अमेठी में हो रहा Lockdown का सख्ती से पालन, अभी तक नहीं मिला COVID-19 का एक भी मरीज
Amethi News in Hindi

अमेठी में हो रहा Lockdown का सख्ती से पालन, अभी तक नहीं मिला COVID-19 का एक भी मरीज
डीएम अमेठी ने जिले के अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाया है.

अमेठी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए अमेठी पुलिस की टीम सड़कों पर मुस्तैद रहती है और सभी दुकानों के बाहर गोल घेरा बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
अमेठी. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को लेकर एक ओर पूरी दुनिया खौफजदा है, वहां अमेठी का जीरो कोरोना डिस्ट्रिक्ट (Zero Corona District) बना रहना सुकून देने वाली खबर है. दरअसल, लॉकडाउन के सख्ती से पालन की वजह से जिले में अभी तक कोई भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं पाया गया है. अमेठी में करीब 22 लाख की आबादी रहती है, लेकिन यह जिला उन भाग्यशाली जिलों में है जो अभी तक कोरोना जीरो डिस्ट्रिक्ट की श्रेणी में हैं और यह श्रेणी लगातार बरकरार रहे इसके लिए यहां के डीएम, एसपी, सीएमओ के साथ-साथ स्वयं स्थानीय स्मृति ईरानी हर दिन यहां की मॉनिटरिंग कर रहीं है. अमेठी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए अमेठी पुलिस की टीम सड़कों पर मुस्तैद रहती है और सभी दुकानों के बाहर गोल घेरा बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है.

हर ग्राम प्रधान/कंट्रोल रूम निभा रहा है अहम भूमिका

डीएम अरुण कुमार ने मॉनिटरिंग के साथ अन्य जिले, प्रदेशों या विदेश से आने वालों लोगो को क्वारेंटाइन में रखने से कारण आज ये तस्वीर देखने को मिल रही है. इसके साथ ही अब तक अमेठी में 294 क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए है जिसमें करीब 7000 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है. कलेक्ट्रेट परिसर में बने कंट्रोल रुम से पूरे जिले की मॉनिटरिंग 24 घंटे की जा रही है.



अमेठी के हर गांव का रिकॉर्ड यहां एक क्लिक के जरिये उपलब्ध है कि कौन कहां से कब आया और गांव वालों की तबियत कैसी है क्योंकि कंट्रोल रुम से हर ग्राम प्रधान की बात प्रतिदिन होती है. जिला प्रशासन के आंकड़ों की बात करें तो अब तक सरकारी और प्राइवेट अस्पतालो को मिलाकर जिले में 30 आइसोलेशन बेड तैयार हैं साथ ही 100 बेड और तैयार किए गए हैं.



पुलिस बरत रही है अतिरिक्त सर्तकता

इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने भी कोविड-19 से निपटने के लिए अमेठी को 15 सेक्टर और 4 जोन में बांट रखा है. पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर स्पेशल कोरोना सेल बनाया गया है जिस पर अलग-अलग पाली में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर पल-पल की मॉनिटरिंग की जा रही है और कोविड-19 से निपटने के लिए जिले में कोविड-19 स्पेशल टीम भी तैयार की गई है जो अत्याधुनिक सूट से लैस होकर सूचना मिलते ही डाक्टरों की टीम के साथ मरीजो तक पहुंच रही है. इसके साथ ही लॉकडाउन का उल्लघंन करने वालों पर भी लगातार कार्यवाई की जा रही है. इतना ही नहीं अमेठी में धर्मगुरुओं के साथ लगातार बैठक की जा रही है कि वो सभी तरह की धार्मिक कार्य अपने घरों में करें. इसके साथ ही लोगों को खाद्य सामग्री भी लगातार पहुंचाई जा रही है. जिले के बॉर्डर पर 24 घंटे चेकिंग की जा रही है जिससे एक भी व्यक्ति बिना जांच के जिले में प्रवेश ना के सकें.

अलर्ट मोड पर काम कर रहा है स्वास्थ्य विभाग

वहीं अमेठी में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों को लेकर अमेठी के सीएमओ राजेश मोहन श्रीवास्तव ने कहा कि जिले में पर्याप्त संख्या में मास्क, सैनिटाइजर, थर्मामीटर, थर्मल स्कैनर, ग्लब्स के साथ ट्रैंड मेडिकल और पैरामेडिकल टीम उपलब्ध है. इसके साथ ही जनपद में 114 एंबुलेंस कार्यरत होने के साथ आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए 380 बेड को चिन्हित किया गया है. इसके साथ ही अमेठी में 82 लोगों के सैंपल कोरोना टेस्ट के लिए भेजे गए है जिसमे 79 लोगों की रिपोर्ट नेगिटिव आई है. स्वास्थ्य विभाग की तैयारियां पूरी है. हम कभी भी भाग्य के भरोसे नहीं रहे. हमारे डॉक्टर, नर्स और पैरा मेडिकल स्टाफ सभी की ड्यूटी लगा दी गई है. सभी 11 संदिग्ध लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है.

यूं ही नहीं मिला जीरो कोरोना डिस्ट्रिक्ट का तमगा

इतना ही नहीं डीएम के साथ-साथ अमेठी का पुलिस प्रशासन भी पूरी तरीके से अलर्ट मोड पर है. अमेठी के सभी बॉर्डर पर सक्रिय रहने के साथ पूरे जिले में लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए ना सिर्फ धारा 144 लागू की गई है बल्कि जिले में शांति व्यवस्था बरकरार रहे, इसके लिए जिले को 14 सेक्टर और 4 जोन में विभाजित किया गया है. इन सभी सेक्टर को लगातार पुलिस टीम मॉनिटरिंग कर रही है जबकि जोन की मॉनिटरिंग के लिए डीएम और एसपी खुद लगातार राजपत्रित अधिकारियों के साथ क्षेत्रों में भ्रमण सील होकर पल पल की जानकारी ले रहे हैं. अमेठी जिले में अब तक कोई भी मरीज कोरोना से सक्रमित नहीं है या कहीं न कहीं जिला प्रशासन की बड़ी उपलब्धि है.

ये भी पढ़ें UP में इन कोर्सेज के 2.5 लाख छात्रों को एग्जाम के लिए अटेंडेंस में राहत

सीएम योगी की धर्म गुरुओं से अपील- पर्व और त्योहार पर न करें सामूहिक आयोजन
First published: April 13, 2020, 10:46 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading