अमित शाह के 'अपना बूथ सबसे मजबूत' के जवाब में राहुल गांधी का 'वन बूथ-वन यूथ' प्लान

राहुल ने अपने दौरे के पहले दिन गौरीजंग में पार्टी कार्यालय में सोशल मीडिया सेल के 150 सदस्यों और जिले के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.

Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 6, 2018, 2:06 PM IST
अमित शाह के 'अपना बूथ सबसे मजबूत' के जवाब में राहुल गांधी का 'वन बूथ-वन यूथ' प्लान
अमेठी के फुरसतगंज में 'प्रोजेक्ट शक्ति' के बारे में जानकारी देते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी. Photo: Facebook
Amit Tiwari
Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 6, 2018, 2:06 PM IST
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने दो दिवसीय यूपी दौरे में महागठबंधन की काट के लिए पार्टी पदाधिकारियों, विस्तारकों और सोशल मीडिया वालंटियर्स को अपना बूथ सबसे मजबूत का फार्मूला देते हुए हर बूथ से 51 फ़ीसदी वोट का टारगेट रखा. अमित शाह के बाद कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी भी मिशन 2019 में बूथ को मजबूत करने में जुटे हैं. अपने दो दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जहा जनसंपर्क और चौपाल किया, वहीं अपने दुर्ग को चुस्त और दुरुस्त करने के लिए नई रणनीति भी बनाई. राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में एक भारी भरकम सोशल मीडिया टीम तैनात करने जा रहे हैं. लक्ष्य है कि 'वन बूथ, वन यूथ' प्लान के तहत लोकसभा के सभी बूथों पर एक सोशल मीडिया कर्मी तैनात हो.

राहुल ने अपने दौरे के पहले दिन गौरीजंग में पार्टी कार्यालय में सोशल मीडिया सेल के 150 सदस्यों और जिले के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इस दौरान राहुल ने सोशल मीडिया टीम को संबोधित भी किया और उन्हें 'वन बूथ वन यूथ' का फार्मूला दिया. इस प्लान के तहत अमेठी संसदीय क्षेत्र में करीब 1900 बूथों पर सोशल मीडिया से जुड़े एक कार्यकर्ता की तैनाती की जाएगी. अगर दो सदस्य हो जाएँ तो बेहतर हैं. सोशल मीडिया कार्यकर्ता के अलावा बूथ पर पार्टी कार्यकर्ता और वरिष्ठ पदाधिकारी भी सक्रिय रहेंगे.

यह भी पढ़ें: अमेठी में दिखा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का 'गो प्रेम'

अमेठी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा ने न्यूज18 से बातचीत में बताया, "राहुलजी ने हमें निर्देशित किया है कि संसदीय क्षेत्र के 1900 बूथों पर कम से कम दो सोशल मीडिया से जुड़े नौजवान साथी काम करेंगे. इसके अलावा बूथ कमिटी और उसके जिम्मेदार लोग भी शामिल रहेंगे. हमारा लक्ष्य है कि हर बूथ पर कम से कम 10 लोग तैनात रहें. जिनमें वरिष्ठ कार्यकर्ता, सेवा दल के साथी, यूथ कांग्रेस सोशल मीडिया के लोग शामिल रहेंगे. अपने इस दौरे में राहुल गांधी ने सोशल मीडिया के साथियों से बात करते हुए यह कहा भी है और हम इसे कर भी रहे हैं."

यह भी पढ़ें: गुजरात के 'शिवभक्त' राहुल गांधी का अमेठी के मदरसे में लंच बना चर्चा का विषय

अमेठी लोकसभा सीट पर 1500 से ज्यादा बूथ हैं. सभी बूथ पर एक कार्यकर्ता को तैनात करना है. उसकी जिम्मेदारी होगी की वह अपने बूथ का व्हाट्स एप ग्रुप बनाएगा और उसे लोगों से जोड़ेगा.

सोशल मीडिया टीम को दी जाएगी ट्रेनिंग

अमेठी में सोशल मीडिया के टीम से जुड़ने वालों साथियों को कांग्रेस की तरफ से ट्रेनिंग दी जाएगी. वर्तमान में अमेठी-रायबरेली के 200 सक्रिय सदस्यों को पहले ट्रेनिंग दी जा चुकी है. वन बूथ वन यूथ प्लान के तहत हर बूथ का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है. जिसके माध्यम से सोशल टीम मतदाताओं को उसमें जोड़ेगी. साथ ही राहुल गांधी के पक्ष में फिजा बनाएगी और मोदी सरकार के खिलाफ ख़बरों और उनके झूठ को प्रसारित करेगी. इसी तरह फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से भी मतदाताओं को जोड़ने की कोशिश है.

अमेठी: गेहूं बेचने के इंतजार में दम तोड़ने वाले किसान अब्दुल सत्तार के घर पहुंचे राहुल गांधी

(इनपुट: पप्पू पांडेय)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर