अमेठी के कमरौली स्थित यूपीएसआईडीसी आवासीय क्षेत्र में अजीत गुप्ता की फैक्ट्री और ऑफिस है.

अमेठी में अपराध और अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान में अमेठी पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई की है. ट्रेनी पुलिस उपाधीक्षक रवि सिंह, गौरीगंज कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संजय सिंह और थानाध्यक्ष कमरौली शिवकान्त पाण्डेय ने पुलिस टीम के साथ एनी बुलियन कम्पनी संचालक अजीत कुमार गुप्ता पुत्र भगवती प्रसाद गुप्ता निवासी कुमारगंज थाना कुमारगंज, अयोध्या की संपत्तियों में एक मकान प्लाट नं0 डी- 07 (1800 वर्गमीटर) एक मंजिला पक्का मकान और दूसरा मकान प्लाट नं. बी-13 (318 वर्गमीटर) दो मंजिला पक्का मकान (कीमत लगभग 02 करोड़ 75 लाख रुपये) को धारा 14(1) यूपी गिरोहबन्द अधिनियम के अन्तर्गत जब्त किया गया.

पुलिस के मुताबिक, अभियुक्त अजीत कुमार गुप्ता एक शातिर किस्म का धोखेबाज जालसाज अपराधी है. जिसके द्वारा उक्त संपत्ति गैंग बनाकर आपराधिक कृत्यों से अर्जित अवैध धन से औद्योगिक क्षेत्र जगदीशपुर में अचल संपत्ति बनाई गई है. अभियुक्त द्वारा गिरोह बनाकर आर्थिक लाभ के लिए सुनियोजित तरीके से एनी बुलियन नाम से फर्जी चिट फंड कम्पनी खोलकर जनता को अधिकतम ब्याज देने का लालच देकर लोगों से बड़ी धनराशि एजेन्ट के माध्यम से कम्पनी में जमा कराकर जमा रुपयों को हड़पकर कम्पनी को बंदकर फरार होकर अपराध करता रहता है. इस पूरे मामले पर गौरीगंज कोतवाली पुलिस द्वारा विधिक कार्रवाई की गई.

वहीं, पूरी कार्रवाई पर ट्रेनी क्षेत्राधिकारी रवि सिंह ने बताया कि एनी बुलियन कंपनी पर गौरीगंज कोतवाली में एक मुकदमा दर्ज हुआ था. मुकदमे की विवेचना गौरीगंज कोतवाली पुलिस कर रही थी और विवेचना से संबंधित जांच रिपोर्ट अमेठी जिलाधिकारी को उपलब्ध कराई गई थी, जिसके बाद अमेठी जिलाधिकारी अरुण कुमार ने इन संपत्तियों को सील करने का आदेश दिया था. जिलाधिकारी के आदेश के क्रम में कमरौली थाना क्षेत्र में आवासीय मकान को कुर्क किया गया. साथ ही फोर व्हीलर गाड़ियों को भी सील किया गया है. अपराध से अर्जित की गई संपत्तियों को सील कर दिया गया है. संपत्तियों के साथ फोर व्हीलर गाड़ियों को भी सील किया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.