Exit Poll: अमेठी या रायबरेली? कांग्रेस का एक किला हो सकता है ध्वस्त!

यूपी में बीजेपी प्लास को 62 से 67 सीटें मिलने का अनुमान है. साथ ही कांग्रेस के लिए बुरी खबर है, उसे यूपी में 1 से दो सीटे दी जा रही हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2019, 7:37 AM IST
Exit Poll: अमेठी या रायबरेली? कांग्रेस का एक किला हो सकता है ध्वस्त!
सोनिया गांधी राहुल गांधी के लिए परेशानी का सबब बना एक्जिट पोल
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2019, 7:37 AM IST
न्यूज18 ने का सबसे सटीक एग्जिट पोल आ गया है और इसके मुताबिक देश में एनडीए की सरकार बनने वाली है. एनडीए को स्पष्ट बहुमत के साथ 276 से ज्यादा सीटें दी जा रही हैं, वहीं यूपी में बीजेपी प्लस को 62 से 67 सीटें मिलने का अनुमान है. साथ ही कांग्रेस के लिए बुरी खबर है, उसे यूपी में 1 से दो सीटें दी जा रही हैं. आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी भी यूपी से ही चुनाव लड़ रहे हैं.

अगर एग्जिट पोल के आंकड़ोंं पर यकीन किया जाए तो हो सकता है कि कांग्रेस यूपी में सिर्फ एक सीट पर सिमट जाए. ये सीट सोनिया गांधी की रायबरेली भी हो सकती है और राहुल गांधी की अमेठी भी. वैसे अगर थोड़ा पीछे जाएं तो ये समझने में मुश्किल नहीं होगी कि अमेठी राहुल गांधी के लिए मुसीबत बन सकती है.

राहुल ने केरल के वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ा है और अमेठी में राहुल तो चुनौती देने वाली स्मृति ईरानी का मानना है कि राहुल को पहले से खबर थी कि वो यहां से चुनाव हार रहे हैं इसलिए वायनाड की सीट चुनी. हालांकि आपको बता दें कि गठबंधन ने अमेठी रायबरेली सीट से कोई प्रत्याशी नहीं उतारा.

2014 में कम था राहुल की जीत का अंतर



2014 के लोकसभा चुनाव के मोदी लहर के बीच स्मृति ईरानी को 15 दिन पहले अमेठी से उम्मीदवार बनाया गया था. तब राहुल गांधी 1 लाख के अंतर से जीते थे वो भी तब जब अमेठी को गांधी परिवार का गढ़ माना जाता है.

News18-Ipsos Exit Poll: भाजपा या कांग्रेस, कौन जीतेगा राज्यों की जंग?
गायत्री प्रजापति के प्रभाव का किया इस्तेमाल


बीजेपी पर आरोप है कि उन्होंने अमेठी मे हवा के रुख को मोड़ने के लिए जेल में बंद गायत्री प्रजापति को लखनऊ हॉस्पिटल में शिफ्ट किया था. वैसे अगर नतीजे एक्जिट पोल के मुताबिक ही रहे तो आने वाले समय में ये कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी है.

बसपा ने कहा-मायावती बना सकती हैं मजबूत और समतामूलक भारत!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...