लाइव टीवी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी में शुरू की अनोखी पहल, 5000 बच्चों को मिलेगा फायदा

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 12, 2019, 1:07 PM IST
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी में शुरू की अनोखी पहल, 5000 बच्चों को मिलेगा फायदा
दिल्ली में संसद के सेंट्रल हॉल में एक बच्ची अधिश्री माने के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

अमेठी (Amethi) के मुख्य चिकित्साधिकारी राजेश मोहन श्रीवास्तव कहते हैं कि जिले में स्वस्थ बच्चे-स्वस्थ अमेठी नाम से एक कार्यक्रम की शुरुआत की जा रही है. जिसमें एक साल से 5 साल तक के बच्चों का नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच और टीकाकरण कार कार्यक्रम किया जाएगा.

  • Share this:
अमेठी. केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी (Amethi) के नौनिहालों के लिए एक अनोखी पहल की शुरुआत की है. इस पहल का नाम दिया गया है, 'स्वस्थ्य बच्चे-स्वस्‍थ्य अमेठी'. इस योजना के तहत इसी महीने 16 दिसबंर को अमेठी के करीब 5000 बच्चों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण, टीकाकरण के साथ ही उनके परिजनों को पूरक आहार और पोषण के बारे में बताया जाएगा. अमेठी के 29 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के साथ दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कैंप का आयोजन किया जा रहा है. ये कार्यक्रम 16 दिसबंर 2019 को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित होगा.

16 दिसंबर को आयोजित होगा कार्यक्रम 
केन्द्रीय मंत्री और अमेठी सांसद स्मृति ईरानी के प्रयास से अमेठी में 16 दिसबंर को 31 स्वास्थ्य केन्द्रों पर एक से पांच साल तक के बच्चों के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जाएगा. 31 स्वास्थ्य केन्द्रों पर बच्चों की सेहत जांची जाएगी. इस शिविर में टीकाकरण, पूरक आहार, पोषण के बताए जाएंगे फायदे. यही नहीं इसके तहत हर महीने जिले के प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर अलग-अलग थीम पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर हर वर्ग के बच्चों के स्वास्थ्य की बेहतर देखभाल किए जाने की योजना है.
शिविर में बच्चों के टीकाकरण, आयरन सीरप व डिवार्मिंग की खुराक के साथ ही पोषण पर काउंसिलिंग की पूरी व्यवस्था की जा रही है. इस शिविर के जरिए अमेठी के 5000 परिवारों तक पहुंचने का स्वास्थ्य विभाग का लक्ष्य है.

5 साल तक के बच्चों को मिलेगा लाभ
अमेठी के मुख्य चिकित्साधिकारी राजेश मोहन श्रीवास्तव कहते हैं कि अमेठी सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के निर्देशन के साथ अमेठी जिलाधिकारी के निर्देश से अमेठी जिले में स्वस्थ बच्चे-स्वस्थ अमेठी नाम से एक कार्यक्रम की शुरुआत की जा रही है. जिसमें एक साल से 5 साल तक के बच्चों का नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच और टीकाकरण कार कार्यक्रम किया जाएगा. जिससे कुपोषण में कमी आए औऱ शिशु मृत्युदर भी कम हो यही हमारे कार्यक्रम का उद्देश्य होगा.

सभी बच्चों का नि:शुल्क उपचार कर उन्हे स्वस्थ्य बनाने के लिए दवाएं भी दी जाएंगी. कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जिले के सभी ग्राम प्रधान और प्राथमिक स्कूलों को टीचरों समेत कई अन्य लोगों का सहयोग लिया जाएगा. उसके साथ ही इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए केन्दीय मंत्री स्मृति ईरानी के सहयोग से बोस्टन कन्सलटिंग ग्रुप का भी सहयोग मिल रहा है.पहले भी चलाया था कार्यक्रम
बता दें इससे पहले 22 अक्टूबर को गर्भवती माताओं और किशोरियों की रक्त जांच करायी गई थी और जिनको एनिमिया था, उनको आयरन फ्लोरिक के टैबलेट दिए गए थे. मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि हमारा जो लक्ष्य था, उसमें हम लोग सफल हुए फिर उत्तरप्रदेश में अमेठी दूसरे स्थान पर रहा. इसी तरह 26 नवंबर को स्वस्‍थ्य मां स्वस्‍थ्य बच्चे कार्यक्रम के तहत सभी गर्भवती माताओं की रक्त जांच और एचआईवी का टेस्ट कराया गया. सभी बच्चों का स्वास्थ्य जांच और टीकाकरण कार्यक्रम कराया गया. जिन लोगों में खून की कमी थी, उनका इलाज कर उन्हे आइरन की गोलियां आदि दी गईं. इस कार्यक्रम में हमारा लक्ष्य 5 हजार बच्चों का है. इन बच्चों का इलाज कर उन्हे कुपोषण से दूर कराया है, जिससे स्वस्थ-बच्चे-स्वस्थ अमेठी का सपना साकार हो सके.

शिशु मृत्यु दर कम करने के लिए जरूरी है पोषण का सही तरीका
अमेठी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश मोहन श्रीवास्तव का कहना है कि अब तक जिले में इस तरह के दो शिविर अक्टूबर और नवम्बर माह में आयोजित किए जा चुके हैं. शिविर को स्थानीय लोगों का भरपूर सहयोग मिला. उन्होंने कहा कि शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए सबसे अधिक जरूरी है कि बच्चों के टीकाकरण के साथ ही पोषण पर सही तरीके से ध्यान दिया जाये. इसलिए समय से बच्चों को सभी जरूरी टीके अवश्य लगवाएं क्योंकि ये टीके बच्चे को कई तरह की बीमारियों से रक्षा करते हैं. बच्चे को जन्म के पहले घंटे में मां का गाढ़ा पीला दूध अवश्य पिलाएं क्योंकि वह बच्चे के पहले टीके के रूप में होता है. इसके अलावा बच्चे को छ्ह माह तक केवल स्तनपान कराएं क्योंकि उससे बच्चे को उचित खुराक मिल जाती है.

ये भी पढ़ें: बागपत: रेप पीड़िता के घर धमकी भरे पोस्टर चिपकाने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

नोएडा के इस रेस्टोरेंट में बिना लाइसेन्स परोसी जा रही थी विदेशी शराब, पड़ी रेड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेठी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर