अमेठी की डीपीआरओ 30 हजार रुपए की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

अमेठी की डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को विजिलेंस टीम ने घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. (File Photo)

Amethi News: लखनऊ से आई विजिलेंस टीम ने अमेठी की डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को उनके कार्यालय में बाजार शुकुल में तैनात सफाई कर्मी सुशील कुमार सिंह से 30 हजार रुपये की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) में गुरुवार को लखनऊ से आई विजिलेंस टीम ने जिले की डीपीआरओ श्रेया मिश्रा (DPRO Shreya Mishra) को उनके कार्यालय में बाजार शुकुल में तैनात सफाई कर्मी सुशील कुमार सिंह से 30 हजार रुपये की घूस (Bribe) लेते रंगे हाथ पकड़ा. डीपीआरओ की गिरफ्तारी से जिले के प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. बाजार शुकुल ब्लॉक के धनेशा राजपूत गांव में तैनाती के दौरान कई गंभीर आरोपों में निलंबित सफाईकर्मी सुशील कुमार सिंह को पिछले दिनों बहाल किया गया था.

बहाली के बाद से ही वह अपने बकाया ड्यूज का भुगतान पाने के लिए डीपीआरओ कार्यालय का चक्कर काट रहा था. लगातार दौड़ने के बाद उसका कुछ बकाया भुगतान भी हुआ. शेष बकाया भुगतान के लिए घूस मांगे जाने पर उसने इसकी शिकायत 11 जून को एसपी विजिलेंस लखनऊ से की. एसपी विजिलेंस ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए प्रभारी निरीक्षक भानु प्रताप सिंह के नेतृत्व में 10-12 लोगों की एक टीम गठित की.

टीम बुधवार शाम जिला मुख्यालय पहुंची और एसपी से गुरुवार दोपहर महिला दरोगा व सिपाही समेत कुछ पुलिसकर्मियों की मांग की. इसके बाद टीम अमेठी स्थित एक होटल पहुंची.

होटल से बृहस्पतिवार दोपहर बाद निकली टीम सफाई कर्मी सुशील सिंह व स्थानीय पुलिस कर्मियों के साथ करीब पौने 2 बजे विकास भवन स्थित डीपीआरओ कार्यालय पहुंची. यहां टीम ने सफाई कर्मी से 30 हजार रुपये की घूस लेते डीपीआरओ श्रेया मिश्रा को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. डीपीआरओ को गिरफ्तार करने के बाद टीम उन्हें लेकर पुन: अमेठी स्थित होटल पहुंची. यहां लंबी पूछताछ के बाद देर शाम टीम उन्हें लेकर गौरीगंज स्थित उनके आवास पहुंची और ताला तोड़कर तलाशी ली. तलाशी के बाद टीम गौरीगंज थानेपहुंची और डीपीआरओ के सुसंगत धाराओं में खिलाफ केस दर्ज कराया.

प्रशासन को नहीं लगी भनक

जिले में विजिलेंस टीम के आने व डीपीआरओ की गिरफ्तारी तक का पूरा घटनाक्रम बेहद गोपनीय रहा. जिले में विजिलेंस टीम के होने की जानकारी सिर्फ एसपी दिनेश सिंह को थी. हालांकि उन्हें भी यह जानकारी नहीं थी कि टीम किसको टार्गेट करने वाली है? डीएम अरुण कुमार को टीम के जिले में होने की जानकारी नहीं थी.

होटल के बाहर डटे रहे विभागीय कर्मी

डीपीआरओ की गिरफ्तारी की खबर सार्वजनिक होते ही प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. विभागीय कर्मियों को जैसे ही पता चला कि टीम डीपीआरओ को लेकर अमेठी स्थित एक होटल गई है, वैसे तकरीबन सभी ब्लॉकों के एडीओ पंचायत व ग्राम पंचायत अधिकारी होटल पहुंच गए. सभी देर शाम तक होटल के बार ही डटे रहे.

काबिल अफसरों में होती थी गिनती

डीपीआरओ में चयनित होने के बाद गोरखपुर की रहने वाली श्रेया मिश्रा को शासन ने करीब एक वर्ष पूर्व जिले का डीपीआरओ बनाया था. डीपीआरओ का एक वर्ष का कार्यकाल भी तकरीबन विवादों से परे रहा. विभाग से लेकर जिले तक में उनकी गिनती काबिल व ईमानदार अफसर के रूप में होती थी.

सफाई कर्मी का विवादों से पुराना नाता

वैसे जिस सफाई कर्मी से घूस लेते डीपीआरओ श्रेया मिश्रा विजिलेंस टीम की गिरफ्त में पहुंच गईं, उसका भी विवादों से पुराना नाता है. कन्नौज जिले के रहने वाले सुशील कुमार सिंह को वर्ष 2009 में सफाई कर्मी की नौकरी मिली थी. सुशील की पहली पोस्टिंग जगदीशपुर ब्लॉक में हुई थी. जगदीशपुर में तैनाती के कुछ ही दिनों बाद उसके ऊपर लखनऊ में एक विभाग के बड़े अफसर के घर से करीब एक करोड़ रुपये की चोरी करने का आरोप लगा था. जिस अफसर के घर चोरी का आरोप लगा था सफाई कर्मी बनने से पहले सुशील उनके यहां बतौर चालक नौकरी करता था.

आरोप लगने के बाद सुशील के तेलीबाग लखनऊ स्थित आवास से पुलिस ने करीब 80 लाख रुपये बरामद करने के बाद उसका आवास सील कर दिया था. सुशील इस मामले में 2009 में 18 माह तो 2019 में छह माह की जेल भी काट चुका है. इतना ही नहीं सुशील ने बाजार शुकुल में तैनाती के दौरान हुसेनपुर में कार्यरत अपने साथी सफाई कर्मी प्रेम कुमार के खाते से 13 लाख रुपये निकाल लिए थे. हालांकि इस मामले में पुलिस ने समझौता कराकर सफाई कर्मी को पहली बार 10 लाख रुपये वापस कराया था.

प्रेम कुमार ने बताया कि बाद में थोड़ा-थोड़ा कर उसने 1.75 लाख रुपये और वापस किया. 1.25 लाख रुपये अब तक नहीं दिया. विभाग में सुशील की छवि का अंदाजा लगाने के लिए इतना जानना काफी होगा कि 2009 में नियुक्ति के बाद से अभी तक सफाई कर्मी का एक भी इंक्रीमेंट नहीं लगा और वह मूल वेतन पर नौकरी करता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.