केंद्रीय मंत्री के प्रयासों से जल्द डिजिटल होने जा रहा है अमेठी का यह गांव

2014 लोकसभा चुनाव में अमेठी लोकसभा से चुनाव लड़ने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को ना सिर्फ कड़ी टक्कर दी थी, बल्कि राहुल गांधी के जीत के अन्तर को काफी कम किया था, जहां चुनाव प्रचार के लिए खुद पीएम नरेंद्र मोदी भी पहुंचे थे

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 29, 2018, 10:45 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 29, 2018, 10:45 PM IST
अमेठी जिले का पिंडारा ठाकुर गांव जल्द ही डिजिटल गांव के रूप में शुमार होने जा रहा है. गत 1 सितंबर को अमेठी के एक दिवसीय दौर पर आ रही केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जिले के पहले डिजिटल गांव का शुभारंभ करेंगी. पिंडारा ठाकुर गांव के डिजिटल गांव के रूप बदलाव के लिए गांव के वाशिंदों ने शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ही अमेठी से विजयी होंगी.

यह भी पढ़ें-एक सितंबर को अमेठी दौरे पर आएंगी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

गौरतलब है कि वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी कांग्रेस के मौजूदा अध्यक्ष राहुल गांधी से पराजित हो गईं थी, लेकिन पराजय के बाद भी स्मृति ईरानी लगातार अमेठी में सक्रिय रहीं और आज भी लगातार अमेठी के लोगों से सम्पर्क में रहती हैं. माना जा रहा है कि अमेठी वासियों के लगातार संपर्क में रहने वाली स्मृति ईरानी का उनके साथ एक मजबूत रिश्ता कायम हो गया है, जो आगामी चुनाव में कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती हो साबित हो सकती है.

यह भी पढ़ें-स्मृति ईरानी की सक्रियता से अमेठी दौरे पर बदले-बदले से नजर आए राहुल गांधी!

पिंडारा ठाकुर गांव के एक डिजिटल गांव के रूप में विकसित होने को लेकर ग्रामीणों में भी खासा उत्साह देखा जा रहा है. पिंडारा ठाकुर गांव के सीएससी सेन्टर प्रभारी ने बताया कि स्मृति ईरानी के प्रयास से पिंडारा ठाकुर गांव एक डिजी गांव बनने की अग्रसर हुआ है, जहां सरकारी तंत्र से जुड़ी सभी डिजिटल सुविधाएं लोगों के लिए उपलब्ध होंगी, जिससे ग्रामीणों को बड़ा फायदा मिलेगा.

उल्लेखनीय है, गत अप्रैल महीने में अमेठी के दौरे पर आईं स्मृति ईरानी ने कहा था कि वो अमेठी के हर कार्यकर्ता, विधायक और निकाय के व्यक्ति का स्वागत करती हैं, जिन्होंने पिछले चार साल में अमेठी के विकास कार्य में योगदान किया है. उन्होंने अमेठी के मौजूदा सांसद राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा था कि वो अमेठी आएं और पिछले 4 सालों में यहां हुए विकास का कार्यों को जरूर देखें.

यह भी पढ़ें-इस बाईपास के इर्द-गिर्द घूमती है अमेठी की सियासत, राहुल गांधी भी गड्ढों से होकर गुजरे
Loading...
वहीं, बीजेपी के एक युवा नेता ने बताया कि केंद्रीय मंत्री के प्रयासों से पिछले चार सालों में अमेठी विकास के पथ पर दौड़ पड़ा है. यही कारण है कि पिंडारा ठाकुर गांव को कॉमन सर्विस सेन्टर के रूप में चुना गया है, जिसका शुभारंभ स्मृति ईरानी द्वारा आगामी 1 सितंबर को करेंगी. उन्होंने कहा कि डिजी गांव के रूप में पिंडारा ठाकुर गांव के विकसित होने से गांव का तेजी से विकास होगा, जहां एक मंच पर रोजगार के साधन भी उपलब्ध होंगे.

यह भी पढ़ें-स्मृति ईरानी अमेठी को देंगी तीर्थयात्रा की सौगात, 8 अप्रैल हरिद्वार रवाना होगी बस

मालूम हो, 2014 लोकसभा चुनाव में अमेठी लोकसभा से चुनाव लड़ने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को ना सिर्फ कड़ी टक्कर दी थी, बल्कि राहुल गांधी के जीत के अन्तर को काफी कम किया था, जहां चुनाव प्रचार के लिए खुद पीएम नरेंद्र मोदी भी पहुंचे थे. यही कारण है कि पराजय के बाद भी स्मृति ईरानी लगातार अमेठी में सक्रिय हैं और माना जा रहा है 2019 लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को और कड़ी टक्कर दे सकती हैं.

(रिपोर्ट-पप्पू पाण्डेय, अमेठी)

8वीं पास भी ले सकता है पोस्‍ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी, हर महीने होगी मोटी कमाई

बैंक अकाउंट से कटे लेकिन ATM से नहीं निकले पैसे, तो ऐसे पाएं वापस
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर