लाइव टीवी

अमेठी पुलिस का दावा, मृतक व्‍यवसायी ही निकला 26 लाख की लूट का मास्‍टर माइंड, 3 लुटेरे गिरफ्तार

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 31, 2019, 3:30 PM IST
अमेठी पुलिस का दावा, मृतक व्‍यवसायी ही निकला 26 लाख की लूट का मास्‍टर माइंड, 3 लुटेरे गिरफ्तार
वारदात में शामिल दो अन्‍य लुटेरों की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है.

बीते 25 दिनों से वारदात की गुत्‍थी को सुलझाने में लगी अमेठी पुलिस को पहली सफलता एक मोबाइल लोकेशन के जरिए मिली.

  • Share this:
अमेठी: उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमेठी (Amethi) में पुलिस कस्टडी (police custody) में व्‍यवसायी (Businessman) की मृत्‍यु (Death) के बाद हरकत में आई पुलिस (Police) ने आखिरकार जिले की सबसे बड़ी लूटकांड (Loot) का खुलासा कर दिया है. अमेठी जिला पुलिस का दावा है कि लूट की वारदात का मास्‍टम माइंड (Mastermind) सत्य प्रकाश उर्फ साजन नामक व्‍यवसायी था, जिसकी पुलिस हिरासत में पूछताछ के दौरान मृत्‍यु हो गई थी. मृतक सत्‍य प्रकाश के साथ इस वारदात में कुल पांच आरोपी शामिल थे. जिसमें तीन शातिर लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लूट में शामिल दो अन्‍य लुटेरों की तलाश अभी भी जारी है.

गिरफ्तार आरोपियों से मिली लूट की रकम
अमेठी पुलिस का दावा है कि लूट की वारदात में शामिल जिन तीन लुटेरों को गिरफ्तार किया गया है, उनके कब्‍जे से पुलिस ने लूट के तीन लाख रुपए बरामद किए गए हैं. इसके अलावा, वारादात में इस्‍तेमाल की गई मोटरसाइकिल और एक पिस्‍टल भी उनके कब्‍जे से बरामद की गई है. पुलिस के मुताबिक घटना का मास्टरमाइंड 24 घंटे पहले पुलिस कस्टडी में मृत हुआ सत्यप्रकाश शुक्ला था. उसी के मकान में ही यूको बैंक की शाखा थी. वारदात को अंजाम देने से पहले सत्यप्रकाश और गुड्डू नामक कुख्‍यात लुटेरे ने रेकी की थी.

इस तरह लूट की वारदात को दिया गया था अंजाम

अमेठी पुलिस अधीक्षक स्‍वाती गर्ग के अनुसार यह मामला पीपरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले परसोइया गांव का है. उन्‍होंने बताया कि 5 अक्टूबर को बैंक मैनेजर अपने ड्राइवर और कैशियर के साथ प्रतापगढ़ जनपद के बाबूगंज बाजार स्थित यूको बैंक शाखा से 26 लाख रुपए लेकर जा रहे थे. तभी परसोइया गांव के पास अपाचे बाइक सवार तीन बदमाशों ने कार पर फायरिंग शुरू कर दी. बैंक मैनेजर और उनके साथी संभल पाते, इससे पहले लुटेरे 26 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए.

लूट की इस वारदात से जिले में मचा हड़कंप
दिनदहाड़े हुई लूट की इस वारदात से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. बीते 25 दिनों से वारदात की गुत्‍थी को सुलझाने में लगी अमेठी पुलिस को पहली सफलता एक मोबाइल लोकेशन के जरिए मिली. जांच के दौरान पता चला कि बाबूगंज स्थित जिस मकान में बैंक की शाखा चल रही थी, उसका मकान मालिक 45 वर्षीय व्यवसायी सत्यप्रकाश शुक्ला भी वारदात में शामिल है. उसी ने पूरे घटना की रेकी कर अपने साथियों को सूचना दी, जिसके बाद बदमाशों ने इस वारदात को अंजाम दिया.
Loading...

पूछताछ के दौरान हुई आरोपी व्‍यवसायी की मृत्‍यु
पुलिस के अनुसार, मोबाइल लोकेशन से मिले सुराग के आधार पर पुलिस ने पूछताछ के लिए आरोपी व्‍यवसायी सत्‍य प्रकाश को पूछताछ के लिए थाने में बुलाया. जहां संदिग्‍ध परिस्थितियों में व्‍यवसायी की तबियत खराब हो गई. पुलिस जब तक आरोपी को लेकर जिला अस्‍पताल पहुंचती, इससे पहले उसकी मृत्‍यु हो चुकी थी. सत्यप्रकाश के परिजनों ने पुलिस कस्टडी में मौत का आरोप लगाया, जिसके बाद सुल्तानपुर एसपी के आदेश पर पीपरपुर पुलिस और एसओजी टीम पर हत्या समेत कई गंभीर धाराओं में नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया.

अमेठी पुलिस जांच में सामने आए ये तथ्‍य
अमेठी की पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने बताया कि प्रतापगढ़ जिले के यूको बैंक की बाबूगंज बाजार ब्रांच मृतक सत्‍यप्रकाश शुक्‍ला के मकान में चल रही थी. 2008 में लखनऊ के गोमती नगर इलाके से टवेरा गाड़ी चोरी करने के आरोप में सत्यप्रकाश और उसका दोस्त जाकिर अली उर्फ गुड्डू जेल भी जा चुके हैं. जेल जाने के बाद दोनों की गहरी दोस्ती हो गई थी. दोनों बीते एक साल से इस लूटकांड को अंजाम देने के फिराक में थे. इन लोगो ने इस बड़ी लूट की घटना को अंजाम देने के लिए एक टीम बनाई, जिसमे गुड्डू का साला साजिद और नदीम नफीस शाहबाज शामिल थे.

सत्‍यप्रकाश लुटेरों को बता रहा था बैंक कर्मियों की लोकेशन
पुलिस अधीक्षक ख्‍याति गर्ग के अनुसार, इस पूरी घटना की रेकी और मुखबिरी मृतक सत्‍यप्रकाश शुक्ला ने की थी. उसने बैंक में रहकर बैंक कर्मियों की लोकेशन अपने साथियों को दी थी. जिसके बाद, इस घटना को अंजाम दिया गया. घटना के दिन साजिद ने रास्ते भर बैंककर्मियों की कार का पीछा किया और अपने साथियों को लोकेशन देता रहा. जब बैंक कर्मी प्रतापगढ़ और अमेठी के बॉर्डर पर पहुंचे थे, तभी पहले से मौजूद नदीम नफीस और शाहबाज ने  वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए. इस पूरे मामले में अभी तक 3 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है, जिसमें गुड्डू उर्फ जाकिर अली, साजिद अनीश शामिल हैं.

यह भी पढ़ें:
मेरठ और हापुड़ की हवा देश में सबसे जहरीली, UP के 8 शहर सर्वाधिक प्रदूषित लिस्ट में शामिल
UP में कम नहीं हो रहा डेंगू का डंक, लखनऊ सहित राज्य भर में हजारों लोग बीमार
स्टंटबाजों ने रेलवे ट्रैक पर दौड़ा दी बाइक, सामने से आ रही पैसेंजर ट्रेन ड्राइवर ने देखा तो...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेठी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 3:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...