लाइव टीवी

सावधान! सोशल साइट्स के जरिए फ्रॉड किया तो 'COP TALK 2.0' से होंगे बेनकाब, ये है वजह

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 10, 2020, 8:12 PM IST
सावधान! सोशल साइट्स के जरिए फ्रॉड किया तो 'COP TALK 2.0' से होंगे बेनकाब, ये है वजह
अमेठी पुलिस ip-address से अपराधी को करेगी गिरफ्तार.

अमेठी की एसपी ख्याति गर्ग (SP Khyati Garg) ने कॉप टॉक (COP TALK) की सफलता के बाद इसके अपडेट वर्जन कॉप टॉक 2.0 की शुरुआत की है. इसके माध्‍यम से आईपी एड्रेस को ट्रैक कर अपराध को रोकने में आसानी होगी.

  • Share this:
अमेठी. अमेठी एसपी ख्याति गर्ग (SP Khyati Garg) के अनोखे शो कॉप टॉक (COP TALK) की सफलता के बाद आज से इसका अपडेट वर्जन कॉप टॉक 2.0 शुरू हुआ है, जिससे साइबर के मामलों के अपराधी अब आसानी से सलाखों के पीछे पहुंचेंगे. यही नहीं कॉप टॉक 2.0 से अमेठी जिले में साइबर के मामलों को लेकर बदली हुई पुलिस भी देखने को मिलेगी. इसको लेकर अमेठी पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने बताया कि कॉप टॉक की सफलता के बाद अब इसका नया वर्जन शुरू किया गया है, जिसमें साइबर सेल से जुड़े अपराधों पर कड़ी विवेचना होगी. साइबर सेल के क्षेत्र में अमेठी पुलिस से संबंधित मामलों पर चर्चा करेंगे. जबकि कॉप-टॉक 2.0 शो में काफी संख्‍या में विवेचना अधिकारी को एक जगह बुलाकर उन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है. इस संबंध में किस तरीके की क्या लिखा पढ़ी होनी चाहिए, किन-किन बारीकियों का उन्हें ध्यान रखना चाहिए और किस तरीके से काम करना है, इस पर पुलिस का फोकस होगा.

कॉप टॉक की सफलता के बाद
अमेठी एसपी ने कहा कि हमने कॉप-टॉक नाम के शो का इनिशिएटिव अमेठी में शुरू किया था. उसको काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिलने के बाद हमने उसका अपडेट वर्जन कॉप-टॉक 2.0 स्टार्ट किया हैं. इससे पहले साइबर अवेयरनेस को लेकर हमारे जो विवेचक हैं, वह काफी कमजोर फील करते हैं. नॉलेज और सोर्सेस का भी अभाव रहता है. इसी वजह से हमने दो दिवसीय एक कार्यशाला का आयोजन किया है, जिसे कॉप-टॉक 2.0 नाम दिया गया है. इस कार्यशाला में अमेठी के 80 से ज्यादा विवेचक, दरोगा के साथ सभी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी शामिल हुए हैं. देखा जाता है कि जो महिलाओं से संबंधित अपराध हैं जैसे सोशल मीडिया पर उनकी फोटो को मॉफ कर देना या गलत तरीके से उसको प्रस्तुत कर देना या फिर फर्जी अकाउंट आईडी बना देना, ईमेल, पेटीएम या फिर किसी और साइट पर उनके द्वारा उसमें फ्रॉड किए जाते हैं. बैंकिंग ट्रांजैक्शन को लेकर भी अक्सर शिकायतें मिलती हैं. जैसे लोगों का पैसा हड़प लेना या फिर कुछ और फ्रॉड के प्रकरण भी सामने आते हैं. इसको लेकर ही सभी को जागरूक किया जा रहा है.

up police, उत्‍तर प्रदेश पुलिस, अमेठी
इसके जरिए महिला अपराध पर लगाम लगेगी.


20 प्‍वाइंट्स को लेकर होगी बात
साइबर सेल वर्कशॉप में लगभग 20 ऐसे प्‍वाइंट्स रखे गए हैं जो साइबर सिक्योरिटी से रिलेटेड होंगे. इस वर्कशॉप में ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग के मामलों की जांच को लेकर विस्तृत चर्चा की जाएगी या फिर कुछ अन्य लोग जो ऑडियो रिकॉर्डिंग लेकर आते हैं, उनकी क्या रियलिटी है? सोशल साइट्स, व्हाट्सएप चैट या फेसबुक, मैसेंजर चैट की कोई ऑडियो क्लिप होती तो कैसे हम उनकी आईपी एड्रेस (ip-address) को चेक कर सकते हैं या फिर आईपी एड्रेस तक कैसे पहुंच सकते हैं? इस पर खास ध्‍यान रहेगा.

अमेठी पुलिस का साइबर सेल अब होगा और मजबूतअमेठी में बने साइबर सेल को लेकर अमेठी पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग के कहा कि साइबर सेल का गठन मेरे द्वारा करीब 2 महीने पहले किया गया था, जिसमें जनपद से इच्छुक कांस्टेबल, सब इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर से आवेदन मांगे गए थे. इच्छुक लोग कंप्यूटर कोर्स या ग्रेजुएट होने चाहिए. हमने चार लोगों की एक साइबर टीम बनाई है और वो काफी मेहनत और लगन से काम कर रही है. इससे अमेठी पुलिस को खासी मजबूती मिलेगी.

 

ये भी पढ़ें-

...जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पड़ी थी उनके गुरु महंत अवैद्यनाथ की डांट

 

लखनऊ CAA प्रोटेस्ट मामले में पुलिस ने दर्ज की 8 FIR, 50 गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेठी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 5:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर