अमेठी पुलिस की लापरवाही के चलते करोड़ो के वाहन हुए कबाड़ में तब्दील

थाना परिसर का आधे से ज्यादा हिस्सा इन वाहनों से भरा पड़ा है. खड़े वाहनो के आस पास बड़ी मात्रा में गन्दगी भी है. जिसमें सांप-बिछू अपना आशियाना बना चुके हैं. इसे लेकर पुलिस कर्मियो में हमेशा डर बना रहता है.

News18Hindi
Updated: March 26, 2018, 7:58 PM IST
News18Hindi
Updated: March 26, 2018, 7:58 PM IST
यूपी के अमेठी में पुलिस की लापरवाही के चलते जिले सभी थानों में रखे गए करोड़ों के वाहन कबाड़ में तब्दील हो रहे हैं. बीते कई सालों से वाहनों की नीलामी न होने की वजह से हजारों वाहन कबाड़ हो चुके हैं, जिसके सिर्फ अवशेष ही बचे हैं. अमेठी प्रसाशन की तरफ से कोई भी सार्थक कदम नहीं उठाया जा रहा है जिससे कि राजस्व का फायदा हो.

दरअसल अमेठी जिले में कुल 14 थाने है और सभी थानों की तस्वीर एक जैसी ही है. एक तरफ जहां देश और प्रदेश में स्वच्छता अभियान चल रहा है वहीं दूसरी तरफ जिले के थाना परिसरों में कबाड़ का अंबार लगा हुआ है. इन तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि थाने में हजारों की संख्या में वाहन कबाड़ होने की स्थिति में हैं. बीते कई सालों से वाहनों की नीलामी न होने की वजह से थाना परिसर में खड़े वाहन या तो सड़ चुके हैं या फिर पूरी तरह से कबाड़ चुके हैं.



दूसरी तरफ देखा जाए तो थाना परिसर का आधे से ज्यादा हिस्सा इन वाहनों से भरा पड़ा है. खड़े वाहनो के आस पास बड़ी मात्रा में गन्दगी भी है. जिसमें सांप-बिछू अपना आशियाना बना चुके हैं. इसे लेकर पुलिस कर्मियो में हमेशा डर बना रहता है. वहीं जब इस मामले को लेकर न्यूज 18 ने अपर पुलिस अधीक्षक से बात की तो उन्होंने कहा कि वाहनों के निस्तारण के लिए एडीजी जोन लखनऊ ने आदेश दिया है कि 15 दिन का अभियान चलाकर वाहनों की नीलामी कर रहे हैं.

थाना परिसर में जो वाहन लवारि,  एम एक्ट के तहत हैं. इसी महीने हम लोग 400 वाहनों की निलामी कर लेंगे. साथ ही 89 वाहन एआरटीओ को अवगत करा दिया गया और जल्द ही उन वाहनों की भी निलामी प्रकिया पूरी कर ली जाएगी. इस प्रयास से थाना परिसर भी स्वच्छ हो जाएगा और इससे थानों का स्वरुप भी बदल जाएगा.

ये भी पढ़ें

महोबा की चरखारी और कुलपहाड़ तहसील सूखाग्रस्त घोषित, राहत कैम्प चलाने के निर्देश
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...