ये भी हैं फेसबुक पर इश्क लड़ाने के जोखिम, हो सकती है जेल

आरोप है कि साढ़े तीन लाख रुपए मिलने के बाद लड़की का मन नहीं भरा और उसने संबंधित थाने सोरमपोर में रवि के खिलाफ धोखाधड़ी और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा दिया.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 22, 2018, 2:43 PM IST
ये भी हैं फेसबुक पर इश्क लड़ाने के जोखिम, हो सकती है जेल
अपर पुलिस अधीक्षक बलरामाचारी दुबे
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 22, 2018, 2:43 PM IST
पश्चिम बंगाल की एक लड़की से फेसबुक पर प्यार करना अमेठी के एक युवक को महंगा पड़ गया. लड़की ने संबंधित थाने सोरमपोर में रेप का मुकदमा दर्ज करवाया, जिसके बाद बंगाल पुलिस अमेठी के गौरीगंज कोतवाली पहुंची. बंगाल पुलिस लड़के को हिरासत में लेकर पश्चिम बंगाल रवाना हो गई. मामला गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र के कस्बे का है. यहां एक कपड़ा व्यापारी के बेटे रवि अग्रहर के मोबाइल पर करीब साल भर पहले पश्चिम बंगाल के हुबली जिले में स्थित सोरमपोर थाना क्षेत्र की रहने वाली एक लड़की की फ्रेंड रिकवेस्ट आई.

रवि ने तुरंत रिकवेस्ट को स्वीकार कर ली. फ़ेसबुक पर ही दोनों की बाते शुरू हो गई, जिसके बाद लड़की ने अपना मोबाइल नंबर दे दिया. मोबाइल नंबर मिलते ही दोनों में बातें शुरू हो गई और प्यार परवान चढ़ने लगा. मई 2017 में लड़की ने रवि को मिलने के लिए कोलकाता बुलाया, यहां दोनों ने एक दूसरे के साथ काफी समय बिताया और कई जगह घूमने भी गये.



आरोप है कि लड़की के साथ समय बिताकर जब रवि अमेठी आया तो उससे 25 लाख रुपए की मांग होने लगी. रवि ने किसी तरह अपने परिजनों से छुपाकर साढ़े 3 लाख रुपए संध्या के खाते में ट्रांसफर किया. साढ़े तीन लाख रुपए मिलने के बाद लड़की का मन नहीं भरा और उसने संबंधित थाने सोरमपोर में रवि के खिलाफ धोखाधड़ी और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा दिया. मुकदमा दर्ज होते ही सोरमपोर पुलिस ने कई बार रवि को हाजिरी के लिए समन भेजा लेकिन रवि नहीं पहुंचा. इसके बाद आज सोरमपोर थाने के एक एसआई समेत 4 कांस्टेबल अमेठी पहुंचे. जहां उन्होंने रवि को गौरीगंज कोतवाली की मदद से हिरासत में लिया.

हिरासत में लेने के बाद पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, यहां मेडिकल भी कराया गया. वहीं परिजनों की माने तो लड़की ने फेसबुक पर अलग-अलग नामों से आईडी बना रखी थी. फेसबुक पर ही दोनों की दोस्ती हुई. अभी कुछ समय पहले लड़की ने 25 लाख रुपए की मांग और मांग न पूरी होने पर उसने गलत तरीके से संबंधित थाने में मुकदमा दर्ज करवाया. आज पश्चिम बंगाल पुलिस अमेठी आई थी, जहां उन्होंने रवि को पकड़कर बंगाल ले गई.

वहीं इस मामले पर अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक बलरामाचारी दुबे की माने तो पश्चिम बंगाल से एक एसआई और चार कांस्टेबल गौरीगंज आये थे. उनके पास रवि अग्रहरी नाम के युवक का अरेस्ट वारंट था. गौरीगंज पुलिस के सहयोग से उन्होंने युवक को हिरासत में लिया है. युवक को हिरासत में लेकर पुलिस पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हो गई है.

(रिपोर्ट: पप्पू पांडेय)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...