अमेठी में 'लापता सांसद से सवाल' का पोस्टर वायरल, महिला कांग्रेस ने किया Tweet तो स्मृति ईरानी का पलटवार
Amethi News in Hindi

अमेठी में 'लापता सांसद से सवाल' का पोस्टर वायरल, महिला कांग्रेस ने किया Tweet तो स्मृति ईरानी का पलटवार
ईरानी ने कहा कि बचाव और पुनर्वास सुविधाएं महिलाओं को ही नहीं बच्चों को भी उपलब्ध कराई गई हैं.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने महिला कांग्रेस के ट़वीट पर जवाब दिया है, "आपको मुझसे इतनी मोहब्बत थी ये पता नहीं था. चलें अब कुछ आपको भी हिसाब दिया जाए. 8 महीने, 10 बार 14 दिन का हिसाब है मेरे पास. लेकिन ये बताएं सोनिया जी कितनी बार गईं. इस दौरान अपने क्षेत्र में?"

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) में पांचवे लॉकडाउन (Lockdown 5.0) से जनजीवन धीरे-धीरे पटरी पर दौड़ता दिख रहा है. इस बीच यहां सियासत भी तेज हो गई है. इस बीच अमेठी में 'लापता सांसद से सवाल' का पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें अमेठी की जनता की तरफ से सांसद स्मृति ईरानी से सवाल पूछे गए हैं. इस पोस्टर को महिला कांग्रेस (All India Mahila Congress) ने भी ट्वीट किया है. इसमें लिखा है कि अमेठी ढूंढ रहा है अपनी लापता सांसद स्मृति ईरानी जी को. उधर अखिल भारतीय महिला कांग्रेस के ट्वीट पर केंद्रीय मंत्री स्म़ृति ईरानी ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर जवाबी हमला बोला है. उन्होंने लिखा है कि आपको मुझसे इतनी मोहब्बत थी ये पता नहीं था. चलें अब कुछ आपको भी हिसाब दिया जा 8 महीने 10 बार 14 दिन का हिसाब है मेरे पास. लेकिन ये बताएं सोनिया जी कितनी बार गईं. इस दौरान अपने क्षेत्र में?

क्या अब आप अमेठी में सिर्फ कंधा ही देने आएंगीं?

'लापता सांसद से सवाल' के पोस्टरों में लिखा है कि अमेठी से सांसद बनने के बाद साल में 2 दिन महज कुछ घंटों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाली सांसद आज कोरोना महामारी के दर्द से अमेठी की जनता त्रस्त है. हमने आपको टि्वटर के माध्यम से अंताक्षरी खेलते देखा है. सांसद होने के नाते अमेठी की जनता आपको ढूंढ़ रही है. यूं ही अमेठी की जनता को निराश्रित छोड़ देना यह दर्शाता है कि शायद अमेठी आपके लिए महज टूर हब है. क्या अब आप अमेठी में सिर्फ कंधा ही देने आएंगीं?



क्या ऐसा ही हिसाब सोनिया जी रायबरेली के लिए देना चाहेंगी?

वहीं स्मृति ईरानी ने कई ट्वीट कर जवाब दिए हैं. उन्होंने लिखा है, "अब तक 22,150 नागरिक बस से एवं 8322 ट्रेन से मात्र अमेठी जनपद में लौटें हैं. वो भी पूरी क़ानूनी प्रक्रिया के बाद. एक-एक परिवार, एक-एक व्यक्ति का नाम बता सकती हूं. क्या ऐसा ही हिसाब सोनिया जी रायबरेली के लिए देना चाहेंगी?



 

उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है, “ कलेक्टर, अमेठी, सुल्तानपुर, रायबरेली से सतत संपर्क एवं समन्वय के माध्यम से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ अमेठी के जन-जन तक पहुंचे ये प्रयास किया मैंने. बताएं सोनिया जी ने स्वयं कितनी बार प्रयास किया अपने क्षेत्र के लिए?”

मेडिकल कॉलेज का काम करवाया, अभिनंदन क्यों नहीं, खुश नहीं क्या आप?

उन्होंने आगे लिखा है कि लॉकडाउन में अमेठी में आपके नेताओं द्वारा जो वर्षों पुराना सपना दिखाया गया, गरीब जनता को उस मेडिकल कालेज का काम करवाया सीएम योगी आदित्यनाथ जी के आशीर्वाद से. बताएं आज तक अमेठी के मेडिकल कालेज का एक बार भी अभिनंदन क्यूं नहीं किया? खुश नहीं क्या आप अमेठी के लिए?

स्मृति ईरानी ने कहा कि ब्लॉक शाहगढ़, विधानसभा गौरीगंज में खम्भे पे काग़ज़ चिपकाया तो कम से कम अपना नाम तो लिख देते नीचे. इतना भी क्या शर्माना. कहीं ऐसा तो नहीं कि अमेठी को कंधा देने की शर्मनाक बात कहने वाले जानते हैं कि जनता उन्हें माफ़ नहीं करेगी?

ये भी पढ़ें:

ऐसा थाना जहां पोस्टिंग होते ही थानेदार से लेकर सिपाही तक हो जाते हैं 'धनकुबेर'

लखनऊ: यूपी पुलिस मुख्यालय तक पहुंचा कोरोना, ADG रेलवे का ऑफिस सील
First published: June 2, 2020, 10:27 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading