अमेठी में बीजेपी की धार कुंद करने के लिए राहुल गांधी ने बनाया 'आर्म्ड फोर्स' प्लान!

अमेठी में युवाओं से अधिक से अधिक जुड़ने के लिए राहुल गांधी की पहल पर दिल्ली की एक कंपनी द्वारा निःशुल्क कैम्प लगाकर सेना में जाने वाले युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2018, 1:05 PM IST
अमेठी में बीजेपी की धार कुंद करने के लिए राहुल गांधी ने बनाया 'आर्म्ड फोर्स' प्लान!
राहुल गांधी की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2018, 1:05 PM IST
देश की राजनीति में एक अलग पहचान रखने वाली अमेठी में 2019 लोकसभा के चुनाव से पहले राजनीति सरगर्मियां तेज हो गई हैं. एक तरफ जहां बीजेपी कांग्रेस के मजबूत किले को ढहाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है, तो वहीं बीजेपी को जबाब देने के लिए अमेठी सांसद राहुल गांधी ने युवाओं को रोजगार की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की है. अमेठी में युवाओं से अधिक से अधिक जुड़ने के लिए राहुल गांधी की पहल पर दिल्ली की एक कंपनी द्वारा निःशुल्क कैम्प लगाकर सेना में जाने वाले युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा. हालांकि, बीजेपी इसे चुनावी हथकंडा बता रही है.

दरअसल, अमेठी सांसद राहुल गांधी रोजगार के मुद्दे पर बीजेपी सरकार पर लगातार हमलावर हैं. राहुल को जबाब देने के लिए केंद्र सरकार की मंत्री स्मृति ईरानी राहुल के संसदीय क्षेत्र में ही उन्हें रोजगार की स्थिती को लेकर घेरती रहती हैं. इसी मुद्दे को लेकर अमेठी सांसद की टीम ने बड़ी योजना तैयार की है. योजना के मुताबिक आगामी पांच वर्षों में अमेठी के युवाओं को आर्म्ड फोर्स की नौकरी के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार किया जाना है. युवाओं को प्रशिक्षण देने का काम दिल्ली की एक कंपनी द्वारा दिया जाएगा. जिसमें बाहर से आए ट्रेनर ही युवाओं को प्रशिक्षण देंगे. कांग्रेस द्वारा लगाई जा रही इस प्रशिक्षण शिविर में चयन प्रक्रिया पहले आओ पहले पाओ के आधार पर की जाएगी. इसमें शारीरिक दक्षता के साथ ही लिखित परीक्षा की तैयारी कराई जाएगी. एक बैच तीन महीनों का होगा, जो अगले पांच सालों तक चलेगा.

सांसद राहुल गांधी के इस अमेठी प्लान को लेकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष योगेन्द्र मिश्रा का कहना है कि यूपीए सरकार जब थी तब राहुल जी ने अमेठी के बेरोजगारों के लिए कई सारे उद्योगों को यहां लाने का प्रयास किया. लेकिन बीजेपी की सरकार बनते ही मोदी सरकार ने सब उद्योगों को बंद करने का काम किया. इसके बानजूद भी राहुल जी के प्रयास से एक टीम आ रही है जो टीम अमेठी के लोगों को ट्रेनिंग देगी, जिससे यहां युवाओं को रोजगार मिल सके.

उधर राहुल गांधी के अमेठी प्लान को लेकर बीजेपी के जिला प्रवक्ता गोविन्द सिंह का कहना है कि राहुल गांधी पिछले 15 साल से यहां के सांसद हैं, लेकिन अभी तक अमेठी के युवाओं के लिए क्यों कुछ नहीं किया. पिछले 60 सालों से उनके परिवार ने यहां का प्रतिनिधत्व किया है और राहुल गांधी की खूद सरकरा पिछले 10 साल लगातार थी.. पिछले 14 साल से यहां के वो सांसद हैं. अभी तक क्यों कुछ नहीं किया.. एक बार राहुल गांधी ने खुद इसी अमेठी की धरती पर अमेठी के नवजवानों के लिए कहा था कि अमेठी के लोगों को जिस फैक्ट्री में लगा दिया जाता है वो फैक्ट्री बंद हो जाती है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कहां नौकरी दिला पाएंगे. किसी प्रदेश में उनकी सरकार नहीं है. ये सिर्फ एक शिगूफा है. महज एक चुनावी हथकंड़ा है. कहीं रोजगार नहीं देंगे.

(रिपोर्ट: पप्पू पांडेय)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर