अमेठी का राधेश्याम सऊदी अरब में बना अब्दुल्ला, जानिए क्यों पहुंचा जेल?

पत्नी मालती ने बताया कि उसके पति करीब ढाई महीने पहले सऊदी अरब से वापस आये और सभी को लेकर जौनपुर गए. यहां और बच्चों का एडमिशन मदरसे में करवा दिया और पूरे परिवार को नमाज पढ़ने के लिए मजबूर करने लगे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 17, 2018, 4:29 PM IST
अमेठी का राधेश्याम सऊदी अरब में बना अब्दुल्ला, जानिए क्यों पहुंचा जेल?
पुलिस गिरफ्त में आरोपी राधेश्याम उर्फ अब्दुल्ला. Photo: News 18
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 17, 2018, 4:29 PM IST
उत्तर प्रदेश के वीवीआईपी जिले में शुमार अमेठी में धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है. यहां एक शख्स में सऊदी अरब जाकर खुद का धर्म परिवर्तन किया. इसके बाद वह अपनी पत्नी और बच्चों का भी धर्म परिवर्तन कराने का दबाव बनाने लगा. परिवार ने विरोध कर दिया और मामला पुलिस तक पहुंच गया. पुलिस ने आरोपी पति को जौनपुर से गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की जांच कर रही है.

मामला शिवरतनगंज थानाक्षेत्र के आदिल का पुरवा गांव का है. यहां का निवासी राधेश्याम कोरी करीब 6 साल पहले कमाने के लिए सऊदी अरब गया. सऊदी अरब में ही उसने मोबाइल पर कुरान की आयतें पढ़ीं, जिसके बाद मुस्लिम धर्म के प्रति लगाव बढ़ा और वहीं उसने मुस्लिम धर्म अपना लिया. उसने अपना नाम अब्दुल्ला रखा लिया.

मदरसे में बच्चों का कराया एडमीशन तो पत्नी ने किया विरोध

करीब ढाई महीने पहले अब्दुल्ला अपने घर आदिल का पुरवा वापस लौटा. यहां से वह पत्नी समेत अपने तीन बच्चों को लेकर जौनपुर के खेतासराय पहुंचा. यहां उसने अपने तीनों बच्चों का दाखिला एक मदरसे में करवा दिया. बच्चों का दाखिला मदरसे में होने के बाद उसकी पत्नी मालती ने विरोध करना शुरू कर दिया. आरोप है कि इसके बाद अब्दुल्ला ने अपने पूरे परिवार को जमकर पीटा और सभी को एक घर मे बंधक बना लिया.

यह भी पढ़ें: मेरठ में धर्म परिवर्तन की बड़ी साजिश, पादरी की जमकर पिटाई

यही नहीं अब्दुल्ला लगातार अपनी पत्नी और बच्चों पर नमाज पढ़ने के लिए दबाव बनाने लगा. नमाज न पढ़ने पर अपने परिवार की पिटाई शुरू कर दी. इसके बाद अब्दुल्ला जैसे ही किसी काम से बाहर गया, उसकी पत्नी फरार होकर अपने मायके पहुंची. यहां मायके वाले उसे लेकर स्थानीय भाजपा विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह के पास पहुंचे.

बेटी बोली- पीटकर जबरन नमाज पढ़ने को कहते थे पिता

इसके बाद अब्दुल्ला की पत्नी मालती की मदद के लिए स्थानीय विधायक आगे आए और पत्नी की शिकायत के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पति की तलाश में जुट गयी. मुकदमा दर्ज होने के बाद हरकत में आई शिवरतनगंज पुलिस ने एक टीम जौनपुर भेजी, जिसके बाद आरोपी पति को हिरासत में लिया गया. वहीं मदरसे के पढ़ रहे बच्चों को कब्जे में लेकर थाने पहुंचे.

यह भी पढ़ें: बागपत: छुआछूत से तंग आकर दर्जन भर दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म

मालती ने बताया कि उसके पति करीब ढाई महीने पहले सऊदी अरब से वापस आये और सभी को लेकर जौनपुर गए. यहां और बच्चों का एडमिशन मदरसे में करवा दिया और पूरे परिवार को नमाज पढ़ने के लिए मजबूर करने लगे. जब उसने विरोध किया तो मेरे साथ पूरे परिवार को पीटा लेकिन किसी तरह वहां से भागकर विधायक के पास आई. विधायक के मदद से ही बच्चे वापस आये जो आज अपनी नानी के पास सुरक्षित हैं. वहीं आरोपी की बेटी ने कहा कि उसके पिता उसे पीटकर जबरन नमाज पढ़ने के लिए कहते थे. जब हम उनकी बात नहीं मानते थे तो पूरे परिवार को मारते थे.

वहीं इस पूरे मामले पर अमेठी की तिलोई विधानसभा से बीजेपी विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह ने कहा कि हम सब लोग इसकी मदद कर रहें है. जौनपुर जिले के खेतासराय थाना क्षेत्र से राधेश्याम उर्फ अब्दुल्ला बन गया है. आज हिन्दुत्व को लेकर जिस तरह से बातें हो रही है, ऐसे में ये काफी सोचने का विषय है. परिवार के अन्य लोगों की पूरी मदद की जाएगी.

चाचा बोले- राधेश्याम के बच्चे फोन कर बताते थे आपबीती

वहीं राधेश्याम के भाई आशाराम ने कहा कि हमारे भाई दो महिने पहले सऊदी अरब से आए हैं. कुछ दिन बाद पूरे परिवार को लेकर जौनपुर चले गए. कुछ दिन बाद बच्चों का फोन आया कि पापा हम लोगों को जबरदस्ती नमाज पढ़ाते हैं और मारते-पीटते हैं. उसके बाद पुलिस में शिकायत की गई. अब बच्चे भी वापस आ गये.

पूरे मामले पर अमेठी के पुलिस अधीक्षक कुंतल किशोर ने कहा कि राधेश्याम शिवरतनगंज थानाक्षेत्र का रहने वाला था. वहां जानकारी हुई कि वो सऊदी अरब कमाने गया था. पता चला कि वहां इसने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया है. साथ ही अब पत्नी और बच्चों पर भी दबाव बना रहा था और इस मामले पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आरोपी को गिरफ्तार करके न्यायालय भेजा गया है. जांच में एलआईयू इंस्पेक्टर को लगाया गया है.

(रिपोर्ट: पप्पू पांडेय)

ये भी पढ़ें:

अमेठी में तालाब से निकली 'मुगलकालीन' देवी की मूर्ति, दर्शन को उमड़ी भीड़

इश्क में अमेठी का दामाद बना था मुन्ना बजरंगी, मौत के बाद ससुराल में पसरा है सन्नाटा
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर