BJP नेता को पार्टी की महिला नेत्री से अभद्रता पड़ी भारी, गांववालों ने की पिटाई

इसी बीच इसी गांव की रहने वाली भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश महामंत्री रश्मि सिंह पर भाजपा नेता अशोक मिश्रा ने अभद्र टिप्पणी करना शुरू कर दिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 29, 2018, 10:52 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: March 29, 2018, 10:52 PM IST
अमेठी में एक भाजपा नेता की दबंगई के आगे पूरा गांव बेबस हो चुका है. सत्ता के नशे में चूर भाजपा नेता को महिला भाजपा नेत्री से अभद्रता करना महंगा पड़ गया. महिला भाजपा नेत्री से अभद्रता कर रहे भाजपा नेता को मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने पीट दिया. जिसके बाद कोतवाली पहुंचे तथाकथित भाजपा नेता ने भाजपा नेत्री पर दबंगई का आरोप लगाते हुए हुए मुकदमा दर्ज कराया. दूसरी तरफ भाजपा नेत्री की तहरीर पर भी तथाकथित भाजपा नेता पर मुकदमा दर्ज हुआ है. जिसके बाद पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है.

मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के महमदपुर गांव का है. बुधवार को नायब तहसीलदार राजस्व टीम और पुलिस के साथ जमीन की पैमाइश करने गए थे. अपने आप को भाजपा का सक्रिय सदस्य बताने वाले इसी गांव के रहने वाले सरकारी सुरक्षा प्राप्त अशोक मिश्रा की शिकायत पर जमीन की पैमाइश हो रही थी. पैमाइश के दौरान मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद थे. इसी बीच इसी गांव की रहने वाली भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश महामंत्री रश्मि सिंह पर भाजपा नेता अशोक मिश्रा ने अभद्र टिप्पणी करना शुरू कर दिया. जिसके बाद ग्रामीण नाराज हो गए और भाजपा नेता की पिटाई शुरू कर दी. किसी तरह जान बचाकर भाजपा नेता मौके से भागे और कोतवाली पहुंचकर भाजपा नेत्री के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई.

वहीं दूसरी तरफ भाजपा नेत्री की तहरीर पर अशोक मिश्रा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है. इस मामले को लेकर भाजपा नेता अशोक मिश्रा ने कहा कि गांव में कुछ लोगों ने गलत तरीके से जमीन पर कब्जा कर रखा था. जिसकी मैंने शिकायत की. जिसके बाद राजस्व कर्मी और पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच कर जमीन की पैमाइश कर रहे थे. इसी बीच रश्मि सिंह के समर्थकों ने हमला कर दिया.

वहीं इस मामले को लेकर भाजपा नेत्री रश्मि सिंह ने कहा कि अपने आप को भाजपा नेता कहने वाले अशोक मिश्रा गलत तरीके से जमीन की पैमाइश करवा रहे थे. पार्टी की धौंस जमाकर उन्होंने अमेठी प्रसाशन से एक सुरक्षाकर्मी ले रखा है. जिसकी वजह से ग्रामीणों को डराते धमकाते हैं. उन्होंने जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है वो मैं नहीं बता सकती हूं.

वहीं विश्वदीपक त्रिपाठी ने बताया कि जमीन की पैमाइश करने गए नायब तहसीलदार ने कहा कि भाजपा नेता अधिकारियों पर धौंस जमाते है. उन्हीं की शिकायत पर जमीन की पैमाइश करने पूरी टीम गई थी. भाजपा नेता से पांच घंटे से ज्यादा राजस्व कर्मियों का समय बर्बाद किया है वो भी गलत शिकायत करके. जिसे लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...