होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

यूपी: चोरी-चुपके घर में चल रहा था धर्म परिवर्तन का खेल! गांव वालों को भनक लगी तो फिर...

यूपी: चोरी-चुपके घर में चल रहा था धर्म परिवर्तन का खेल! गांव वालों को भनक लगी तो फिर...

यूपी के अमेठी में धर्म परिवर्तन के आरोप में गांव वालों ने ईसाई मिशनरियों के लोगों से की मारपीट (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी के अमेठी में धर्म परिवर्तन के आरोप में गांव वालों ने ईसाई मिशनरियों के लोगों से की मारपीट (सांकेतिक तस्वीर)

UP Religious Conversion: यूपी के अमेठी में धर्म परिवर्तन का सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां धर्म परिवर्तन कराने आये दबंग युवकों ने गांव के एक युवक के साथ जमकर मारपीट की. हालांकि, इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने धर्म परिवर्तन कराने आये लोगों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया. फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई में जुट गई है.

अधिक पढ़ें ...

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी में धर्म परिवर्तन का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. आरोप है कि अमेठी के कटारी गांव में धर्म परिवर्तन का बड़ा खेल चल रहा था, तभी गांववालों को इसकी भनक लग गई. इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई. इस घटना की सूचना के बाद अमेठी पुलिस गांव पहुंची, जहां पता चला कि इलाके में ईसाई मिशनरी से जुड़े लोग धर्म परिवर्तन करा रहे थे. हालांकि, ईसाई मिशनरी से जुड़े लोगों ने धर्म परिवर्तन के आरोप से इनकार किया है. फिलहाल, इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

दरअसल, अमेठी जिले के जामो थाना क्षेत्र अंतर्गत कटारी गांव में गुरुवार को पुलिस को सूचना मिली कि एक घर में धर्म परिवर्तन कराने का खेल चल रहा है, तभी कुछ ग्रामीण वहां पर पहुंचे और पूछताछ करने लगे. ऐसे में धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों को ग्रामीणों का टोकना नागवार गुजरा और उन लोगों ने पूछताछ और विरोध करने वालों में से एक सिंपल सिंह नामक युवक पर हमला कर दिया, जिससे सिंपल सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए. हालांकि, यह देख तमाम गांव वाले इकट्ठा हो गए और सभी ने मिलकर धर्म परिवर्तन कराने आए लोगों के साथ मारपीट शुरू कर दी.

पुलिस के हाथ लगे अहम सबूत
इस हमले में बताया जा रहा है कि 3 महिला सहित कुल 5 लोग घायल हुए हैं. मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा और घटनास्थल से पुलिस को इस मामले में कई अहम सबूत हाथ लगे हैं. बताया जा रहा है कि मौके से ईसा मसीह के पवित्र ग्रंथ बाइबल और तमाम अन्य धार्मिक पुस्तकों सहित कई सामान पुलिस को प्राप्त हुए हैं. ग्रामीण बताते हैं कि ईसानी मिशनरियों से जुड़े ये लोग बीच-बीच में यहां आते हैं और भोले-भाले लोगों को अपना शिकार बनाते हैं.

सुल्तानपुर के रहने वाले हैं ये सभी आरोपी
पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि घायल पांच लोग पड़ोसी जनपद सुल्तानपुर के रहने वाले हैं और कोरी समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. हालांकि पकड़े गए लोगों के परिजनों को जैसे ही सूचना मिली, वे भी वहां पहुंच गए और उन लोगों ने कहा कि वे लोग धर्म परिवर्तन नहीं कराते, बल्कि ईसा मसीह की पूजा पाठ गांव-गांव जाकर करते हैं. मिशनरी से जुड़े इन लोगों ने बताया कि वे लोग भूत-प्रेत और बाधाओं को भी दूर करते हैं.

धर्म परिवर्तन के आरोप से इनकार
धर्म परिवर्तन कराने के आरोपियों का कहना है कि हमारे पास ईसाई समुदाय का पूजा पाठ कराने का लाइसेंस है. जिसके घर में पूजा पाठ चल रहा था, इस घर की मालकिन निर्मला ने बताया कि यहां धर्म परिवर्तन जैसी कोई भी चीज नहीं हो रही थी, फिर भी ग्रामीणों ने हमारे बहुत घर में घुसकर मारपीट की. घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस क्षेत्राधिकारी गौरीगंज जगदीश कुमार ने ग्रामीणों से पूछताछ की. पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

Tags: Amethi news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर