अपना शहर चुनें

States

स्मृति ईरानी का अमेठी में होगा अपना आशियाना, घर बनाने के लिए खरीदी जमीन की करवाई रजिस्ट्री

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को अमेठी में अपनी खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री करवाई
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोमवार को अमेठी में अपनी खरीदी गई जमीन की रजिस्ट्री करवाई

अमेठी से सांसद स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने यहां के गौरीगंज से करीब तीन किलोमीटर दूर टांडा-बांदा हाइवे से पूरे रोहिणी पांडेय गांव के पास टिकरिया-मेदन मवई मार्ग पर गांव की फूलमती से साढ़े 10 विस्वा जमीन की रजिस्ट्री (Land Registry) करवाई है. इस भूमि की कीमत 12 लाख नौ हजार रुपये है. जबकि 50, 800 रुपये रजिस्ट्री स्टांप (Registry Stamp) के रूप में चुकाना पड़ा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 9:21 PM IST
  • Share this:
अमेठी. कांग्रेस के गढ़ में सेंध लगाने के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) अब अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी (Amethi) में अपना आशियाना बनाएंगी. सोमवार को स्मृति ईरानी ने अमेठी पहुंचकर गौरीगंज तहसील के उप निबंधक कार्यालय पर आवास के लिए भूमि का बैनामा करवाया. गौरीगंज से करीब तीन किलोमीटर दूर टांडा-बांदा हाइवे से पूरे रोहिणी पांडेय गांव के पास टिकरिया-मेदन मवई मार्ग पर गांव की फूलमती से साढ़े 10 विस्वा जमीन की रजिस्ट्री (Land Registry) कराई. इस भूमि की कीमत 12 लाख नौ हजार रुपये है. जबकि 50, 800 रुपये रजिस्ट्री स्टांप (Registry Stamp) के रूप में चुकाना पड़ा है.

जमीन के मालिक के बेटे गया प्रसाद पाण्डेय ने बताया कि हम यह जमीन इसलिए दे रहे हैं क्योंकि इससे हमारे गांव का विकास होगा. गांव का विकास होगा तो हमारा विकास होगा, इसलिए हम अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी को यह जमीन दे रहे हैं. वो जितना इस संसदीय क्षेत्र का विकास कर रही हैं उतना विकास अभी तक किसी ने नहीं किया था. उन्होंने कहा कि हमारे पास जमीन के लिए बीजेपी के नेता प्रियंक हरिविजय तिवारी उर्फ धीरू तिवारी आये थे और कहा आप दीदी को जमीन देंगे? हमने कहा, हमको तो बेचना ही था लेकिन यह मेरे भाग्य की बात है कि जमीन स्मृति ईरानी ले रही हैं, इससे तो हमारे क्षेत्र और हमारे गांव का विकास सुनिश्चित हो जाएगा. इसलिए हमने जमीन देना स्वीकार किया.

'मेरा सौभाग्य कि अमेठी की जनता से किया वादा आज पूरा किया'



वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, 'मैं आज तक अमेठी में किराए के मकान में रह रही थी. मेरा यह सौभाग्य है कि मैं यहां पर अपना घर बनाने की प्रक्रिया शुरू कर रही हूं. ईश्वर की मुझ पर असीम कृपा है कि अपने डेढ़ वर्ष के कार्यकाल में ही अमेठी की जनता से किए गए वादों को पूरा कर पा रही हूं.' उन्होंने आगे कहा कि आज (सोमवार) रजिस्ट्रेशन कराया है. मैं आशावादी हूं, जल्दी ही यहां निर्माण कार्य शुरू होगा. गांव के सभी नागरिकों की अभिलाषा थी कि भूमि पूजन के दिन घर के उस प्रांगण में वो स्वयं पधारें. उन्होंने कहा कि आवास के लिए भूमि पूजन की तारीख तय होने के बाद वो सभी शहरवासियों को इसके लिए आमंत्रित करेंगी.
अभी अमेठी में किराए पर ले रखा है मकान

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी करीब एक लाख वोटों से राहुल गांधी से हार गई थीं. मगर इसके बाद भी वो अमेठी में लगातार सक्रिय रहीं. यही वजह है कि 2019 के आम चुनाव में यहां के लोगों ने उन्हें दीदी के रूप में चुना. कई बार अमेठी दौरे पर आने के दौरान स्थायी निवास न होने पर उन्हें अक्सर किराए के मकान में निवास करना होता था.

2019 के पहले स्मृति ईरानी ने गौरीगंज के जामो रोड पर कलेक्ट्रेट के पास एक मकान किराए पर ले रखा था. बाद में उन्होंने उसी मकान को आवास के साथ सांसद का कैंप कार्यालय बना दिया. सांसद चुने जाने के बाद स्मृति अमेठी आने पर किसी गेस्ट हाउस के बजाय अपने इसी आवास पर रुकती हैं और यहीं से उनका कैंप कार्यालय भी चलता है. मगर अब यहां उनका अलग आवास बनेगा जो उनका स्थायी निवास होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज