कस्टडी में मौत मामला: अमेठी के पुलिसकर्मियों पर सुल्तानपुर में हत्या का FIR दर्ज
Amethi News in Hindi

कस्टडी में मौत मामला: अमेठी के पुलिसकर्मियों पर सुल्तानपुर में हत्या का FIR दर्ज
बता दें मृतक सत्य प्रकाश शुक्ला उर्फ साजन शुक्ला के परिजनों ने अमेठी पुलिस पर कस्टडी में मारने का आरोप लगाया है. तस्वीर में सत्य प्रकाश का भाई और बेटा.

पुलिस कस्टडी में मौत मामले में सुल्तानपुर (Sultanpur) एसपी के आदेश पर अमेठी (Amethi) की पीपरपुर पुलिस और क्राइम ब्रांच पर मुकदमा दर्ज किया गया है. 302, 392, 452 और 504 के तहत ये केस दर्ज किया गया है.

  • Share this:
सुल्तानपुर. अमेठी में पुलिस (Amethi Police) कस्टडी में एक व्यक्ति की मौत मामले में सुल्तानपुर पुलिस (Sultanpur Police) ने एक्शन लिया है. सुलतानपुर एसपी के आदेश पर अमेठी की पीपरपुर पुलिस और क्राइम ब्रांच पर मुकदमा दर्ज किया गया है. 302, 392, 452 और 504 के तहत ये केस दर्ज किया गया है. बता दें कि अमेठी में लूट (Loot) के आरोप में हिरासत में लिए गए अधेड़ व्यवसायी की पुलिस कस्टडी में मौत (Death in Police Custody) का आरोप लगा है. आरोप है कि घटना को छिपाने के लिए पुलिस अधेड़ को लेकर जिला अस्पताल पहुंची, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. वहीं मामले में अमेठी की पुलिस अधीक्षक (एसपी) ख्याति गर्ग ने पुलिस कस्टडी में मौत को सिरे से खारिज किया है.

एसपी ख्याति गर्ग ने कहा है कि कुछ दिन पूर्व बैंक कर्मचारी से 26 लाख रूपये की लूट के मुखबिरी करने पर व्यक्ति को थाने बुलाया गया था. यहां वो अपने परिजनों के साथ आया था. परिजनों ने कहा कि अधेड़ की हालत ठीक नहीं है, जिसके चलते उसके भाई और परिजनों द्वारा उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया. यहां से अधेड़ व्यक्ति को जिला अस्पताल सुल्तानपुर ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. इसके बाद शव का पंचनामा करवाकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया.

पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी होगी, जांच के बाद कार्रवाई
शव का पोस्टमॉर्टम वीडियोग्राफी के जरिए होगा. एसपी के अनुसार उन्होंने अपने उच्चाधिकारियों को टीम बनाकर जांच करने को कहा है और रिपोर्ट आने के बाद फाइनल होगा की अधेड़ की मौत कैसे हुई? जांच की जा रही है. जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी.
5 अक्टूबर को हुई थी 26 लाख की लूट


दरअसल बीते पांच अक्टूबर को पीपरपुर थाना क्षेत्र के परसोइया गांव के पास बाइक सवार बदमाशों ने कार सवार बैंककर्मियों पर फायरिंग कर 26 लाख रुपए लूट लिये थे. दिनदहाड़े हुई लाखों की लूट से खाकी पर सवालिया निशान खड़े हो गए. इसके बाद आईजी अयोध्या रेंज से लेकर आईजी लॉ एंड ऑर्डर ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और अधिकारियों को जल्द खुलासे का आदेश दिया.

घर में खुदाई कर नहीं मिला पैसा तो व्यापारी को लिया हिरासत में
वारदात के बाद पुलिस को शंका थी कि लुटेरे प्रतापगढ़ जनपद के रहने वाले हैं. आरोप है कि घटना के खुलासे में लगी पीपरपुर पुलिस और एसओजी टीम देर रात बाबूगंज बाजार में रहने वाले 45 वर्षीय व्यवसायी सत्य प्रकाश शुक्ला के घर पहुंची और लूट का पैसा बरामद करने के लिए उनसे घर में संभावित स्थानों पर खुदाई शुरू कर दी.

लूट का पैसा जब पुलिस के हाथ नहीं लगा तो पुलिस सत्य प्रकाश शुक्ला को हिरासत में लेकर थाने पहुंची. मंगलवार सुबह पुलिस सत्य प्रकाश को लेकर सुल्तानपुर पहुंची, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. डॉक्टरों के अनुसार पुलिस जिस व्यक्ति को लेकर आई थी, वो पहले से ही मृत था.

व्यापारी के भाई और बेटे ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
वहीं मृतक सत्य प्रकाश शुक्ला के अध्यापक भाई ने आरोप लगाया कि देर रात बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी उनके घर पहुंची और उनके भाई को हिरासत में लेकर थाने आई. इस दौरान उन्हें और सत्य प्रकाश के बेटे को भी पुलिस ने पकड़ लिया. काफी मिन्नतों के बाद जाकर उन्हें छोड़ा. उन्होंने कहा कि उनके भाई सत्य प्रकाश की पुलिस की थर्ड डिग्री टॉर्चर से मौत हो गई. वहीं मृतक के बेटे का कहना है कि पुलिस की टीम में करीब 10 से 12 लोग थे, इन्होंने उनके पिता की रास्ते में पिटाई शुरू कर दी थी. उनके पिता की पीटे जाने से मौत हुई है.

(रिपोर्ट: पप्पू पांडेय)

ये भी पढ़ें:

पुलिस हिरासत में अधेड़ व्यापारी की मौत! परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

अमेठी SP ने पुलिस कस्टडी में मौत का आरोप किया खारिज, उच्चस्तरीय जांच के आदेश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading