खाद्यान्न घोटाले में जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी चाहती है BJP

''अधिकारियों के संरक्षण में घोटाले को अंजाम दिया गया. जिसमें कर्मचारियों और अधिकारियों ने रिश्वत की मोटी मलाई काटी है. उन्होंने कहा कि अभी भी जिला पूर्ति कार्यालय में प्राइवेट ऑपरेटर काम कर रहे हैं. जिन्होंने खाद्यान्न घोटाले को राशन डीलरों से मिलकर अंजाम दिया है.''

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 7, 2018, 9:26 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 7, 2018, 9:26 PM IST
उत्तर प्रदेश सरकार ने अब तक के सबसे बड़े खाद्यान्न घोटाले का पर्दाफाश कर दिया है, जिसके बाद हजारों की संख्या में राशन डीलरों के खिलाफ FIR दर्ज करवा दी गई है. लेकिन घोटालेबाज अधिकारी और कर्मचारी इस कार्रवाई की जद़ से बचते नजर आ रहे हैं. जिस के विरोध में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर लक्ष्मीकांत वाजपेई ने मेरठ में जिला आपूर्ति अधिकारी के कार्यालय का घेराव किया.

लक्ष्मीकांत बाजपेई, भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ जिला पूर्ति कार्यालय पहुंचे. जहां उन्होंने अधिकारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई. उन्होंने कहा कि अधिकारियों के संरक्षण में घोटाले को अंजाम दिया गया. जिसमें कर्मचारियों और अधिकारियों ने रिश्वत की मोटी मलाई काटी है. उन्होंने कहा कि अभी भी जिला पूर्ति कार्यालय में प्राइवेट ऑपरेटर काम कर रहे हैं. जिन्होंने खाद्यान्न घोटाले को राशन डीलरों से मिलकर अंजाम दिया है. लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं के पहुंचते ही जिला पूर्ति अधिकारी ने सभी को भगा दिया.

इसके अलावा उन्होंने खाद कमिश्नर को भी जांच के घेरे में लाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि घोटाले की रिपोर्ट मिलने के बावजूद भी उन लोगों पर कार्रवाई नहीं की जा रही जो इस घोटाले के असल दोषी हैं. वैसे आपको बता दें कि इस प्रदेश में इस घटाले पर पहले से ही घमासान मचा हुआ है.

VIDEO: नौकरी नहीं मिलने और ताने सुनने से दुखी छात्रा ने घर में लगाई फांसी
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर